Rajasthan Jawan Martyr: मातृभूमि की रक्षा करते हुए राजस्थान का बेटा भारत-चीन बॉर्डर पर शहीद, छोड़ गए पत्नी-बच्चों का साथ

मातृभूमि की सुरक्षा करते हुए राजस्थान का बेटा नायक भागचंद भारत-चीन बॉर्डर पर शहीद हो गए हैं। भारतीय सेना में तैनात नायक भागचंद गुर्जर भारत चीन बोर्डर पर पेट्रोलिंग करते समय शहीद हो गए।

मातृभूमि की रक्षा करते हुए राजस्थान का बेटा भारत-चीन बॉर्डर पर शहीद, छोड़ गए पत्नी-बच्चों का साथ

अजमेर | मातृभूमि की सुरक्षा करते हुए राजस्थान का बेटा नायक भागचंद भारत-चीन बॉर्डर पर शहीद हो गए हैं। भारतीय सेना में तैनात नायक भागचंद गुर्जर भारत चीन बोर्डर पर पेट्रोलिंग करते समय सड़क हादसे में शहीद हो गए। उनकी पार्थिव देह अजमेर जिले के किशनगढ़ पहुंच गई है। आज उनके पृतक गांव में उनका राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा। बुधवार देर शाम सांसद भागीरथ चोधरी सहित पुलिस के आला अधिकारियों ने शहीद के गांव पहुंच कर अंतिम संस्कार की व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

21 राजपूत रेजिमेंट में थे तैनात
जानकारी के अनुसार, राजस्थान के किशनगढ़ के टोंकड़ा गांव के निवासी नायक भागचंद अरुणाचल प्रदेश के ओरक में मंगलवार को शहीद हुए है। वे भारतीय सेना की 21 राजपूत रेजिमेंट में थे।

ये भी पढ़ें:- केन्द्र सरकार का बड़ा फैसला, कल से मुफ्त लगेगी कोरोना की बूस्टर डोज, करना होगा बस ये काम

अपने पीछे छोड़ गए पत्नी और दो बच्चे
शहीद नायक भागचंद अपने पीछे परिवार में पत्नी मायादेवी एवं दो बच्चे यश और लक्ष्मी को छोड़ गए। नायक भागचंद चार भाईयों में सबसे छोटे थे। परिवार के सदस्यों ने बताया कि, भागचंद पिछले महीने ही एक महीने की छुट्टी पर भागचंद गांव आए थे और अपने परिवार के साथ खुशियां बांटी थी, छुट्टी पूरी होने पर 26 जून को वे वापस चले गए थे, लेकिन अब वे तिरंगे में लिपटकर वापस आए हैं। जिसके बाद से परिवार में शोक छाया हुआ है।

ये भी पढ़ें:- विश्वनाथ मंदिर के पास बड़ा हादसा, कई श्रद्धालु बचे, गिरा जर्जर मकान का छज्जा

देश सेवा में ही प्राण गंवाए
परिजनों ने बताया कि, भागचंद शुरू से ही देश के प्रति समर्पित थे। 21 साल की उम्र में ही उनकी सेना में नौकरी लग गई थी। जिसके बाद करीब साढ़े तेरह साल वे देश सेवा में लगे रहे और देश सेवा में ही प्राण गंवाए। 

Must Read: सिरोही पुलिस जिस कंटेनर को अवैध शराब तस्करी में किया जब्त, वो 10 दिनों तक सिरोही जिले में ही था, 30 मई को ही आबू रोड की ओर से सरूपगंज आते हुए उ​ड़वाडिया टोल को किया था क्रॉस, सवाल कहां और कब भरी शराब

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :