Sunil Jakhar Leave Congress: राजस्थान में चिंतन शिविर के बीच पंजाब में कांग्रेस को महाझटका, सुनील जाखड़ ने कांग्रेस से तोड़ा नाता

विधानसभा चुनाव 2022 के पहले से कांग्रेस पार्टी के नेताओं में चली आ रही खींचतान चुनावों में सत्ता गंवाने के बाद भी कम नहीं हो पा रही है। अब पंजाब कांग्रेस के दिग्गज कांग्रेसी नेता और पंजाब के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है।

राजस्थान में चिंतन शिविर के बीच पंजाब में कांग्रेस को महाझटका, सुनील जाखड़ ने कांग्रेस से तोड़ा नाता

चंडीगढ़ | पंजाब कांग्रेस के दिन अभी तक सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं। विधानसभा चुनाव 2022 के पहले से कांग्रेस पार्टी के नेताओं में चली आ रही खींचतान चुनावों में सत्ता गंवाने के बाद भी कम नहीं हो पा रही है। अब पंजाब कांग्रेस के दिग्गज कांग्रेसी नेता और पंजाब के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है।

फेसबुक पेज से लाइव आकर सबको चौंकाया
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुनील जाखड़ ने अपने आधिकारिक फेसबुक पेज से लाइव आकर कांग्रेस छोड़ने का ऐलान करते हुए सभी को चौंका दिया। जाखड़ ने पार्टी पर कई गंभीर आरोप लगाए और खुद को पार्टी से अलग कर लिया। जाखड़ का आरोप है कि, कांग्रेस में जातिगत समीकरण के आधार पर राजनीति की जा रही है। उन्होंने कहा कि, उनके परिवार की 3 पीढ़ियों ने 50 साल तक कांग्रेस की सेवा की। इसके बावजूद पार्टी के सभी पदों को छीन लिए जाने से उनका दिल टूट गया। बता दें कि कांग्रेस ने हाल ही में सुनील जाखड़ के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की थी और उन्हें पार्टी के सभी पदों से हटा दिया था। 

ये भी पढ़ें:- दिल्ली मुंडका अग्नकिांड: : सीएम केजरीवाल ने किया घटना स्थल का दौरा, मृतकों के परिवार को 10-10 लाख रुपये का ऐलान

तो क्या इसलिए छोड़ दी कांग्रेस पार्टी?
गौरतलब है कि, सुनील जाखड़ ने चुनाव विधानसभा चुनाव के दौरान पार्टी के सीएम उम्मीदवार चरणजीत सिंह चन्नी को लेकर एक टिप्पणी कर दी थी जिसके बादले में पार्टी ने उन्हें नोटिस भेजकर जवाब मांगा था, लेकिन जाखड़ ने इस नोटिस का जवाब नहीं दिया था। उन्होंने तभी स्पष्ट कर दिया था कि वह कांग्रेस हाईकमान के आगे नहीं झुकेंगे। सूत्रों की माने तो जाखड़ कांग्रेस नेता अंबिका सोनी से भी खासे नाराज हैं। जाखड़ का मानना था कि, अंबिका सोनी ही जाखड़ को पंजाब सीएम कुर्सी की राह में रोड़ा बनी थी। कैप्टन अमरिंदर सिंह को सीएम पद से हटाने के बाद सुनील जाखड़ को सीएम बनाने की तैयारी थी, लेकिन अंबिका सोनी ने ही ‘सिख स्टेट सिख सीएम’ की बात कहकर जाखड़ की उम्मीदों पर पानी फेर दिया था। 

ये भी पढ़ें:- दिल दहलाने वाली वारदात! : MP : पहले 5 काले हिरणों का शिकार फिर 3 पुलिसकर्मियों की हत्या

Must Read: राजस्थान विधानसभा का षष्ठम सत्र में 8 माह में हुई 26 बैठक, 186 घंटे 46 मिनट की विधानसभा कार्रवाई में 8763 प्रश्न

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :