विधायक संयम लोढ़ा ने उठाया मामला: राजस्‍थान के 25 सांसद आदर्श क्रेडिट सोसायटी एवं संजीवनी सोसायटी में 21 लाख जमाकर्ताओं का पैसा दिलाने में आगे आए

विधायक संयम लोढ़ा ने राजस्‍थान विधान सभा में  आदर्श व संजीवनी सोसायटी में जमाकर्ताओं के पैसे  दिलाने की प्रमुखता से मांग उठाई।

राजस्‍थान के 25 सांसद आदर्श क्रेडिट सोसायटी एवं संजीवनी सोसायटी में 21 लाख जमाकर्ताओं का पैसा दिलाने में आगे आए
sanyam lodha

सिरोही | विधायक संयम लोढ़ा ने आदर्श क्रेडिट कॉपरेटिव सोसायटी, संजीवनी क्रेडिट सोसायटी में 21 लाख लोगों की जमा पूंजी का जिक्र करते हुए कहा कि भारत सरकार के गृह मंत्री अमित शाह गृहमंत्री के साथ सहकारी मंत्री भी हैं। राजस्‍थान की जनता ने 25 सांसद जिता कर लोकसभा में भेजे हैं इन सोसायटियों में जमा पूंजी के बारे भारत की सबसे बड़ी सदन में आवाज क्‍यों नहीं उठाते हैं।

विधानसभा में विधायक संयम लोढ़ा ने भाजपा के विधायकों से सवाल किया है कि उन 21 लाख जमाकर्ताओं के पैसों का क्‍या हुआ? उन सोसायटियों के आकाओं के खिलाफ भारत सरकार इसलिए कार्रवाई नहीं कर रही हैं क्‍योंकि आरएसएस का कार्यालय उन्‍हीं के घर से चलता है। आरएसएस के प्रचारकों का खर्चा वो उठाते हैं।

बीजेपी के सांसद/विधायक सोसायटियों के कर्ता-धर्ता को बचाने की कोशिश कर रहे हैं। विधायक संयम लोढ़ा ने कहा कि मैं जो भी बात विधानसभा के सदन में कर रहा हूं वो बिल्‍कुल लिखित डायरियों में बीजेपी के चुनाव खर्चे में पैसा पहुंचाया गया है उस एंट्री के साझा की गई है उसकी कॉपी मेरे पास है। केन्‍द्र में भाजपा सरकार है।

आप उन गरीब लोगों के बारे में सोचों जिन्‍होंने अपनी गाढ़ी कमाई का पैसा इन सोसायटियों में लगा दिया और अभी तक उन पैसों की आने की कोई संभावना दूर-दूर तक नजर नहीं आ रही है। उन्‍होंने बीजेपी के 25 सांसदों और विधानसभा में उपस्थित भाजपा के विधायकों से अपील करते हुए आग्रह किया कि इन सोसायटियों में 21 लाख लोगों की जमापूंजी दिलाने के लिए आगे आए।

विधायक संयम लोढ़ा ने कहा कि भारत में ऐसी कोई भी सरकार बता दीजिए जिसने गोवंश में 12 महीने का अनुदान देती हो। देश में कोई भी ऐसी सरकार बता दीजिए जो गौशाला में अपाहिज एवं बीमार गायों का खर्चा उठा रही है। भाजपा धर्म के नाम पर लोगों को गुमराह करने का काम कर रही है।

2018 में भाजपा की सरकार थी और इन्‍होंने मात्र 305 करोड़ रुपये गौशाला के अनुदान पर खर्च किए इसकी जगह अशोक गहलोत सरकार ने 2021-22 में 876 करोड़ 2022-23 में 1518 करोड़ 2023-24 में 1787 करोड़ रुपये गौमाता की सेवा के लिए अनुदान दिया है। यह पिछली भाजपा सरकार से 6 गुना अधिक है।

अगर आप गायों के प्रति इतनी बात करते हो तो गाय को राष्‍ट्रीय पशु घोषित करने के लिए एक स्‍वर में क्‍यों नहीं कहते? गौ-मांस का निर्यात भारत में सबसे ज्‍यादा है।
 
विधायक संयम लोढ़ा ने राजस्‍थान विधान सभा में शेर कहा..... हयात लेकर चलो, कायनात लेकर चलो, चलो तो सारे जमाने को साथ लेकर चलो। उन्‍होंने कहा कि वसुंधरा राजे के 5 साल एवं वर्तमान गहलोत सरकार के 4 साल के बहस के लिए सभी बीजेपी विधायको एवं पूर्व मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे को खुली चुनौती दी और कहा कि मैं इस सरकार के काम काज के लिए आपसे खुले में बहस करने के लिए तैयार हूं। समय, स्‍थान, दिनांक आप तय करके बताना। 

विधायक संयम लोढ़ा ने कहा कि शहरी रोजगार गारंटी योजना लोगों को स्‍वावलंबन देने का काम कर रही है। इसके विपरीत मनरेगा योजना में भारत सरकार ने पैसा घटा दिया है। वहीं अशोक गहलोत सरकार ने इस बजट में 25 दिन रोजगार देने की घोषणा की है। उन्‍होंने भाजपा के सभी विधायकों से कहा कि अशोक गहलोत द्वारा प्रस्‍तुत बजट को भाजपा के विधायक रेवडि़यां बता रहे हैं।

मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना में पैसा बढ़ाना, कोविड़ के दौरान अनाथ हुए बच्‍चों को सरकारी नौकरी देना, चिरंजीवी बीमा योजना में बीमा राशि बढ़ाना और कर्मचारियों के लिए ओपीएस योजना लागू करना। इंदिरा रसोई योजना के तहत 8 रुपये में भरपेट भोजना देना, 100 यूनिट बिजली मु्फ्त करना क्‍या यह सब रेवडि़या हैं।

विधायक संयम लोढ़ा ने कहा कि चिरंजीवी स्‍वास्‍थ्‍य बीमा योजना में राजस्‍थान की 88 प्रतिशत आबादी कवर हो चुकी है। 1 करोड़ 30 लाख परिवार इस योजना से लाभान्वित हुए हैं।

Must Read: बाबा बैद्यनाथ धाम में पूजा-अर्चना करेंगे पीएम मोदी, झारखंड को मिलेगी कई सौगात

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :