Mumbai-Delhi ग्रीनफील्ड हाइवे निरीक्षण: दिल्ली से जयपुर के मध्यम बनाया जाए इलेक्ट्रिक हाईवे, इस हाईवे पर चले केवल इलेक्ट्रिक वाहन: केंद्रीय मंत्री गडकरी

केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार को मुंबई—दिल्ली ग्रीनफील्ड हाईवे का निरीक्षण किया। इस दौरान राजस्थान के दौसा में गडकरी ने मीडिया से बातचीत में कहा कि मेरा सपना है कि दिल्ली से जयपुर के मध्य इलेक्ट्रिक हाईवे बनाया जाए। इस इलेक्ट्रिक हाईवे पर केवल इलेक्ट्रिक बस, ट्रक सहित अन्य इलेक्ट्रिक वाहन ही चले।

दिल्ली से जयपुर के मध्यम बनाया जाए इलेक्ट्रिक हाईवे, इस हाईवे पर चले केवल इलेक्ट्रिक वाहन: केंद्रीय मंत्री गडकरी

दौसा राजस्थान। 
केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी(Union Minister Nitin Gadkari) ने गुरुवार को मुंबई—दिल्ली ग्रीनफील्ड हाईवे (Mumbai-Delhi Greenfield Highway)का निरीक्षण किया। इस दौरान राजस्थान के दौसा में गडकरी ने मीडिया से बातचीत में कहा कि मेरा सपना है कि दिल्ली से जयपुर के मध्य इलेक्ट्रिक हाईवे बनाया जाए। इस इलेक्ट्रिक हाईवे पर केवल इलेक्ट्रिक बस, ट्रक सहित अन्य इलेक्ट्रिक वाहन ही चले। इलेक्ट्रिक हाईवे को जल्द ही मूर्त रूप दिया जाएगा। केंद्रीय मंत्री गडकरी ने कहा कि दिल्ली से किशनगढ़(Delhi to Kishangarh) तक हाईवे सुधार के लिए नया डीपीआर बनवाया जा रहा है। करीबन 1200 करोड़ की लागत से फ्लाइओवर बनाने सहित सुधार कार्य किए जाएंगे। यह कार्य अगले डेढ साल में 100 प्रतिशत हो जाएगा। गडकरी ने कहा कि दिल्ली जयपुर हाईवे पर कई जगह अतिक्रमण है, इसे जल्द ठीक किया जाएगा।

पेट्रोल—डीजल की जगह इथेनॉल
केंद्रीय मंत्री गडकरी ने कहा कि हम डीजल-पेट्रोल की जगह देश में इथेनॉल(Ethanol) से वाहन चलाना चाहते हैं। इस संबंध में कानून में भी बदलाव करने जा रहे हैं। पहले फेज में दो साल से स्कूटर और मोटर साइकिल इथेनॉल से चलाने की व्यवस्था होगी। एक अनुमान के मुताबिक इथेनॉल 65 रुपए लीटर में मिलेगा।
वाहनों के हॉर्न में वाद्य यंत्रों की धुन
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि वाहनों के हॉर्न में अब भारतीय  वाद्य यंत्रों (Indian musical instruments)की धुन सुनाई देगी। वाहनों के हॉर्न में सारंगी, तबला, हार्मोनियम सहित भारतीय म्यूजिक इंस्ट्रूमेंट की धुनें लगाई जाएंगी।  इससे साउंड पॉल्युशन कम होगा, इसके साथ ही वन्यजीवों के आसपास होकर गुजरने वाले हाईवेज से वन्यजीव परेशान नहीं होंगे।

2 साल में जीपीएस सिस्टम से होगा टोल भुगतान
गडकरी ने कहा कि नेशनल हाईवे और एक्सप्रेस वे(National Highway and Expressway) पर टोल नीति जल्द बदलाव किया जाएगा। वाहन चालक जीतने किलोमीटर हाइवे पर चलेगा, उससे उतना ही टोल लिया जाएगा। अगले 2 साल में GPS सिस्टम से टोल के भुगतान की व्यवस्था शुरू कर दी जाएगी। इसके तहत एक सॉफ्टवेयर तैयार कर सैटेलाइट और GPS से कनेक्ट कर दिया जाएगा। इस कार्यक्रम में गडकरी के साथ सांसद जसकौर मीणा(MP Jaskaur Meena), राज्यसभा सांसद डॉ. किरोड़ीलाल मीणा, ऊर्जा मंत्री बीडी कल्ला, बांदीकुई विधायक जीआर खटाना समेत एनएचएआई के अधिकारी मौजूद थे।
गडकरी की अपील
हाईवे के आसपास जमीन नहीं बेचें किसान
गडकरी ने कहा कि ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस वे(Greenfield Express way) के आसपास राजस्थान सरकार जमीन एक्वायर करें, आप देरी करोगे तो नेता, बिल्डर लोग पहले जमीन ले लेते हैं। बेचारे गरीब किसान जमीन बेच देते हैं। मैं किसानों से कहना चाहता हूं, जमीन पर करोड़ों का भाव आए तो भी बेचना मत, इसे रोककर रखिए। किसी डवलपर के साथ जॉइंट वेंचर करके जमीन को डवलप करके करोड़ों कमा सकते हैं। आजकल लोग हमारे पास हाईवे के लिए जमीन अवाप्त करने के लिए ज्ञापन लेकर आते हैं क्योंकि हम बाजार भाव से ज्यादा पैसा देते हैं। पहले जमीन अवाप्त नहीं करने के ज्ञापन लेकेर आते थे अब ऐसा नहीं है।

Must Read: देश में बढ़ रहे Omicron infection के खतरे से बचाव के लिए केंद्र ने राज्यों को सतर्क रहने की दी सलाह, रात्रि कर्फ्य और त्योहारों पर सख्ती के निर्देश

पढें दिल्ली खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :