पूजा अस्पताल के एमडी पर मेहरबानी क्यों: रानीवाड़ा के जिस पूजा अस्पताल के एमडी को बीसीएमओ ने पहचानने से कर दिया था इनकार, उसके साथ हाथ मिलाते हुए फोटो हुई वायरल

रानीवाड़ा के पूजा अस्पताल का एमडी मृत चिकित्सक के नाम और डिग्री पर देख रहा था मरीज, मामले में बीसीएमओ से पूछा तो एमडी को पहचानने से इनकार कर दिया था। खानापूर्ति करते हुए निरीक्षण कर चेतावनी देकर छोड़ा लोगों के जीवन से खिलवाड़ करने वाले आरोपी को।

रानीवाड़ा के जिस पूजा अस्पताल के एमडी को बीसीएमओ ने पहचानने से कर दिया था इनकार, उसके साथ हाथ मिलाते हुए फोटो हुई वायरल

जालोर।
जिले के रानीवाड़ा उपखंड मुख्यालय पर मृत चिकित्सक की डिग्री का इस्तेमाल कर एक गैर जिम्मेदार व्यक्ति लोगों के जीवन से खिलवाड़ कर रहा है और चिकित्सा विभाग केवल नोटिस देकर भविष्य में इस तरह की गलती नहीं दोहराने के लिए चेतावनी देकर इतिश्री कर रहा है तो विभाग की कार्रवाई पर सवाल उठना लाजमी है। बहरहाल, रानीवाड़ा के खंड मुख्य चिकित्सा अधिकारी से आरोपित व्यक्ति की नजदीकियां इस मेहरबानी का कारण बताया जा रहा है। आश्चर्य की बात तो यह है कि एक ओर जहां उपखंड के बीसीएमओ आरोपित व्यक्ति या उसके अस्पताल से परिचय नहीं बताए रहे है, वहीं दूसरी ओर सोशल मीडिया पर इनकी आरोपित व्यक्ति के साथ फोटो वायरल हो रही है। इस फोटो में बीसीएमओ डॉ बाबूलाल पुरोहित और आरोपित व्यक्ति बी आर देवासी हाथ मिला रहे है। इस तस्वीर को देखने के बाद बीसीएमओ द्वारा की गई मेहरबानी का कारण साफ हो रहा है।

जानकारी के मुताबिक रानीवाड़ा उपखंड मुख्यालय पर एक मृत चिकित्सक की डिग्री का इस्तेमाल किए जाने सेे संबंधित मामला फर्स्ट भारत.इन (https://firstbharat.in/) पर उजागर किया गया था। इस में बताया गया था कि रानीवाड़ा के पूजा अस्पताल में मृत चिकित्सक डॉ. संजय आर कापडिया के नाम से बी आर देवासी नाम का एक व्यक्ति लोगों का इलाज कर रहा है। डॉ. संजय का 23 मार्च 2021 को निधन हो गया था, बावजूद इसके 30 मार्च को आरोपित बी आर देवासी पूजा अस्पताल में बैठकर मरीज देख रहा था। इतना ही नहीं, बी आर देवासी ने मृत चित्सिक कापडिया के लैटर पेड पर स्वयं के नंबर, अस्पताल के बैनर पर एमडीपीएच नाम से फर्जी डिग्री लिख रखी थी। फर्स्ट भारत. इन (https://firstbharat.in/) पर तस्वीरों के साथ इस फर्जीवाड़े का खुलासा किया गया था। 

https://firstbharat.in/The-managing-director-of-the-hospital-was-watching-the-patient-at-Raniwara-subdivision-headquarters-of-Jalore---BCMO-gave-only-warning-in-the-name-of-action


पूजा अस्पताल से अनभिज्ञता जाहिर की थी बीसीएमओ ने


पूजा अस्पताल के प्रबंध निदेशक द्वारा लोगों के जीवन से खिलवाड़ करने के मामले में जब फर्स्ट भारत.इन ने बीसीएमओ से जानकारी मांगी तो उन्होंने अस्पताल से अनभिज्ञता जाहिर कर दी। बीसीएमओ ने कहा कि मैं पूजा अस्पताल या बी आर देवासी को नहीं जानता हूं। इसके बाद फर्स्ट भारत. इन की खबरों के हवाले से बीसीएमओ ने पूजा अस्पताल का निरीक्षण किया था। निरीक्षण के बाद बीसीएमओ ने सोशल मीडिया पर वायरल खबर के संदर्भ में पत्र जारी करते हुए पूजा अस्पताल को नोटिस दे दिया।

फ़ोटो सामने आने के बाद बोले BCMO
सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस फोटो को लेकर जब फर्स्ट भारत. इन के संवाददाता ने BCMO डॉ बाबूलाल पुरोहित से बात की तो उन्होंने कहा कि ये फोटो तीन साल पहले का हैं। और उस समय बगदाराम देवासी के घर पर एक सामाजिक कार्यक्रम था। इसमें ब्लॉक स्तर के सभी अधिकारी आए थे, और मैं भी वहां गया था। बगदाराम देवासी को जानता हूँ। वही जब पूजा अस्पताल की अनियमितताओ को लेकर जब FIRST BHARAT की खबर प्रसारित हुई और उसकी जांच करने मैं अस्पताल गया तब वहां पर डिग्रीधारी डॉक्टर ही इलाज़ कर रहा था, वहीं फार्मासिस्ट भी मौके पर मौजूद था। तो कार्रवाई क्या कर सकते हैं। इस जांच में कही कोई रिश्ते , नाते या यारी दोस्ती आड़े नहीं आई हैं।

Must Read: Rajasthan में बिजली के डिसऑनेस्ट उपभोक्ताओं पर सख्ती करने के निर्देश, फिर चाहे सरकारी कार्यालय ही क्यों ना हो, होगी वसूली

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :