कोरोना से बेहाली: क्या राजस्थान फिर होगा लॉकडाउन, राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री हो गए पॉजीटिव, वन मंत्री सुखराम पहले से ही हैं क्वारंटाइन

राजस्थान में कोरोना संकट बढ़ता ही जा रहा है। इसी बीच राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं। भले ही केन्द्र और राज्य सरकार खुद के प्रचास और अमिताभ बच्चन की आवाज में सोशल डिस्टेंसिंग की पालना की बात कह रही है, लेकिन हालात सुधरते नहीं दिख रहे।

क्या राजस्थान फिर होगा लॉकडाउन, राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री हो गए पॉजीटिव, वन मंत्री सुखराम पहले से ही हैं क्वारंटाइन
स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा कोरोना पॉजिटिव

जयपुर | बढ़ती सर्दी और बदलते हालातों के बीच राजस्थान में कोरोना से हालात खराब होते जा रहे हैं, लेकिन सरकार है कि सबक लेने का नाम ही नहीं ले रही। चुनावी गहमागहमी, प्रचार और शोर के बीच प्रदेश के चिकित्सा और स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ही पॉजीटिव हो गए हैं। ​शर्मा के कोरोना पॉजीटिव आने के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने टवीट करके उनके जल्द स्वस्थ्य होने की कामना की है। शर्मा ने पंचायतराज चुनावों में प्रचार की कमान संभाली लेकिन कोरोना नियंत्रण की डोर उनके हाथ से फिसली नजर आई। ऐसे हालातों में विचार करने की बात है कि प्रदेश में कोरोना प्रबंधन के हालातों पर कैसे भरोसा हो?

प्रदेश के वन मंत्री सुखराम विश्नोई लगातार दो रिपोर्ट में कोविड पॉजीटिव पाए जाने के बाद से क्वारंटाइन चल ही रहे हैं। वन एवं पर्यावरण मंत्री सुखराम विश्नाेई की दूसरी कोरोना रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। 19 नवंबर को वन मंत्री विश्नाेई ने कोरोना के लक्षण दिखने पर होम क्वारेंटाइन होकर सैंपल दिया था, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके बाद से विश्नाेई सांचौर स्थित अपने निवास पर होम क्वारेंटाइन हैं। रविवार को उनकी दूसरी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। हालांकि विश्नाेई के स्वास्थ्य में अभी सुधार बताया जा रहा है।

कोटेज वार्ड में भर्ती हैं शर्मा
कोरोना पॉजीटिव आने के बाद आज सुबह करीब 10.30 बजे उन्हे जयपुर के आरयूएचएस अस्पताल में भर्ती किया गया। उन्हें कोरोना से संबंधित अन्य लक्षण जैसे सांस में तकलीफ, स्वाद का बिगड़ना नहीं है। अस्पताल के अधीक्षक डॉ. अजीत सिंह ने बताया कि चिंता की कोई बात नहीं है। मंत्री जी को हल्का सा बुखार है। उन्होंने बताया कि उन्हे कोटेज वार्ड में भर्ती कर उपचार किया जा रहा है। यानी उन्हें ऑक्सीजन की आवश्यकता नहीं है।

दिन में प्रचार और रात में कर्फ्यू
दिन में चुनावों का प्रचार चल रहा है और रात्रि में कई शहरों में कर्फ्यू लगाया गया है। ऐसे में कोरोना प्रबंधन की नीति का मजाक बन रहा है। दुनियाभर में राजस्थान में चल रही इस व्यवस्था की जमकर खिल्ली उड़ाई जा रही है। फेसबुक, ट्विटर समेत सोशल मीडिया पर लगातार बढ़ते कोरोना के बीच यह नीति भी चर्चा में है।

क्या लॉकडाउन लगेगा
प्रदेश में लगातार बिगड़ रहे हालातों के बीच लॉकडाउन को लेकर चर्चाएं शुरू हो गई हैं, हालांकि सरकार की ओर से इस बाबत किसी तरह का संकेत नहीं दिया गया है। राजस्थान में रविवार को सबसे ज्यादा रिकॉर्ड 3260 नए केस मिले, जबकि 17 मौतें हुईं। जयपुर में भी पहली बार 603 नए संक्रमित मिले। चिंताजनक यह है कि अब प्रदेश में संक्रमण की रफ्तार 9 फीसदी के करीब पहुंच गई है।