पुलिस जमा रही सुरा संग सुर की महफिल: थाने में एसएचओ संग शराब के जाम लेकर बैठे डीएसपी ने गाया प्यार दीवाना होता है, मस्ताना होता है...

रानीवाड़ा थाने में अशोक गहलोत सरकार की पुलिस का असली रंग सामने आया है। शराब के जाम संग बैठे थाना प्रभारी और उप अधीक्षक फिल्मी नगमें गुनगुना रहे हैं। यही नहीं इसके वीडियो बनाकर फेसबुक पर अपलोड भी कर दिए। इस कार्यक्रम में उपखंड मजिस्ट्रेट भी शामिल हुए।

थाने में एसएचओ संग शराब के जाम लेकर बैठे डीएसपी ने गाया प्यार दीवाना होता है, मस्ताना होता है...
Raniwara Police Station Holi Song Singing by Dy Sp

जालोर | प्रदेश में भले ही कानून व्यवस्था किनारे लग चुकी हो। सरकार के नुमाइंदे अर्थात राजस्थान पुलिस सुरा के साथ सुर की महफिल जमाकर आमजन में विश्वास और अपराधियों की डर के नारे को चिढ़ा रहे हैं।

होली के रंग में रानीवाड़ा थाने में अशोक गहलोत सरकार की पुलिस का असली रंग सामने आया है। शराब के जाम संग बैठे थाना प्रभारी और उप अधीक्षक फिल्मी नगमें गुनगुना रहे हैं। यही नहीं इसके वीडियो बनाकर फेसबुक पर अपलोड भी कर दिए। इस कार्यक्रम में उपखंड मजिस्ट्रेट भी शामिल हुए।

फेसबुक पर सामने आए वीडियोज में साफ है कि थाना परिसर में डीएसपी शंकरलाल और रानीवाड़ा थानाधिकारी पदमाराम खुलेआम शराब के जाम के पीछे बैठे इतना ही नहीं डीएसपी ने वीडियो शंकरलाल मासुरिया के नाम से बनी फेसबुक आईडी पर अपलोड भी कर दिए।

टॉयलेट घोटाले में वैभव का नाम: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे पर महाराष्ट्र के पुलिस थाने में Case दर्ज, ई टायलेट टेंडर में घोटाले के आरोप

पुलिसकर्मियों की मौजूदगी में शनिवार दोपहर को रानीवाड़ा थाने में होली स्नेह मिलन कार्यक्रम था। इसमें रानीवाड़ा एसडीएम प्रकाशचंद्र अग्रवाल, डीएसपी शंकरलाल, थानाधिकारी पदमाराम राणा आदि अधिकारी और कर्मचारी शामिल हुए थे। 

यह सब दिख रहा था वीडियो में
पुलिस उप अधीक्षक शंकरलाल ने यह वीडियो खुद के सोशल मीडिया फेसबुक अकाउंट पर भी अपलोड किए। 2.51 मिनट के वीडियों में दिख रहा है​ कि टेबल पर तीन गिलासों में शराब भरी हुई है। उप अधीक्षक एवं थाना प्रभारी शराब के जाम के साथ संगीत की महफिल सजाए हुए हैं। यह कार्यक्रम थाने के सरकारी परिसर में हुआ था।

यह है अफसरों का दावा

थाने का ऐसा कोई वीडियो नहीं हैं। होली को लेकर दारू पार्टी नहीं हुई है, केवल रंगों से होली खेली। इसमें मैं, डीएसपी एवं एसडीएम भी साथ में थे। - पदमाराम राणा, थानाधिकारी

यह शराब नहीं हैं, कोल्ड ड्रिंक्स हैं। कलर इसका दारू जैसा दिख रहा होगा। - शंकरलाल, डीएसपी रानीवाड़ा

थाना परिसर में इस तरह की पार्टी नहीं कर सकते हैं, मैं पता करता हूं। - हर्षवर्धन अग्रवाल, एसपी जालोर

Must Read: कोटा के पूर्व महाराव बृजराजसिंह नहीं रहे, निधन से पहले तय कर गए बूंदी राजवंश का मुखिया

पढें जालोर खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :