टोक्यो ओलिंपिक 2020: टोक्यो ओलिंपिक में पुरुष हॉकी टीम सेमीफाइनल में हुई बाहर, अब ब्रॉन्ज मेडल की उम्मीद

टोक्यो ओलिंपिक में मंगलवार को पुरुष हॉकी टीम सेमीफाइनल मैच हार गई। वल्र्ड चैंपियन बेल्जियम ने भारत को 5-2 से हरा दिया। इसी के साथ भारत का गोल्ड का सफर थम गया। हालांकि भारत के पास अभी तक ब्रॉन्ज मेडल जीतने का मौका है। आज सुबह हुए मैच में हाफ टाइम तक भारत और बेल्जियम दोनों टीमें 2-2 की बराबरी पर थी।

टोक्यो ओलिंपिक में पुरुष हॉकी टीम सेमीफाइनल में हुई बाहर, अब ब्रॉन्ज मेडल की उम्मीद

नई दिल्ली, एजेंसी। 
टोक्यो ओलिंपिक (Tokyo Olympic) में मंगलवार को पुरुष हॉकी टीम सेमीफाइनल मैच हार गई।  चैंपियन बेल्जियम(Belgium) ने भारत को 5-2 से हरा दिया। इसी के साथ भारत का गोल्ड का सफर थम गया। हालांकि भारत के पास अभी तक ब्रॉन्ज मेडल जीतने का मौका है। आज सुबह हुए मैच में हाफ टाइम तक भारत और बेल्जियम दोनों टीमें 2-2 की बराबरी पर थी। भारत इस मैच में एक समय 2-1 से आगे था। इसके बाद बेल्जियम में चार गोल और कर दिए। मैच के चौथे क्वार्टर में बेल्जियम की टीम की ओर से तीन गोल किए गए। भारतीय हॉकी टीम(Indian hockey team) के लिए ओलिंपिक में बेल्जियम का सामना करना हाल के सालों में काफी मुश्किल भरा रहा है। बेल्जियम ने 2012 लंदन ओलिंपिक में भारत को 3-0 से और 2016 रियो ओलिंपिक में 3-1 से हराया था। लंदन में दोनों टीमें पूल स्टेज में भिड़ी थीं। वहीं रियो में दोनों का सामना क्वार्टर फाइनल में हुआ था।

बेल्जियम ने पेनल्टी कॉर्नर से किया पहला गोल
भारत के खिलाफ बेल्जियम टीम ने 1 मिनट 4 सेकंड में ही पेनल्टी कॉर्नर पर पहला गोल कर दिया। मैच के दूसरे मिनट में ही बेल्जियम के लॉयक लुइपर्ट (loypert)ने गोल करने में कोई गलती नहीं की। पहला गोल खाने के बाद भारत ने जबरदस्त वापसी की और महज कुछ  देर बाद 7वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर मिला। हरमनप्रीत(Harmanpreet) ने ड्रैग फ्लिक लिया और भारत के लिए गोल दागा। इसके बाद मंदीप सिंह (Mandeep Singh) ने 8वें मिनट में शानदार बैकहैंड शॉट से फील्ड गोल किया। पहला क्वार्टर खत्म होने के बाद भारतीय टीम (Indian team)ने बेल्जियम पर 2-1 की लीड बनाई हुई थी। इसके बाद दूसरे क्वार्टर के 19वें मिनट में बेल्जियम को एक और पेनल्टी कॉर्नर मिल गया। वल्र्ड के बेस्ट ड्रैग फ्लिकर्स में से एक एलेक्जेंडर हेंड्रिक्स ने इस मौके को भुनाया और शानदार गोल दाग स्कोर 2-2 से बराबर कर लिया। इसके बाद चौथे क्वार्टर में बेल्जियम ने एक के बाद एक कई पेनल्टी कॉर्नर लिए। 49वें, 53वें और 60वें मिनट में बेल्जियम ने 3 गोल दाग मैच जीत लिया। एलेक्जेंडर ने मैच में 3 गोल दागे।
ऑस्ट्रेलिया या जर्मनी से हो सकता है ब्रॉन्ज का मुकाबला
अब ब्रॉन्ज मेडल के लिए भारत का मुकाबला ऑस्ट्रेलिया और जर्मनी (Australia and Germany) के बीच होने वाले सेमीफाइनल में हारने वाली टीम से होगा। अगर भारतीय टीम वह मुकाबला जीत लेती है तो 41 साल बाद पुरुष हॉकी टीम को ओलिंपिक मेडल मिल सकता है। आपको बता दें कि टोक्यो ओलिंपिक (Tokyo Olympic)के सेमीफाइनल से पहले बेल्जियम के खिलाफ भारत ने पिछले 5 मुकाबलों में से 4 में जीत हासिल की थी। 2019 में बेल्जियम के दौरे पर भारत ने मेजबान टीम को 3 में से 3 मैचों में हराया था। उस दौरे पर भारत ने 2-0, 3-1 और 5-1 से जीत हासिल की थी। लेकिन, ओलिंपिक में बेल्जियम एक बार फिर भारी पड़ा। बेल्जियम की टीम इस ओलिंपिक में अब तक सबसे ज्यादा गोल करने वाली टीम है। उसने सेमीफाइन सहित कुल 34 गोल किए हैं। यानी उसके तमाम खिलाड़ी इस समय बेहतरीन गोल स्कोरिंग फॉर्म में है।

Must Read: आईपीएल में आज शाम मुंबई इंडियंस और चेन्नई का दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में होगा मुकाबला, मैच से पहले सचिन ने शेयर किया वीडियो

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :