Sirohi कृष्णगंज अस्पताल का मेल नर्स: Sirohi के कृष्णगंज सामुदायिक अस्पताल का मेल नर्स ओमप्रकाश गर्ग घर पर अवैध क्लिनिक चलाने के मामले में APO

Firstbharat.in की खबर का असर, मेल नर्स ओमप्रकाश गर्ग घर पर अवैध क्लिनिक चलाने के मामले में APO

Sirohi के कृष्णगंज सामुदायिक अस्पताल का मेल नर्स ओमप्रकाश गर्ग घर पर अवैध क्लिनिक चलाने के मामले में APO

सिरोही। 
जिले के कृष्णगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के मेल नर्स पर अपने निजी आवास से अवैध क्लिनिक चलाने और भारी मात्रा में दवाईयां घर पर रखने जैसे गंभीर आरोप लगने के कारण  उसे एपीओ कर दिया गया है। वहीं केंद्र के चिकित्सा प्रभारी की शिकायत पर मेल नर्स ओमप्रकाश के खिलाफ मामले की जांच के लिए सीएमएचओ की ओर से जांच कमेटी गठित की गई है। जांच कमेटी तीन कार्य दिवस में इस मामले की निष्पक्ष जांच कर रिपोर्ट पेश करेंगी। गौरतलब है कि शुक्रवार को https://firstbharat.in/  की ओर से सिरोही के कृष्णगंज सरकारी अस्पताल का मेल नर्स घर से चला रहा था अवैध क्लिनिक, चिकित्सा प्रभारी ने नर्स के घर से जब्त की सरकारी दवाइयां शीर्षक से समाचार चलाया गया था। इस खबर में मेल नर्स के अवैध क्लिनिक, सरकारी दवाइयां और मेल नर्स के आवास पर मरीजों की कतार से संबंध में फोटो व वीडियो सहित न्यूज चलाई गई थी। इस पर कार्रवाई करते हुए सीएमएचओ सिरोही ने मेल नर्स को एपीओ करने के आदेश जारी किए। 

 firstbharat.in की खबर का असर
यह है मामला
सिरोही के कृष्णगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर कार्यरत मेल नर्स ओम प्रकाश गर्ग (एमएन—2) अपने​ निजी आवास पर अवैध तौर पर क्लिनिक चलाता मिला है। कृष्णगंज स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा प्रभारी डॉ केएस देवड़ा ने गुरुवार को मेल नर्स ओमप्रकाश गर्ग के घर पर औचक निरीक्षण किया तो उसकी कारस्तानी उजागर हुई थी। डॉ केएस देवड़ा के मुताबिक मेल नर्स ओमप्रकाश गर्ग के घर औचक निरीक्षण में अवैध क्लिनिक पाया गया। इस क्लिनिक पर मरीजों की भीड़ नजर आई। घर पर ही वह मरीजों को अवैध तरीके से ड्रिप चढ़ाता हुआ पाया गया। वहीं कोविड—19 की गाइड लाइन की भी पालना नहीं की गई थी। सिरोडी निवासी पर मेल नर्स ओमप्रकाश गर्ग के घर पर सरकारी दवाईयों के साथ बिना बिल की भारी तादाद में दवाइयां पाई गई।


चिकित्सा प्रभारी ने जारी किया था कारण बताओ नोटिस व स्मरण पत्र
​कृष्णगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर कार्यरत मेल नर्स ओम प्रकाश गर्ग पिछले कई दिनों से अनुपस्थित चल रहा था। बिना सूचना सरकारी अस्पताल से अनुपस्थित रहने पर चिकित्सा प्रभारी डॉ केएस देवड़ा की ओर से कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। आरोपी ओमप्रकाश गर्ग की ओर से चिकित्सा प्रभारी के कारण बताओ नोटिस का भी जवाब नहीं दिया गया।

इसके तीन दिन बाद चिकित्सा प्रभारी की ओर से स्मरण पत्र जारी किया गया था। इसका भी जवाब नहीं दिया गया। इसके बाद चिकित्सा प्रभारी डॉ देवड़ा ने गुरुवार को सिरोडी निवासी मेल नर्स ओम प्रकाश गर्ग के घर पर औचक निरीक्षण किया। चिकित्सा प्रभारी के निरीक्षण में यह चौकाने वाला खुलासा हुआ।

2 दिन से चिकित्सा प्रभारी पुलिस थाने के लगा रहे है चक्कर
इस मामले में कृष्णगंज चिकित्सा प्रभारी डॉ कान सिंह देवड़ा ने 28 जनवरी को अनादरा पुलिस थाने में लिखित में मुकदमा दर्ज करने के लिए शिकायत दी थी। लेकिन इसके 24 घंटे बाद भी मामला दर्ज नहीं हो पाया। एक ओर अनादरा पुलिस थानाधिकारी गीता सिंह का कहना है कि हमें रिपोर्ट नहीं दी गई,

जबकि चिकित्सा प्रभारी 28 जनवरी और 29 जनवरी दो दिन तक लगातार पुलिस थाने के चक्कर लगा रहे है। इतना ही नहीं, चिकित्सा प्रभारी के साथ अनादरा पुलिस थाने की पुलिस 29 जनवरी को मौके पर भी गई थी। लेकिन सवाल तो यह है कि इस मामले में रिपोर्ट क्यों दर्ज नहीं की जा रही!

Must Read: सरकारी स्कूल के हेड मास्टर ने 11 साल की मासूम को बनाया हवस का शिकार, डरी—सहमी बच्ची ने चाइल्ड लाइन से मांगी मदद, दरिंदा गिरफ्तार

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :