टोक्यो ओलिंपिक में भारत को ब्रॉन्ज : आखिरकार 41 साल बाद ओलिंपिक में भारत ने हॉकी में जीता मेडल, भारत ने जर्मनी को 5-4 से हराया

आखिरकार भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने आज इतिहास रच दिया है। भारतीय हॉकी टीम ने 41 साल बाद भारत को हॉकी में पदक दिला दिया। ओलिंपिक में भारत की हॉकी टीम को आखिरी पदक 1980 में मॉस्को में मिला था, जब भारतीय टीम के कप्तान वासुदेवन भास्करन थे। टोक्यो ओलिंपिक में गुरुवार को हुए मैच में टीम इंडिया ने ब्रॉन्ज मेडल में जर्मनी को 5-4

आखिरकार 41 साल बाद ओलिंपिक में भारत ने हॉकी में जीता मेडल, भारत ने जर्मनी को 5-4 से हराया

नई दिल्ली, एजेंसी। 
आखिरकार भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने आज इतिहास रच दिया है। भारतीय हॉकी टीम(Indian hockey team) ने 41 साल बाद भारत को हॉकी में पदक दिला दिया। ओलिंपिक में भारत की हॉकी टीम को आखिरी पदक 1980 में मॉस्को में मिला था, जब भारतीय टीम के कप्तान वासुदेवन भास्करन (Vasudevan Bhaskaran) थे। टोक्यो ओलिंपिक में गुरुवार को हुए मैच में टीम इंडिया ने ब्रॉन्ज मेडल (bronze medal) में जर्मनी को 5-4 से हरा दिया। दूसरे क्वार्टर में 3-1 से पिछडऩे के बाद भारत ने जबरदस्त वापसी की और लगातार 4 गोल दागे।

भारत के लिए सिमरनजीत सिंह(Simranjit Singh) ने 17वें और 34वें, हार्दिक सिंह (Hardik Singh) ने 27वें, हरमनप्रीत सिंह ने 29वें और रुपिंदर पाल सिंह ने 31वें मिनट में गोल किया। हालांकि चौथे क्वार्टर में जर्मनी ने एक और गोल दागा और स्कोर 5-4 कर दिया था। इसके बाद भारतीय डिफेंस ने जर्मनी को कोई मौका नहीं दिया। भारतीय हॉकी टीम की जीत के बाद कप्तान मनप्रीत सिंह (Captain Manpreet Singh) ने कहा कि मुझे लगता है कि इस ओलिंपिक में खिलाडिय़ों ने बहुत मेहनत की है और वे मेडल डिजर्व करते हैं। खुशी जाहिर करने के लिए शब्द नहीं हैं मेरे पास। हमारे गोलकपीर श्रीजेश ने कहा था कि जर्मनी का मैच प्रेशर वाला मैच है। मनप्रीत ने कहा कि श्रीजेश ने हमें एन्जॉय करने और नेचुरल गेम खेलने कहा था। अगर मेडल और प्रेशर के बारे में ज्यादा सोचेंगे तो परफॉर्म नहीं कर पाएंगे। हमें अपना बेस्ट देना था और हमने यही किया। शुरुआत से लेकर आखिर तक हम लोगों ने हार नहीं मानी। प्रेशर को एन्जॉय किया। भारतीय कोच ग्राहम रीड ने कहा कि आखिरी मैच में दबाव और तनाव था, लेकिन हम संतुलित थे।

सबकुछ बहुत अच्छा हो गया। गोलकीपर पीआर श्रीजेश ने कहा कि डेढ़ साल तक हार्डवर्क किया है। हमारा सिर्फ यही लक्ष्य था कि जीतना है। अब डेढ़ साल की मेहनत रंग लाई है।

प्रधानमंत्री मोदी ने टीम इंडिया को बधाई दी
वहीं हॉकी में मेडल जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi)ने भारतीय पुरुष हॉकी टीम को ओलिंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीतने पर बधाई दी है। उन्होंने कहा कि ये एक ऐतिहासिक दिन है। ये दिन हर भारतीय के जेहन में हमेशा मौजूद रहेगा। टीम इंडिया को ब्रॉन्ज घर लाने के लिए बधाई। उन्होंने हमारे देश के युवाओं को नई उम्मीद दी है। भारत को अपनी हॉकी टीम पर गर्व है।

Must Read: महिला वर्ल्ड कप में बांग्लादेश को टीम इंडिया ने 110 रनों से हराया, स्नेह राणा ने चटकाए 4 विकेट

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :