Uttar Pradesh @लखीमपुर हादसे में राजनीति: उत्तरप्रदेश के लखीमपुर हादसे मामले में गहलोत ने यूपी सरकार को बताया तानाशाही, सोशल मीडिया पर गहलोत ने जारी किया बयान

प्रियंका गांधी को हिरासत में लेने के बाद राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा सहित कांग्रेसी नेताओं ने सोशल मीडिया पर विरोध शुरू कर दिया। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने उत्तर प्रदेश सरकार ​पर निशाना साधते हुए सोशल मीडिया पर लिखित बयान जारी किया।

उत्तरप्रदेश के लखीमपुर हादसे मामले में गहलोत ने यूपी सरकार को बताया तानाशाही, सोशल मीडिया पर गहलोत ने जारी किया बयान

जयपुर। 
उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में केंद्रीय मंत्री के बेटे की गाड़ी से किसानों को कुचले जाने से हुई हिंसा के बाद राजस्थान से लेकर यूपी और दिल्ली तक की राजनीति गरमा गई। एआईसीसी की महासचिव प्रियंका गांधी को हिरासत में लेने के बाद राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा सहित कांग्रेसी नेताओं ने सोशल मीडिया पर विरोध शुरू कर दिया। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने उत्तर प्रदेश सरकार ​पर निशाना साधते हुए सोशल मीडिया पर लिखित बयान जारी किया। गहलोत ने यूपी में सरकार द्वारा लोकतंत्र को खत्म करने और तानाशाही करने का आरोप लगाया है। गहलोत ने सोशल मीडिया पर ट्वीट किया कि उत्तर प्रदेश में एआईसीसी महासचिव प्रियंका गांधी और अन्य नेताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया। इसकी मैं कड़े शब्दों में निंदा करता हूं। वे प्रमुख विपक्षी नेता हैं और लखीमपुर खीरी जिले में किसानों के परिवारों से मिलने जा रही थीं। ​विपक्षी नेताओं को गैर कानूनी तरीके से रोका जाना लोकतांत्रिक मानदंडों के खिलाफ है। गहलोत ने कहा कि किसानों पर भाजपा नेताओं के काफिले की गाड़ियां चढ़ाकर उन्हें बर्बरता से मार दिया गया। अब विपक्ष के नेताओं को रोका जा रहा हैं। प्रियंका गांधी उन परिवारों से मिलने जा रही थी, जिन्होंने हादसे में अपने परिजनों को खोया। इस कर्तव्य निर्वहन के लिए उनको रोकना पूर्णतया अनुचित है।


भाजपा सरकार का अमानवीय चेहरा
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बताया कि उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार का अमानवीय चेहरा सामने आया है। किसानों की मांगों को अनसुनी करना, किसान आंदोलन को तोड़ना, किसानों पर अत्याचार करने के साथ ही अब विपक्ष तक को दबाने का प्रयास किया जा रहा है। यह सत्ताधारी दल का लोकतंत्र विरोधी रूप है। इसकी जितनी भर्त्सना की जाए वो कम है। उत्तर प्रदेश की सरकार की ओर से छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री, पंजाब के उप मुख्यमंत्री को राज्य में आने से रोक रही है। यह केवल एक तानाशाह सरकार ही कर सकती है। यह संविधान की भावना के विपरीत है।

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष ने जताया विरोध
वहीं दूसरी ओर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने भी सोशल मीडिया पर यूपी मामले में विरोध जताया है। डोटासरा ने लिखा है कि लखीमपुर_किसान_नरसंहार एवं यूपी की तानाशाही भाजपाई हुकूमत द्वारा कांग्रेस महासचिव @priyankagandhi जी से दुर्व्यवहार किया है। भाजपा के अराजक शासन में कानूनी मान्यताओं को कुचला जा रहा है। तानाशाही हुकूमत कब तक कैद़ रख पाएगी,प्रियंका की आंधी में हर जंजीर टूट जाएगी! उन्हें हिरासत में लिए जाने के खिलाफ कांग्रेस पार्टी मंगलवार प्रात: 10-11 बजे अन्य ज़िलों पर प्रदर्शन करेगी।

Must Read: सहाड़ा से निर्दलीय चुनाव नामांकन भरने के बाद वापस लेने वाले पितलिया को स्वास्थ्य विभाग से मिला नोटिस्, अब नहीं कर पाएंगे चुनाव प्रचार

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :