सीएम गहलोत & यूक्रेन के राजस्थानी छात्र: यूक्रेन से आईं राजस्थानी छात्राएँ फ़्लाइट से जयपुर पहुंची, सीएम गहलोत को दिया धन्यवाद, सीएम ने सुरक्षित घर पहुंचाने के दिए निर्देश

राज्य सरकार के निर्देशानुसार यूक्रेन से रात को मुंबई लाई गई राजस्थान की छात्राओं को प्रातः उड़ान संख्या 6ई 5384 इंडिगो मुंबई से 08:55 पूर्वाह्न जयपुर भेजा गया। इनकी फ़्लाइट प्रातः 10:30 बजे जयपुर पहुंची जहाँ उनका भव्य स्वागत किया गया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देशानुसार सभी प्रबंध किए गए हैं।

यूक्रेन से आईं राजस्थानी छात्राएँ फ़्लाइट से जयपुर पहुंची, सीएम गहलोत को दिया धन्यवाद, सीएम ने सुरक्षित घर पहुंचाने के दिए निर्देश

जयपुर।
राज्य सरकार के निर्देशानुसार यूक्रेन से रात को मुंबई लाई गई राजस्थान की छात्राओं को प्रातः उड़ान संख्या 6ई 5384 इंडिगो मुंबई से 08:55 पूर्वाह्न जयपुर भेजा गया। 
इनकी फ़्लाइट प्रातः 10:30 बजे जयपुर पहुंची जहाँ उनका भव्य स्वागत किया गया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देशानुसार सभी प्रबंध किए गए हैं।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत इन छात्राओं के प्रति अति संवेदनशील रहे। उन्होंने जब तक छात्राएं सुरक्षित जयपुर नहीं पहुँच गईं तब तक पल-पल की जानकारी ली। 
इस फ़्लाइट में जयपुर, कोटा, भीलवाड़ा, अजमेर और रावतभाटा की छात्राएँ थीं। रात्रिकाल में इन सभी छात्राओं को सुरक्षित राजस्थान भवन ले जाया गया जहाँ ठहरने व भोजन का उचित प्रबंध किया गया। 
फिर प्रातः इनकी फ़्लाइट की व्यवस्था कर इन्हें मुंबई एयरपोर्ट लाया गया। वहाँ से ये छात्राएँ जयपुर पहुँची। आयुक्त राजस्थान फ़ाउंडेशन एवं राज्य नोडल अधिकारी धीरज श्रीवास्तव के निर्देशन में राजस्थान भवन के अधिकारी मनोज तिवारी और सौरभ सिन्हा ने पूरी ज़िम्मेदारी से इन छात्राओं के लिए सभी व्यवस्थाओं को अंजाम दिया।
सभी छात्राओं ने राज्य सरकार द्वारा किए गए सभी प्रबंधों की भरसक प्रशंसा की और कहा कि उन्हें इस पूरे सफर के दौरान कोई भी परेशानी राजस्थान सरकार ने नहीं होने दी। आगे भी राज्य सरकार यूक्रेन में फँसे राजस्थानी छात्र- छात्राओं को भारत लाने व सुरक्षित घर पहुँचाने की पूरी व्यवस्था करेगी। यह जानकारी आयुक्त राजस्थान फ़ाउंडेशन एवं राज्य नोडल अधिकारी धीरज श्रीवास्तव ने दी।

सीएम ने सोशल मीडिया पर स्टूडेंट्स के लिए जताई चिंता 
सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि दिल्ली एयरपोर्ट पर यूक्रेन में विपरीत परिस्थितियों का सामना कर रोमानिया के रास्ते वापस आ रहे अजय सिंह से फोन पर बात की और वहां की स्थिति की जानकारी ली। 
यहां पहुंचने पर सभी राजस्थानियों को उनके घर तक पहुंचाने की निशुल्क व्यवस्था की गई है। राज्य सरकार के अधिकारियों को वहां रह रहे विद्यार्थियों एवं उनके परिजनों के माध्यम से यह संदेश प्राप्त हो रहे हैं कि बड़ी संख्या में भारतीय विद्यार्थी रोमानिया की सीमा पर एकत्रित हैं और उन्हें वहां से आगे बढ़ने का रास्ता नहीं मिल पा रहा है।
यूक्रेन में रह रहे भारतीय छात्र अजय सिंह से आज फोन पर हुई बातचीत का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री को अवगत कराया है कि यूक्रेन से एक साथ निकलने के लिए भारतीय विद्यार्थियों को रोमानिया और पोलैंड से सुरक्षित मार्ग नहीं मिल पा रहा है।

यूक्रेन में फंसे देश व प्रदेश के विद्यार्थियों की शीघ्र,सुरक्षित वापसी हेतु प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर आग्रह किया है कि उनको शीघ्र भारत लाने हेतु केंद्र सरकार अविलम्ब यूक्रेन सरकार से सम्पर्क करे ताकि पोलैंड, रोमानिया से होकर विद्यार्थियों को भारत आने हेतु सुरक्षित मार्ग मिल सके।

Must Read: इटली सरकार बोली लगने के बाद एयरलाइन आईटीए की बिक्री पर फैसला लेगी

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :