पाकिस्तान की असेंबली में सियासी ड्रामा: पाकिस्तान की राजनीति में चल रहा ड्रामा, इमरान सरकार के खिलाफ विपक्ष का अविश्वास प्रस्ताव खारिज

भारत के पड़ौसी देश पाकिस्तान की नेशनल असेंबली भंग हो गई। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को कुर्सी से हटाने की विपक्ष की कोशिश फिलहाल नाकाम हो गई। पाक असेंबली के डिप्टी स्पीकर ने अनुच्छेद पांच के तहत विपक्ष का अविश्वास प्रस्ताव आज खारिज हो गया।

पाकिस्तान की राजनीति में चल रहा ड्रामा, इमरान सरकार के खिलाफ विपक्ष का अविश्वास प्रस्ताव खारिज

नई दिल्ली, एजेंसी। 
भारत के पड़ौसी देश पाकिस्तान की नेशनल असेंबली भंग हो गई। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को कुर्सी से हटाने की विपक्ष की कोशिश फिलहाल नाकाम हो गई। 
पाक असेंबली के डिप्टी स्पीकर ने अनुच्छेद पांच के तहत विपक्ष का अविश्वास प्रस्ताव आज खारिज हो गया। 
वहीं दूसरी ओर इसके बाद इमरान खान की सिफारिश पर राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने नेशनल असेंबली को भंग कर दिया। ऐसे में अब पाकिस्तान में 90 दिनों के अंदर आम चुनाव कराए जाएंगे। इमरान खान तब तक पाकिस्तान के कार्यवाहक प्रधानमंत्री बने रहेंगे। 
इधर, पाकिस्तान की असेंबली में विपक्षी पार्टियों की ओर से पीएम के दावेदार शहबाज शरीफ ने सोशल मीडिया पर लिखा कि पीएम इमरान खान देश को अराजकता की ओर धकेल रहे है। 
इमरान ने जो किया है वह देशद्रोह से कम नहीं है। इन्हें संविधान के खुलेआम उल्लंघन का परिणाम तो भुगतना पड़ेगा।

पाकिस्तान की असेंबली में इससे पहले विपक्षी पार्टियों की ओर से संसद स्पीकर असद कैसर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस दिया था। 
विपक्षी पार्टियों का कहना था कि कैसर निष्पक्ष होकर कार्यवाही नहीं कर रहे है।
इधर, आज असेंबली की कार्यवाही से पहले पाकिस्तान के इस्लामाबाद में कर्फ्यू लगा दिया गया। अविश्वास प्रस्ताव के बीच वोटिंग से पहले यहां कर्फ्यू लगा दिया। 
सुरक्षा एजेंसियों को अलर्ट करते हुए तीन हजार पुलिस जवानों को संसद के आसपास तैनात कर दिया गया। संसद भवन की ओर जाने वाले रास्तों को पुलिस ने बंद कर दिया तथा रेंजर्स को भी स्टैंडबाय पर रखा गया था। 
बताया जा रहा है कि ऐसा इस लिए किया गया ताकि ऐसा अंदेशा था कि इमरान खान के समर्थक राजधानी पहुंच सकते हैं। जबकि विपक्ष की ओर से प्रदर्शन की आशंका जताई गई थी। 
पाकिस्तान की खुफिया एजेंसियों ने ​अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग के पहले और बाद में हिंसा की आशंका जताई थी।

Must Read: अमेरिका के टेक्सास राज्य में कोरोना संक्रमण से हालात खराब, अस्पताल में बेड तक नहीं है खाली

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :