अमेरिका के अलास्का में भूकंप: अलास्का में भूकंप के बाद जियोलॉजिक सर्वे ने जारी की सुनामी की चेतावनी

अमेरिका के प्रायद्वीप अलास्का में बुधवार देर रात भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिक्टर पैमाने पर तीव्रता तेज होने पर यूनाइटेड स्टेट्स जियोलॉजिकल सर्वे ने अब सुनामी की चेतावनी जारी कर दी है। आप को बता दें कि रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 8.2 बताई जा रही है।

अलास्का में भूकंप के बाद जियोलॉजिक सर्वे ने जारी की सुनामी की चेतावनी

नई दिल्ली। 
अमेरिका (America) के प्रायद्वीप अलास्का (Alaska) में बुधवार देर रात भूकंप (Earthquake) के झटके महसूस किए गए। रिक्टर पैमाने पर तीव्रता तेज होने पर यूनाइटेड स्टेट्स जियोलॉजिकल सर्वे(United States Geological Survey) ने अब सुनामी (tsunami) की चेतावनी जारी कर दी है। आप को बता दें कि रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 8.2 बताई जा रही है। जबकि इससे कम तीव्रता पर भी इस इलाके में सुनामी आ  चुकी है ऐसे में अब सुनामी को लेकर चेतावनी जारी की गई है। यूनाइटेड स्टेट्स जियोलॉजिकल सर्वे USGS ने बताया कि भूकंप का केंद्र पेरीविले से 56 मील (91 किलोमीटर) दक्षिण-पूर्व में रहा। पेरीविल अलास्का (Periville Alaska) के सबसे बड़े शहर एंकरेज से करीब 500 मील की दूरी पर एक छोटा सा गांव है। अलास्का भूकंपीय रूप से सक्रिय पैसिफिक रिंग ऑफ फायर का हिस्सा है।
7.5 तीव्रता पर आ चुका भूकंप
जानकारी के मुताबिक पिछले साल अक्टूबर में अलास्का के दक्षिणी तट (south coast of alaska) पर 7.5 तीव्रता के भूकंप के कारण सुनामी लहरें आई थी। हालांकि उस वक्त कोई हताहत नहीं हुआ था। वहीं, मार्च 1964 में अलास्का में 9.2 तीव्रता का भूकंप आया था, जो उत्तरी अमेरिका (America)  में अब तक का सबसे विनाशकारी अर्थक्वेक बताया गया था। इसकी चपेट में आकर एंकरेज इलाका तबाह हो गया। इसके साथ ही सुनामी ने अलास्का की खाड़ी, अमेरिका के पश्चिमी तट और हवाई को भारी नुकसान पहुंचाया। भूकंप और सुनामी से 250 से अधिक लोग मारे गए थे।
विशेषज्ञों के मुताबिक 6 की तीव्रता वाला भूकंप भी खतरनाक 
जानकारी के मुताबिक भूगर्भ वैज्ञानिकों (Geologists) के मुताबिक की माने तो भूकंप की असली वजह टेक्टोनिकल प्लेटों (tectonic plates)में तेज हलचल होती है। इसके अलावा उल्का प्रभाव (Meteor impact) और ज्वालामुखी विस्फोट(volcanic eruption), माइन टेस्टिंग और न्यूक्लियर टेस्टिंग की वजह से भी भूकंप आते हैं। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता मापी जाती है। इस स्केल पर 2.0 या 3.0 की तीव्रता का भूकंप हल्का होता है, जबकि 6 की तीव्रता का मतलब शक्तिशाली भूकंप होता है।

Must Read: श्रीलंका में भारतीय अधिकारी गंभीर घायल, उच्चायोग ने दी नागरिकों को सावधान रहने की सलाह

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :