छोटी काशी में फागोत्सव का रंग: छोटी काशी गुलाबी नगरी में करणी महिमा कथा का रंगारंग फागोत्सव के साथ समापन

छोटी काशी गुलाबी नगरी में पहली बार आयोजित चार दिवसीय करणी महिमा कथा का समापन रंगारंग फागोत्सव के साथ हुआ। खातीपुरा में करणी माता की कथा का आयोजन पहली बार हुआ। चार दिवसीय इस कथा से पूर्व कलश यात्रा निकाली गई

छोटी काशी गुलाबी नगरी में करणी महिमा कथा का रंगारंग फागोत्सव के साथ समापन

जयपुर।
छोटी काशी गुलाबी नगरी में पहली बार आयोजित चार दिवसीय करणी महिमा कथा का समापन रंगारंग फागोत्सव के साथ हुआ।
फागोत्सव में देर रात तक भक्त करणी माता की चिरजांओं पर फुल और गुलाल की होली खेलते नजर आए।


गुलाबी नगरी जयपुर में एक तरफ जहां फाल्गुनी बयार और खाटू श्याम जी मेले की बयार बह रही है, वही खातीपुरा में करणी माता की कथा का आयोजन पहली बार हुआ। चार दिवसीय इस कथा से पूर्व कलश यात्रा निकाली गई और चार दिन चली कथा में कथावाचक डॉक्टर करणी प्रताप सिंह आढ़ा द्वारा करणी माता की लीलाओं का वर्णन किया गया।


वहीं सुन्दंन आढ़ा (किन्नू बन्ना) ने सुरीली आवाज में भजनों से उपस्थित हर व्यक्ति को नाचने पर मजबूर कर दिया।
करणी माता की लीलाओं की भक्तिमय और भजनों से युक्त महिमा गान श्रद्धालुओं को खूब रास आई और अंतिम दिवस फागोत्सव मनाया गया।


इस दौरान खचाखच भरे प्रांगण में श्रद्धालुओं ने नृत्य करके अपनी उपस्तिथि दर्ज कराई।
इस दौरान उच्च शिक्षा पूर्व मंत्री और वर्तमान विधायक नरपत सिंह राजवी, पूर्व मंत्री राजपाल सिंह शेखावत, नगर निगम जयपुर ग्रेटर चेयरमैन गजेंद्र सिंह चिराणा, अजय सिंह चौहान,नरेंद्र सिंह शेखावत, रामकिशोर प्रजापत, विकास बारेठ पार्षद सुमेर सिंह जोधा, विरेंद्र सिंह शेखावत, गणेश नाथावत, विजेंद्र सिंह पाल, रणवीर राजावत भाजपा नेता दिनेश अमन, कुलदीप सिंह जोड़ी,सुरजीत सिंह शेखावत और शौर्य फाउंडेशन परिवार सहित कई गणमान्य लोगों ने भी हाजिरी लगाई।


इस दौरान कार्यक्रम के अंत में मुख्य यजमान करीरी परिवार ने सभी श्रद्धालुओं और सहयोगियों का आभार व्यक्त किया।
कथावाचक डॉक्टर करणी प्रताप सिंह आढ़ा ने पूरे परिवार का सम्मान किया।

Must Read: उत्तराखंड में भोलेनाथ का अद्भुत मंदिर, जानिए क्या है विशेषता

पढें अध्यात्म खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :