Reet Exam 2021 धांधली की जांच CBI से: BJP की ओर से रीट परीक्षा 2021 में हुई धांधली की जांच CBI से कराने की मांग की, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष पूनिया ने सीएम को लिखा पत्र

भाजपा की ओर से रीट परीक्षा 2021 में धांधली का आरोप लगाते हुए इस मामले की भी जांच सीबीआई से कराने की मांग की। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया की ओर से इस मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखा हैं।

BJP की ओर से रीट परीक्षा 2021 में हुई धांधली की जांच CBI से कराने की मांग की, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष पूनिया ने सीएम को लिखा पत्र

जयपुर। 
प्रदेश में अपराध की दर लगातार बढ़ रही है। महिलाओं के प्रति हिंसा और दुष्कर्म की वारदातें भी बढ़ रही हैं। ऐसे में राज्य सरकार की ओर से अलवर की नाबालिग मूक बधिर बच्ची से हुई घटना की जांच सीबीआई से कराने के फैसले को भाजपा ने अपनी जीत बताई।

इसके बाद अब भाजपा की ओर से रीट परीक्षा 2021 में धांधली का आरोप लगाते हुए इस मामले की भी जांच सीबीआई से कराने की मांग की। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया की ओर से इस मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखा हैं।


भाजपा प्रदेशाध्यक्ष पूनिया ने बताया कि सितम्बर 2021 में हुई रीट परीक्षा में लाखों अभ्यर्थी शामिल हुए। इस दौरान समय से पहले ही परीक्षा पेपर बाहर आने, डमी अभ्यर्थियों के बैठने और धांधली से प्रदेश के लाखों युवाओं के सपनों के साथ धोखा हुआ है।

एक ओर राज्य सरकार ने प्रशासनिक सेवाओं के अधिकारियों व कर्मचारियों को पेपर आउट में शामिल मानते निलंबित किया। इस मामले में कुछ कर्मचारियों की गिरफ्तारी भी हुई।

इसके बावजूद पूर्व शिक्षा मंत्री ने बयान जारी किया कि परीक्षा सफल हुई। इस परीक्षा के पेपर लीक व धांधली की खबरें प्रदेश के अलग—अलग जिलों के पेपर में प्रकाशित भी हुई है।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष पूनिया ने कहा कि एसओजी ने भी जांच में बत्तीलाल मीणा और पेपर लीक का मास्टर मांइड भजन लाल को 4 माह बाद गिरफ्तार किया। भजनलाल ने रीट परीक्षा का पेपर 40 लाख रुपए का बेचा था।

जालोर व बाड़मेर में भी पेपर बेचने की बात सामने आई थी। भजनलाल की गिरफ्तारी के बाद जेईएन व एक आरोपी को भी गिरफ्तार किया गया। परीक्षा शुरू होने से पहले ही प्रिंटर से प्रिंट निकाले गए। पूनिया ने बताया कि परिचितों को रीट का पेपर परीक्षा से पहले ही दे दिया गया।

जबकि गंगापुर सिटी में मोबाइल पर एक दिन पहले ही पेपर वायरल हो गया। रीट के पेपर परीक्षा केंद्र पर 8 से 10 लाख रुपए में बेचे गए। 
बीजेपी प्रदेशाध्यख पूनिया ने आरोप लगाए कि राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष की निगरानी में पेपर लीक कांड हुआ। इसके बावजूद उनसे आज तक पूछताछ नहीं हुई। इन सबके अलावा प्रदेश के बेरोजगार लगातार धरना—प्रदर्शन कर रहे हैं। सरकार के मंत्री विधायकों को ज्ञापन दिए गए।

कई परीक्षाओं में इसी तरह की धांधली हुई, लेकिन पेपर लीक मामले में बड़े बड़े लोगों के शामिल होने की जानकारी सामने आई। सरकारी की जांच एजेंसियों पर युवाओं को भरोसा नहीं है। ऐसे में रीट परीक्षा मामले की स्वतंत्र, निष्पक्ष और पारदर्शी जांच सीबीआई से कराई जाए। 

Must Read: तीन बच्चों का पेट भरने के लिए देखें मां ने कैसे किया शिकार, कैमरे में कैद हुआ घटनाक्रम

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :