कोरोना डेल्टा वैरिएंट ने बढ़ाई परेशानी: कोरोना के डेल्टा वैरिएंट से बढ़ सकती है भारत की परेशानी, टोक्यो ओलिंपिक में 7 दिन तक करानी पड़ सकती है कोरोना जांच

टोक्यो ओलिंपिक से पहले कोरोना संक्रमण के नए वैरिएंट ने भारत सहित अन्य कई देशों की परेशानी बढ़ा दी है। जापान ने कोरोना के डेल्टा वैरिएंट से जूझ रहे देशों को लेकर एक बयान जारी किया है। इसके मुताबिक ऐसे देशों को अपने एथलीट्स को टोक्यो भेजने से पहले 7 दिन तक हर रोज कोरोना जांच करवानी पड़ सकती है।

कोरोना के डेल्टा वैरिएंट से बढ़ सकती है भारत की परेशानी, टोक्यो ओलिंपिक में 7 दिन तक करानी पड़ सकती है कोरोना जांच

नई​ दिल्ली।
टोक्यो ओलिंपिक (Tokyo Olympics) से पहले कोरोना संक्रमण के नए वैरिएंट ने भारत सहित अन्य कई देशों की परेशानी बढ़ा दी है। जापान ने कोरोना के डेल्टा वैरिएंट (Delta variant)से जूझ रहे देशों को लेकर एक बयान जारी किया है। इसके मुताबिक ऐसे देशों को अपने एथलीट्स को टोक्यो भेजने से पहले 7 दिन तक हर रोज कोरोना जांच करवानी पड़ सकती है। जापान ने इसके लिए प्लान तैयार कर लिया है। वे जल्द इन देशों को अपनी योजना के बारे में बता सकते हैं। जापान ने फिलहाल सभी विदेशी एथलीट को टोक्यो रवाना होने से पहले 4 दिन में 2 बार कोरोना जांच कराने के लिए कहा है। ओलिंपिक की शुरुआत 23 जुलाई (Olympics will start from 23 July) से होगी। आप को बता दें कि टोक्यो ओलिंपिक और पैरालिंपिक के लिए ओलिंपिक विलेज 2019 में ही बनकर तैयार हो गया था। लेकिन कोरोना की वजह से ओलिंपिक को 2020 में रद्द करना पड़ा था। जापानी अखबार योमिउरी शिमबन ने जापानी सरकार के हवाले से कहा कि जापान द्वारा बनाए जा रहे नए नियम में भारत, मालदीव, नेपाल, पाकिस्तान, श्रीलंका और अफगानिस्तान 6 देश शामिल हैं। इन सभी देशों को 1 जुलाई के बाद अपने खिलाड़ियों को 7 दिन के लिए क्वारैंटाइन कर हर रोज जांच करवाने कहा जाएगा। बताया जा रहा है कि जापान सरकार ऐसा कदम इस लिए उठाया है क्योंकि युगांडा की ओलिंपिक टीम का एक सदस्य टोक्यो पहुंचने के बाद पॉजिटिव (a member of the Ugandan team positive)  पाया गया। उसमें डेल्टा वैरिएंट मिला है। इससे नए खतरे की आशंका है। इससे हमारे देश में नया इन्फेक्शन फैल सकता है। हम अपने देश के लोगों और बाकी खिलाड़ियों की सुरक्षा को लेकर ऐसा बिलकुल नहीं चाहते। 
भारत में डेल्टा प्लस के बढ़ रहे है केस
कोरोना की तीसरी लहर आने की आशंका के बीच भारत में डेल्टा प्लस के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। देश में डेल्टा प्लस वेरिएंट (Delta variant) के केस बढ़कर 52 हो गए हैं। अब तक कुल 12 राज्यों में इस वैरिएंट के केस पाए गए हैं। 45 हजार सैंपल की जांच में सबसे ज्यादा 22 मामले महाराष्ट्र (Maharashtra) में रिपोर्ट किए गए हैं। इसके अलावा मध्यप्रदेश(Madhya Pradesh) में 8, केरल में 3, पंजाब और गुजरात 2-2, आंध्र प्रदेश, ओडिशा, राजस्थान(Rajasthan), जम्मू-कश्मीर, हरियाणा और कर्नाटक में एक-एक केस की पुष्टि हुई है। केंद्र सरकार ने 8 राज्यों को चिट्ठी लिखकर कोरोना के डेल्टा प्लस वैरिएंट के लिए अलर्ट किया है। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने 8 राज्यों के मुख्य सचिव को चिट्ठी लिखकर डेल्टा प्लस के लिए पूरी तैयारी करने को कहा है। इनमें आंध्रप्रदेश, गुजरात, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, पंजाब, कर्नाटक, राजस्थान और तमिलनाडु शामिल हैं। केंद्र ने राज्य से कहा है कि सभी राज्यों में टेस्टिंग, ट्रैकिंग और वैक्सीनेशन की रफ्तार और बढ़ाने की जरूरत है।

Must Read: भारतीय महिला क्रिकेट बल्लेबाज पूजा वस्त्रकर ने 81मीटर लंबा लगाया छक्का, ऑस्ट्रेलिया ने टीम इंडिया को 6 विकेट से हराया

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :