कोरोना से जीवन बचाने की कवायद: डिफेंस, कैंट और डीआरडीओ अस्पतालों में भी होगा आम लोगों का इलाज: राजनाथ सिंह

देशभर में कोरोना के तेजी से बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बड़ा फैसला किया। उन्होंने आर्मी चीफ एमएम नरवणे, डिफेंस सेके्रटरी अजय कुमार और डीआरडीओ चीफ सतीश रेड्डी से कहा है कि वह डिफेंस, कैंट और डीआरडीओ के अस्पतालों में आम नागरिकों को भी इलाज की सुविधाएं मुहैया कराएं।

डिफेंस, कैंट और डीआरडीओ अस्पतालों में भी होगा आम लोगों का इलाज: राजनाथ सिंह

नई दिल्ली।
देशभर में कोरोना के तेजी से बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath singh) ने बड़ा फैसला किया। उन्होंने आर्मी चीफ एमएम नरवणे (MM Narwane), डिफेंस सेके्रटरी अजय कुमार (Ajay Kumar) और डीआरडीओ चीफ सतीश रेड्डी (Satish Reddy) से कहा है कि वह डिफेंस, कैंट और डीआरडीओ (DRDO) के अस्पतालों में आम नागरिकों को भी इलाज की सुविधाएं मुहैया कराएं। रक्षामंत्री ने सभी आर्मी के लोकल कमांडर्स को अपने राज्यों के मुख्यमंत्रियों से मिलकर उन्हें हर संभव मदद देने के लिए भी कहा है। इसी तरह डिफेंस सेके्रटरी को आदेश दिया गया है कि वह कैंट बोर्ड के सारे अस्पतालों में आम नागरिकों का भी इलाज करें। आप को बता दें कि लगातार तीसरे दिन सोमवार को 2.50 लाख से ज्यादा नए कोरोना मरीज मिले है। हालांकि, अच्छी बात ये है कि रविवार के मुकाबले इसमें गिरावट दर्ज की गई है। पिछले 24 घंटे के अंदर देश में 2 लाख 56 हजार 828 लोग संक्रमित पाए गए। रविवार को 2.75 लाख से ज्यादा लोग पॉजिटिव पाए गए थे। पहली बार रिकॉर्ड 1 लाख 54 हजार 234 लोग ठीक भी हुए। इससे पहले एक दिन में सबसे ज्यादा 18 अप्रेल को 1.43 लाख लोग रिकवर हुए थे।
कोरोना से अब तक 1 लाख 80 हजार 550 लोगों की मौत
कोरोना संक्रमण के चलते जान गंवाने वालों का आंकड़ा 1.80 लाख के पार हो गया। अब तक 1 लाख 80 हजार 550 लोग जान गंवा चुके हैं। हर दिन हो रहीं मौतों के मामले में भारत एक बार फिर से टॉप पर पहुंच गया है। दूसरे नंबर पर ब्राजील और तीसरे पर अमेरिका है। ब्राजील में अभी हर दिन करीब 1,500 लोगों की मौत हो रही हैं, जबकि अमेरिका में यह आंकड़ा 400-600 के बीच रह रहा है। भारत में सोमवार को 1,757 मरीजों की मौत दर्ज की गई।

Must Read: देश में हरियाणा सरकार ने गोरखधंधा शब्द को किया बैन, नाथ समुदाय के गुरु गोरखनाथ के अपमान का मामला

पढें दिल्ली खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :