थाने में दुष्कर्म, आरोपी एसआई गिरफ्तार: अलवर के खेडली पुलिस थाने में परिवादी महिला से एसआई ने किया दुष्कर्म, विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष ने उठाया मामला

खेड़ली पुलिस थाने में पति के खिलाफ प्रताड़ना का मामला दर्ज कराने आई 26 साल की महिला से 54 साल के पुलिस उप निरीक्षक ने थाने के भीतर ही दुष्कर्म कर डाला। पीड़िता शिकायत देने पहुंची तो थाना पुलिस दिनभर मामले को छिपाती रही, लेकिन खबर उच्चाधिकारियों तक पहुंची तो मामला खुला और आनन—फानन में कार्रवाई की गई।

अलवर के खेडली पुलिस थाने  में परिवादी महिला से एसआई ने किया दुष्कर्म, विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष ने उठाया मामला

जयपुर।
प्रदेश के अलवर जिले में स्थित खेड़ली थाना पुलिस द्वारा शर्मसार करने का मामला सामने आया है। खेड़ली पुलिस थाने में पति के खिलाफ प्रताड़ना का मामला दर्ज कराने आई 26 साल की महिला से 54 साल के पुलिस उप निरीक्षक ने थाने के भीतर ही दुष्कर्म कर डाला। पीड़िता शिकायत देने पहुंची तो थाना पुलिस दिनभर मामले को छिपाती रही, लेकिन खबर उच्चाधिकारियों तक पहुंची तो मामला खुला और आनन—फानन में कार्रवाई की गई। वहीं दूसरी ओर मामले में आरोपी एसआई
के खिलाफ सख्त कार्रवाई की गई, थानाधिकारी और एक पुलिसकर्मी को निलंबित कर दिया गया तो सीओ लक्ष्मणगढ को एपीओ कर दिया गया। इधर, विधानसभा में सत्र के दौरान उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड ने दुष्कर्म मामले में आरोपी को सख्त से सख्त सजा और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की।


जानकारी के मुताबिक आईजी ने थाने में घटना की पुष्टि की। इसके बाद देर रात आरोपी एसआई भरत सिंह जादौन को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी एसआई ने महिला काे परिवाद में राहत दिलाने तथा पति के साथ काउंसिलिंग कराने का झांसा देकर थाना परिसर में बने अपने कमरे में तीन दिन दुष्कर्म किया। आईजी ने बताया कि पीड़िता का मेडिकल करा लिया गया है। देर रात तक आईजी और एसपी खेड़ली थाने में ही मौजूद रहे। अलवर एसपी तेजस्वनी गौतम ने बताया कि खेड़ली थाने के एसआई भरत सिंह के खिलाफ धारा 376 के तहत मामला दुष्कर्म का मामला दर्ज कर आराेपी काे गिरफ्तार कर लिया है। मामले की जांच राजगढ़ पुलिस उपाधीक्षक अंजली जाेरवाल काे साैंपी गई है। 

2, 3 और 4 मार्च को किया दुष्कर्म
जानकारी के मुताबिक  2 मार्च काे शाम करीब 5.30 बजे खेड़ली थाने में पति के खिलाफ मामला दर्ज कराने के लिए महिला गई थी। वहां एसआई भरत सिंह बैठा मिला। महिला ने उसे पति के खिलाफ परिवाद देकर बताया उसका पति उसे तलाक की धमकी देता है। लेकिन, वह ऐसा नहीं करना चाहती है। एसआई भरतसिंह ने उसे झांसा दिया कि वह उसके और पति के बीच काउंसिलिंग कराने के साथ परिवाद में राहत प्रदान कर देगा। एसआई उसे अपने क्वाटर में ले गया और काम के बदले अस्मत लूट ली। पीडिता का कहना है कि आरोपी एसआई ने 2 मार्च, 3 मार्च और फिर 4 मार्च को उससे दुष्कर्म किया। पीडि़ता रविवार शाम कार्रवाई की जानकारी लेने थाने पहुंची तो एसआई ने फिर छेड़छाड़ व दुष्कर्म का प्रयास किया। इस पर पीडि़ता ने इसकी शिकायत थानाधिकारी हनुमान सहाय को दी।