गूगल पर भाषा विवाद: सर्च इंजन गूगल ने कन्नड़ को बताया भारत की सबसे भद्दी भाषा,  विरोध के बाद मांगी मांफी

सर्च इंजन गूगल ने कन्नड़ को भारत की सबसे भद्दी भाषा बताया था। इसके चलते उसे लगातार आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा था। कर्नाटक सरकार ने इसको लेकर गूगल को नोटिस जारी कर दिया, वहीं आलोचनाओं के बाद गुरुवार को गूगल इंडिया के प्रवक्ता ने बयान देकर भारतीयों से माफी मांग ली।

सर्च इंजन गूगल ने कन्नड़ को बताया भारत की सबसे भद्दी भाषा,  विरोध के बाद मांगी मांफी

नई दिल्ली।
सर्च इंजन गूगल ने कन्नड़ को भारत की सबसे भद्दी भाषा बताया था। इसके चलते उसे लगातार आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा था। कर्नाटक सरकार ने इसको लेकर गूगल को नोटिस जारी कर दिया, वहीं आलोचनाओं के बाद गुरुवार को गूगल इंडिया के प्रवक्ता ने बयान देकर भारतीयों से माफी मांग ली। उन्होंने कहा कि यह सिर्फ टेक्निकल गलती है। यह कंपनी की अपनी कोई सोच नहीं है। दरअसल, गूगल पर जब भी कोई यूजर  ugliest language in India (भारत की सबसे भद्दी भाषा) सर्च करता था तो जवाब में ‘Kannada language’ लिखा आता था। इसको लेकर कर्नाटक सरकार ने गूगल कंपनी को नोटिस देने की भी बात कही थी।

इसके बाद गूगल इंडिया के एक प्रवक्ता ने न्यूज एजेंसी से कहा कि सर्च हमेशा ही सच नहीं होता है। कई बार इंटरनेट पर सवाल करने पर चौंकाने वाले जवाब सामने आ सकते हैं। हम जानते हैं कि यह अच्छा नहीं है। हालांकि इनको लेकर जब भी हमें कोई शिकायत मिलती है तो हम विशेष ध्यान देते हुए सुधारात्मक कार्रवाई करते हैं। साथ ही हम अपने एल्गोरिद्म में भी लगातार सुधार करते हैं। हालांकि इसमें गूगल की अपनी कोई राय नहीं होती है। इस गलतफहमी से लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं। इसको लेकर हम सभी से माफी मांगते हैं।
2500 साल पुरानी भाषा कन्नड़
कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी (HD Kumaraswamy) और बेंगलुरु मध्य से भाजपा सांसद पीसी मोहन (MP Pc Mohan) समेत कई नेताओं ने गूगल की इस हरकत की आलोचना की थी। उन्होंने कंपनी से माफी मांगने और सुधार करने की बात कही थी। वहीं कर्नाटक के मंत्री अरविंद लिंबावली ने कहा कि करीब 2500 साल पहले अस्तित्व में आई कन्नड़ भाषा का अपना एक अलग इतिहास है। ढाई शताब्दी से यह कन्नड़ लोगों का गौरव रही है। अब यदि गूगल इसे सबसे भद्दी भाषा कहता है, तो यह इस गौरव को कलंकित करने की कोशिश है।

Must Read: राजस्थान कला एवं संस्कृति का इटली में भी होगा प्रदर्शन, कला मंत्री डॉ कल्ला ने इटली के राजदूत लूसा से ​की चर्चा

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :