कोरोना लाॅकडाउन पर राजनीति: राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने देश व्यापी लाॅकडाउन की पैरवी की, सीएम ने कहा लाॅकडाउन की आवश्यकता अब

राजस्थान में 10मई से कड़ा लॉकडाउन शुरु हो रहा है। इस बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक बार फिर देश व्यापी कड़े लॉकडाउन की पैरवी की है। गहलोत ने राज्यों की जगह केेंद्र के स्तर से लॉकडाउन की घोषणा की बात कही है।

राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने देश व्यापी लाॅकडाउन की पैरवी की, सीएम ने कहा लाॅकडाउन की आवश्यकता अब


जयपुर। 
राजस्थान में 10मई से कड़ा लॉकडाउन शुरु हो रहा है। इस बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक बार फिर देश व्यापी कड़े लॉकडाउन की पैरवी की है। गहलोत ने राज्यों की जगह केेंद्र के स्तर से लॉकडाउन की घोषणा की बात कही है। इसके साथ ही अलग अलग राज्यों के अपने स्तर पर लॉकडाउन लगाने से बेहतर आपसी कॉर्डिनेशन नहीं होने का मुद्दा भी उठाया है।


सीएम अषोक गहलोत ने सोशल मीडिया पर लिखा कि संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन की पहले से अधिक आवश्यकता अभी है। मेरी राय है कि पिछले अनुभव के आधार पर यह फैसला केंद्र सरकार के स्तर पर होना चाहिए था जिससे मजदूरों सहित आम लोगों को कम से कम तकलीफ हो और साथ में राज्यों के बीच बेहतर समन्वय हो सके। गहलोत ने सोशल मीडिया पर लिखा कि आज तमिलनाडू, केरल, महाराष्ट्र, हरियाणा, कर्नाटक, दिल्ली समेत कई राज्य एक के बाद एक लॉकडाउन लगाते जा रहे हैं। कई राज्य दूसरे राज्यों के नागरिकों की एंट्री बन्द कर रहे हैं। हमने भी सोमवार से प्रदेश में सख्त लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है। देखा जा रहा है कि इस बार ग्रामीण क्षेत्रों, युवाओं में कोविड का संक्रमण तेज गति से फैल रहा है। सीएम अशोक गहलोत ने सोमवार से लागू हो रहे लॉकडाउन के लिए लोगों से सहयोग की अपील की है। गहलोत ने लिखा- इस संक्रमण को काबू करने के लिए सोमवार से प्रदेशभर में 15 दिन के लिए सख्त लॉकडाउन लागू रहेगा। हम सभी का यह कर्तव्य बनता है कि हम अपना नागरिक धर्म निभाएं और इस लॉकडाउन का पूरी तरह से पालन करें जिससे राजस्थान को कोविड संक्रमण से बचाया जा सके। अभी तक आपके सहयोग राजस्थान अन्य राज्यों की तुलना में बेहतर स्थिति में है। अगर आप सभी सरकार का साथ देंगे तो हम सब मिलकर जल्द से जल्द कोरोना को हरा पाएंगे।

Must Read: कर्नाटक में बोम्मई सरकार के 29 मंत्रियों ने ली शपथ,सर्वाधिक लिंगायत समाज के 8 विधायक शामिल

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :