India @ इंडियन स्पेस एसोसिएशन: 130 करोड़ देशवासियों की प्रगति का एक बड़ा माध्यम है स्पेस सेक्टर: मोदी, पीएम ने इंडियन स्पेस एसोसिएशन का किया उद्घाटन

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज इंडियन स्पेस एसोसिएशन (ISA) का वर्चुअली उद्घाटन किया। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि एअर इंडिया पर लिया गया फैसला हमारी प्रतिबद्धता और गंभीरता को दर्शाता है। देश में इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट में सैटेलाइट से ट्रैकिंग हो या नाविक टेक्नोलॉजी....

130 करोड़ देशवासियों की प्रगति का एक बड़ा माध्यम है स्पेस सेक्टर: मोदी, पीएम ने इंडियन स्पेस एसोसिएशन का किया उद्घाटन

नई दिल्ली, एजेंसी। 
भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Narendra Modi) ने आज इंडियन स्पेस एसोसिएशन (Indian Space Association) का वर्चुअली उद्घाटन किया। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि एअर इंडिया पर लिया गया फैसला हमारी प्रतिबद्धता और गंभीरता को दर्शाता है। देश में इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट में सैटेलाइट से ट्रैकिंग हो या नाविक टेक्नोलॉजी, गरीबों के घरों का कार्य हो या सड़कों का सभी गवर्नेंस को पारदर्शी बनाने में मदद कर रही है। पीएम ने कहा कि आज भारत विश्व की टॉप डिजिटल इकोनॉमी में आगे है तो इसका मुख्य कारण हमारे देश में गरीब व्यक्ति के बीच भी डेटा सुलभ बनाना है। पीएम मोदी ने कहा कि हमें भारत को इनोवेशन का नया सेंटर बनाना है। टेक्नोलॉजी मामले में भारत उन गिने चुने देशों में शामिल है, जिनके पास एन्ड टु एन्ड टेक्नोलॉजी है। भारत ने एफिशिएंसी को ब्रांड का अहम हिस्सा बनाया है।

स्पेस एक्सप्लोरेशन की प्रोसेस हो या स्पेस की टेक्नोलॉजी हो भारत निरंतर एक्सप्लोर करेगा। हमारे देश में एक पार्टनर के तौर पर इंडस्ट्रीज को युवा इन्वेंटर सपोर्ट कर रही है और करती रहेगी। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 20वीं सदी में स्पेस और स्पेस पर राज करने की प्रवृत्ति ने दुनिया के देशों को किस तरह विभाजित किया यह सबने देखा हैं। अब हम 21वीं सदी में स्पेस दुनिया को जोड़ने में अहम भूमिका निभाएंगे। भारतीय स्पेस सेक्टर 130 करोड़ देशवासियों की प्रगति का एक सबसे बड़ा माध्यम है। भारतीय स्पेस सेक्टर हमारे लिए बेहतर मैपिंग, इमेजिंग और कनेक्टिविटी की सुविधा के साथ ही  इंटरप्रिन्योर के लिए शिपमेंट से लेकर डिलीवरी तक बेहतर स्पीड है।


जेपी और नानाजी को किया याद
कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने जय प्रकाश नारायण (Jai Prakash Narayan) और नानाजी देशमुख(Nana ji Deshmukh) को भी याद किया। पीएम मोदी ने कहा कि आज देश के दो महान सपूतों की जन्म जयंती है। भारत रत्न जय प्रकाश नारायण और भारत रत्न नानाजी देशमुख ने आजादी के बाद के भारत को दिशा देने में बहुत बड़ी भूमिका निभाई थी। सबको साथ लेकर, सबके प्रयास से, राष्ट्र में कैसे बड़े-बड़े परिवर्तन लाया जा सकता है, यह इनकी प्रेरणा से मालूम किया जा सकता हैं ISpA के संस्थापक सदस्यों में लार्सन एंड टुब्रो, नेल्को (टाटा ग्रुप), वनवेब, भारती एयरटेल, मैपमायइंडिया, वालचंदनागर इंडस्ट्री, अनंत टेक्नॉलजी लिमिटेड भी कार्यक्रम में शामिल हुए। इसके अन्य सदस्यों में गोदरेज, अजिस्टा-बीएसटी एरोस्पेस प्राइवेट लिमिटेड, BEL, सेंटम इलेक्ट्रानिक्स एंड मैक्सर इंडिया शामिल हैं। गौरतलब है कि भारत ने पिछले कुछ सालों में अंतरिक्ष अनुसंधान के क्षेत्र में काफी प्रगति की है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने इस दौरान मिशन लॉन्च कर सफलता हासिल की है। कोरोना की वजह से इनमें से कुछ अंतरिक्ष मिशनों के कार्यक्रम में भले ही देरी आई है लेकिन भारत के पहले सौर मिशन के 2022 की तीसरी तिमाही में लॉन्च होने की संभावना है। इसके साथ ही भारत की दूसरी अंतरिक्ष वेधशाला एक्सपोसैट भी लॉन्च हो सकती है। जबकि गगनयान मिशन भी 2022 के अंत तक या 2023 की शुरुआत में शुरू हो सकता है। 

Must Read: उत्तर प्रदेश के राजभवन में PM मोदी की CM योगी को सीख और समझाइश, योगी ने ट्वीट कर लिखी चार पंक्तियां "हम निकल पड़े हैं प्रण करने..."

पढें दिल्ली खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :