पीएम मोदी ने जताया दुख: साइरस मिस्त्री की कार एक्सीडेंट में मौत से छाया शोक, क्या महिला चला रही थी कार?

टाटा समूह के पूर्व चेयरमैन साइरस मिस्त्री की कार एक्सीडेंट में मौत से पूरे उद्योग जगत में शोक की लहर दौड़ गई है। साइरस मिस्त्री की आज रविवार को मुंबई में 3 बजे कार का एक्सीडेंट हो गया।

साइरस मिस्त्री की कार एक्सीडेंट में मौत से छाया शोक, क्या महिला चला रही थी कार?

मुंबई | Cyrus Mistry Death: टाटा समूह के पूर्व चेयरमैन साइरस मिस्त्री की कार एक्सीडेंट में मौत से पूरे उद्योग जगत में शोक की लहर दौड़ गई है। साइरस मिस्त्री की आज रविवार को मुंबई में 3 बजे कार का एक्सीडेंट हो गया। उस वक्त कार में चार लोग सवार थे। हादसे में मिस्त्री के अलावा एक अन्य व्यक्ति की भी मौत हो गई जबकि, दो लोग घायल हो गए हैं। साइरस मिस्त्री का पार्थिव शरीर कासा के एक सरकारी अस्पताल में रखवाया गया है। 

दुर्घटना की विस्तृत जांच के निर्देश
साइरस मिस्त्री के निधन पर उद्योग जगत के अलावा राजनीतिक हस्तियां भी शोक जता रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी साइरस मिस्त्री की मौत पर शोक जताया है। मिस्त्री के निधन पर महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने भी दुख व्यक्त करते हुए इस दुर्घटना की विस्तृत जांच के निर्देश दिए हैं।

ये भी पढ़ें:-टाटा संस के पूर्व चेयरमैन साइरस मिस्त्री की कार एक्सीडेंट में मौत, हादसे का वीडियो आया सामने

डिवाइडर से टकराकर दुर्घटनाग्रस्त हुई कार
जानकारी के अनुसार, रविवार को साइरस मिस्त्री अपने तीन साथियों के साथ अहमदाबाद से मुंबई आ रहे थे। जिनके नाम जहांगीर दिनशॉ पंडोल, अनाहिता पंडोल, डेरियस पंडोल बताए जा रहे हैं। तभी पालघर के पास मुंबई-अहमदाबाद नेशनल हाईवे पर उनकी कार डिवाइडर में टकराने के बाद दुर्घटनाग्रस्त हो गई। जिसमें साइरस मिस्त्री और जहांगीर पंडोल की मौत हो गई और दो घायल हो गए। घायलों को नजदीक के वापी अस्पताल में ले जाया गया है।

...तो क्या महिला चला रही थी कार?
प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, साइरस मिस्त्री की कार को एक महिला चला रही थी। जब कार पुलिया के करीब पहुंची तो उसने अचानक कार पर से नियंत्रण खो दिया। जिससे हादसा हो गया।

पीएम मोदी ने कहा- वाणिज्य और उद्योग जगत के लिए एक बड़ी क्षति
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मिस्त्री के निधन पर दुख जताते हुए कहा कि, साइरस मिस्त्री का असामयिक निधन स्तब्ध करने वाला है। वह एक होनहार व्यवसायी थे, जो भारत की आर्थिक शक्ति में विश्वास करते थे। उनका निधन वाणिज्य और उद्योग जगत के लिए एक बड़ी क्षति है। उनके परिवार और मित्रों के लिए संवेदनाएं, उनकी आत्मा को शांति मिले।

Must Read: बैंक की लापरवाही से गल गए 42 लाख के नोट, कानपुर से चौंकाने वाला मामला

पढें बिज़नेस खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :