यूक्रेन—रूस युद्ध और राहत कार्य: रूस—यूक्रेन युद्ध के बीच आज बुखारेस्ट से मुंबई पहुंचे 10 राजस्थानी विद्यार्थी, जयपुर, अजमेर सहित 7 जिलों के स्टूडेंट

यूक्रेन में रूस के लगातार हमलों के बीच भारतीयों का विमानों द्वारा भारत पहुँचना जारी है। इसी क्रम में फ़्लाइट IX 1204 शुक्रवार को मुम्बई पहुँची,जिसमें 10 राजस्थानी छात्र हैं। इन छात्रों में अजमेर , उदयपुर , भीलवाड़ा, पाली, कोटा, नागौर और जयपुर के विद्यार्थी शामिल हैं। 

रूस—यूक्रेन युद्ध के बीच आज बुखारेस्ट से मुंबई पहुंचे 10 राजस्थानी विद्यार्थी, जयपुर, अजमेर सहित 7 जिलों के स्टूडेंट

जयपुर।
यूक्रेन में रूस के लगातार हमलों के बीच भारतीयों का विमानों द्वारा भारत पहुँचना जारी है। इसी क्रम में फ़्लाइट IX 1204 शुक्रवार को मुम्बई पहुँची,जिसमें 10 राजस्थानी छात्र हैं।
इन छात्रों में अजमेर , उदयपुर , भीलवाड़ा, पाली, कोटा, नागौर और जयपुर के विद्यार्थी शामिल हैं। 
इन विद्यार्थियों को प्रातः 8.55 बजे की फ़्लाइट 6E 5384 से जयपुर भेजा गया है। यह फ़्लाइट 10.30  बजे जयपुर पहुंचेगी। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देश पर हमारी पूरी टीम मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर तैनात है। जहां से बच्चों को रिसीव कर अपने-अपने घर तक भेजने की सारी व्यवस्थाएं राज्य सरकार सुनिश्चित कर रही है।
यूक्रेन से लौट रहे प्रवासियों की सारी व्यवस्थाएं देख रहे नोडल अधिकारी एवं राजस्थान फाउंडेशन के आयुक्त धीरज श्रीवास्तव ने बताया कि राज्य सरकार अपने प्रवासी राजस्थानी नागरिकों को सुरक्षित भारत वापस लाने तथा उन्हें अपने गंतव्य स्थानों पर पहुँचाने के लिए प्रतिबद्ध है।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत स्वयं दिन- रात समीक्षा कर रहे हैं तथा उन्होंने सभी छात्रों के सुरक्षित भारत पहुंचने के लिए ख़ुशी जताई।
राजस्थान के विद्यार्थियों का राजस्थानी हेल्प डेस्क पर स्वागत किया गया। राजस्थान भवन, मुंबई के अधिकारी मनोज तिवारी और सौरभ सिन्हा द्वारा इन छात्रों को अपनी इच्छानुसार गंतव्य स्थानों तक पहुँचाने के सभी इंतज़ाम किए गए हैं।
रूसी हमलों से जूझ रहे कीव में एक और भारतीय स्टूडेंट घायल हो गया। घटना 4 दिन पहले हुई थी।
शुक्रवार सुबह यह जानकारी पोलैंड के रेजेजो एयरपोर्ट पर मौजूद रिटायर जनरल वीके सिंह ने दी थी। घायल छात्र का नाम हरजोत सिंह है। वह कार से लीव सिटी की तरफ जा रहा था। हरजोत ने बताया कि उसे कंधे और सीने में गोली लगी थी और पैर फ्रैक्चर हो गया है।
हरजोत इस समय कीव के हॉस्पिटल में हैं। वहीं से ट्वीट के जरिए भारत सरकार से मदद मांगी है। हरजोत की तरह कई और स्टूडेंट कीव में अभी भी फंसे हुए हैं।
गौरतलब है कि यूक्रेन में लगभग 1008 प्रवासी राजस्थानी नागरिक व छात्र रहते है जिसमे से 207 सकुशल राजस्थान लौट आये है।
उन्होंने कहा कि राजस्थान सरकार शेष छात्र-छात्राओं व प्रवासियों को राजस्थान लाने के लिए हर स्तर पर गंभीर प्रयास कर रही है। 
रावत ने विधानसभा में स्थगन प्रस्ताव पर वक्तव्य दे रही थी। वाणिज्य मंत्री ने सदन को अवगत करवाया कि 24 फरवरी को रूस द्वारा यूक्रेन पर आक्रमण करने के बाद गंभीर स्थिति उत्पन्न हो गई है। 
यूक्रेन के खारकीव, कीव व अन्य स्थानों पर राजस्थान के लगभग 1008 नागरिक एवं छात्र फंसे हुए है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देशानुसार यूक्रेन में फंसे राजस्थानियों की सुरक्षित वापसी के लिए 22 फरवरी को राजस्थान फाउंडेशन के आयुक्त धीरज श्रीवास्तव को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। 

Must Read: अफगानिस्तान के कंधार में भारतीय फोटो जर्नलिस्ट दानिश सिद्दीकी के निधन पर तालिबान ने जताया दुख

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :