सिरोही विधायक का पलटवार: विकास की राह में रोड़ा बन रहे आहोर विधायक, जालोर क्षेत्र का नहीं होगा नुकसान

- सिरोही विधायक संयम लोढ़ा ने आहोर विधायक पर लगाया किसानों  को बरगलाने का आरोप, कहा जोयला पिकअप वियर से जालोर को कोई नहीं होगा नुकसान - नदी के पीक फ्लड डिस्चार्ज 87274.56 क्यूसेक में से फीडर में डायवर्ट किया जाएगा महज 100 क्यूसेक पानी

विकास की राह में रोड़ा बन रहे आहोर विधायक, जालोर क्षेत्र का नहीं होगा नुकसान
file photo

शिवगंज | सिरोही जिले के जोयला के समीप सुकड़ी नदी पर प्रस्तावित जोयला पिकअप को लेकर आहोर विधायक छगनसिंह राजपुरोहित की ओर से लगाए जा रहे आरोपों पर पलटवार करते हुए सिरोही विधायक संयम लोढ़ा ने आरोप लगाया कि भाजपा दो मुंहे सांप की तरह है जो एक तरफ महंगाई की मार से जनता की कमर तोड़ रही है तो दूसरी तरफ विकास की राह में रोड़ा डालने का काम किया जा रहा है। विधायक लोढ़ा ने कहा कि जोयला पिकअप वियर से जालोर के किसानों को किसी तरह का नुकसान नहीं होगा। केवल ओर केवल विकास को रोकने के लिए तथा अपनी राजनीति चमकाने के लिए आहोर विधायक की ओर से यह मुहिम चलाई जा रही है।

विधायक लोढ़ा ने यहां पत्रकारों से बातचीत करते हुए बताया कि सुकड़ी नदी में पानी के प्रवाह के कारण विगत वर्षो में नदी में अत्यधिक वर्षा के समय में पूर्व में निर्मित फीडर एवं बाढ़ बचाव संरचना के पास नदी के पानी के साथ रेत जमा होने जोयला ग्राम की ओर नदी का प्रवाह बहुत कम हो गया है, जिससे जोयला एवं आसपास के ग्रामों के भूजल एवं कुंओं के जलस्तर में काफी गिरावट हुई है। विधायक लोढ़ा ने बताया कि प्रस्तावित पिकअप वियर में सुकड़ी नदी में जोयला ग्राम के पास 345 मीटर लंबाई का पिकअप वियर का निर्माण किया जाना है। जिसकी नदी तल से ऊंचाई मात्र 2 फीट होगी। इसके अलावा वियर के एलएस तथा आरएस साइड में नदी के दोनों किनारों पर विंग वॉल तथा एर्थन एम्बेंकमेंट जिसकी लंबाई 1950 मीटर है। विधायक ने बताया कि निर्माण स्थल पीक फ्लड लिफ्ट 2.65 मीटर तथा परिमार्जन गहराई 7.60 मीटर है। उसी के अनुरूप वियर की डिजाइन तय की गई है और इसी डिजाइन के अनुरूप कार्य करवाया जा रहा है।

केवल 100 क्यूसेक पानी का होगा डायवर्जन

विधायक ने पत्रकारों को बताया कि प्रस्तावित कार्य स्थल पर नदी का पीक फ्लड डिस्चार्ज 87274.56 क्यूसेक में से फीडर में केवल 100 क्यूसेक पानी का डायवर्जन किया जाएगा जो पीक फ्लड डिस्चार्ज का केवल 0.11 प्रतिशत ही है। विधायक ने बताया कि जो पानी डायवर्ट किया जा रहा है वह पानी 11-12 किलोमीटर के पश्चात पुन: बडा लखमावा के पास सुकडी नदी में मिल जाएगा। विधायक ने बताया कि फीडर में पानी के अपवर्तन से इसके किनारे पडऩे वाले गांव पुराना जोयला, नया जोयला, जोगापुरा, पोयना, बामनेरा, कोरटा, बुडेरी आदि गांवों के भूजल एवं कुंओं के जलस्तर में बढोतरी होगी। जिससे पेयजल की समस्या का समाधान होगा तथा पानी फिर से सुकड़ी नदी में मिल जाएगा। विधायक ने स्पष्ट किया है कि जोयला पिकअप वियर से नदी के प्राकृतिक बहाव में किसी प्रकार का व्यवधान नहीं होगा। क्योंकि प्रस्तावित वियर की नदी के एनएसएल से ऊंचाई मात्र 2 फीट रहेगी। वियर के मध्य में 20 मीटर लंबाई में स्लॉट दिया जाएगा जिससे नदी में पानी 20 मीटर लंबाई में निरंतर बहता रहेगा।

अपनी राजनीति चमकाने के लिए हंगामा

विधायक ने पत्रकारों को बताया कि प्रस्तावित जोयला पिकअप वियर को लेकर जालोर जिले की आहोर तहसील में पंचायत समिति में आयोजित बैठक में जिला कलेक्टर की मौजूदगी में आहोर विधायक सहित आहोर एवं जालोर के सरपंचों व जनप्रतिनिधियों से इसके बारे में विस्तृत चर्चा की थी। जिसमें विभाग की ओर से बताया गया था कि एनीकट की ऊंचाई मात्र 0.61 मीटर है, जिसमें 20 मीटर की लंबाई में एक स्लॉट है जो कि नदी के सबसे निचले तल पर बना है। ऐसे में इस एनीकट में किसी तरह से पानी का स्टोरेज नहीं होगा तथा इसकी भराव क्षमता शुन्य है। इसके बावजूद अब आहोर विधायक महज अपनी राजनीति चमकाने के लिए इस तरह के बेबुनियाद आरोप लगाकर किसानों को बरगलाने की कोशिश कर रहे है। जो किसी भी स्तर पर सही नहीं है।

Must Read: पिंडवाडा के अम्बेश्वर फली की आबादी में आया भालू, वन विभाग की टीम ने किया सुरक्षित रेस्क्यू

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :