Sirohi @ PM के कार्यक्रम में हंगामा: पीएम का मेडिकल कॉलेज शिलान्यास कार्यक्रम, सिरोही में भाजपा के सांसद पटेल पर हंगामे और निर्देशों के उल्लंघन का आरोप

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के शिलान्यास कार्यक्रम की गरीमा भंग करने का सांसद देवजी पटेल पर आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि पटेल ने प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा अनुमोदित दिशा—निर्देशों का उल्लंघन किया।

पीएम का मेडिकल कॉलेज शिलान्यास कार्यक्रम, सिरोही में भाजपा के सांसद पटेल पर हंगामे और निर्देशों के उल्लंघन का आरोप

सिरोही।
सिरोही में मेडिकल कॉलेज शिलान्यास कार्यक्रम में आज हंगामा देखने को मिला। हालात इस कदर बिगड़ गए कि सांसद कलेक्टर पर बरस पड़े और आरोप प्रत्यारोप लगाए जाने लगे। सांसद पर कार्यक्रम की गरिमा भंग करने के साथ प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा अनुमोदित दिशा—निर्देशों के उल्लंघन के आरोप लगाए गए। कोविड पालना इस कार्यक्रम में देखने को नहीं मिली। वहीं राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव नीबाराम गरासिया ने सिरोही मेडिकल कॉलेज के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के शिलान्यास कार्यक्रम की गरीमा भंग करने का सांसद देवजी पटेल पर आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि पटेल ने प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा अनुमोदित दिशा—निर्देशों का उल्लंघन किया। गरासिया ने कहा कि इस कार्यक्रम की सम्पूर्ण गतिविधियों प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा अनुमोदित थी लेकिन उनका उल्लंघन करते हुए सांसद पटेल जनप्रतिनिधिओं के लिए आरक्षित हॉल में जिन्हे नहीं बुलाया गया था, उन लोगों को लेकर जबरन घुस गए। इतना ही नहीं, जनप्रतिनिधियों की लगी हुई नेम प्लेट हटाकर कु​र्सियों पर बैठ गए। गरासिया ने कहा कि जिला कलेक्टर भगवती प्रसाद व पुलिस अधीक्षक धर्मेन्द्रसिंह द्वारा बिन बुलाए लोगों को पीछे बिठाने का आग्रह करने पर उनसे अभद्र व्यवहार करने लग गए। इसके बाद बार—बार समझाने के बाद भी सीटे खाली नहीं की गई। इससे बाहर खड़े जनप्रतिनिधिओं में आक्रोश उत्पन्न हुआ। कोरोनाकाल में जिस जिला कलेक्टर ने लोगो की सेवा में रात दिन एक किया उनके साथ अभद्र व्यवहार किया, कांग्रेस कडी भर्त्सना करती है। अपने इस व्यवहार से सांसद पटेल ने सिरोही का माथा नीचा किया है। इसके लिए उन्हें जनप्रतिनिधियों व जिला प्रशासन से क्षमा याचना करनी चाहिए। गरासिया ने विधायक संयम लोढा को धन्यवाद दिया कि उन्होंने समझा बुझाकर जनप्रतिनिधिओं को शांत किया। इससे कार्यक्रम में व्यवधान नहीं हुआ।
ना ही मास्क और ना ही सोशल डिस्टेंसिंग
एक ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कोरोना से बचाव और तीसरी लहर से बचने के लिए मास्क के साथ सोशल डिस्टेंसिंग की पालना पर जोर दे रहे है, वहीं दूसरी आज के इस कार्यक्रम में इनका उल्लंघन किया गया। सांसद देवजी पटेल स्वयं बिना मास्क के कार्यक्रम में शामिल हुए। जबकि कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक मास्क में नजर आए। इसके साथ ही एक कमरे में तय लोगों के अलावा समर्थकों को लेकर आना कोरोना को बढ़ावा देने के समान है।

Must Read: संत विजयदास की मौत के बाद भाजपा ने खोला मोर्चा, पूनियां बोले- व्यर्थ नहीं जाएगा बलिदान

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :