Rajasthan इंवेस्टमेंट समिट 2022 : Invest Rajasthan 2022 से पहले आज जयपुर इंवेस्टमेंट समिट में 23 हजार 528 करोड़ के एमओयू व एलओआई किए साइन

प्रदेश में इनवेस्ट राजस्थान 2022 समिट से पहले देश—प्रदेश में इसको लेकर एमओयू साइन किए जा रहे है। इसी कड़ी में आज बुधवार को जयपुर में उद्योग मंत्री शकुंतला रावत की अध्यक्षता में जिला स्तरीय इन्वेस्टमेंट समिट का आयोजन किया गया। इसमें कुल 23 हजार 528 करोड़ से अधिक के एमओयू और एलओआई हुए।

Invest Rajasthan 2022 से पहले आज जयपुर इंवेस्टमेंट समिट में 23 हजार 528 करोड़ के एमओयू व एलओआई किए साइन

जयपुर।
प्रदेश में इनवेस्ट राजस्थान 2022 समिट से पहले देश—प्रदेश में इसको लेकर एमओयू साइन किए जा रहे है। इसी कड़ी में आज बुधवार को जयपुर में उद्योग मंत्री शकुंतला रावत की अध्यक्षता में जिला स्तरीय इन्वेस्टमेंट समिट का आयोजन किया गया।
इसमें कुल 23 हजार 528 करोड़ से अधिक के एमओयू और एलओआई हुए। इससे प्रदेश में 1 लाख 13 हजार से अधिक रोजगार का सृजन होगा।
कार्यक्रम में रावत ने कहा कि इन्वेस्ट राजस्थान समिट को इस बार नए तरीके से कराया जा रहा है। ताकि अधिक से अधिक निवेश प्रस्तावों को जमीन पर उतारा जा सके।
गहलोत सरकार राज्य में पहली बार सम्मेलन से पहले जिलों में भी ऐसे निवेश सम्मेलन करा रही है। इससे सभी जिलों में मुख्य समिट से पहले एक माह तक ये सम्मेलन किए जाएंगे।


रावत ने बताया कि 5 करोड़ रुपए से अधिक के निवेश के लिए एमओयू से लेकर जमीन खरीदने तक की प्रक्रिया इन सम्मेलन में कर लिया जाएगा। जब निवेश जब पक्का हो जाएगा तो उद्घाटन शिलान्यास के स्तर पर ही इसे मुख्य समिट तक लाया जाएगा।
उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने आमजन के लिए अनेक जनकल्याणकारी योजनाएं बनाई है। इससे आमजन को ज्यादा से ज्यादा लाभ मिल सके। राज्य में चिरंजीवी योजना, वृद्धावस्था पेंशन योजना, मुख्यमंत्री कन्यादान योजना, निरोगी राजस्थान और किसान मित्र योजना से आमजन जुड़कर लाभ उठा सकता है।
इस अवसर पर पर इलेक्ट्रिक व्हीकल बनाने और स्किल यूनिवर्सिटी की स्थापना के लिए भी एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए।
वहीं सोलर पैनल, इंफ्रास्ट्रक्चर, फूड प्रोसेसिंग, फर्नीचर, ऑटोमोबाइल, जेम्स और ज्वेलरी, प्लाईवुड, होटल और हॉस्पिटल, टेक्सटाइल और गारमेंट से जुड़े उद्योगों की स्थापना के लिए एमओयू और एलओयू पर हस्ताक्षर किए गए।
इस मौके पर उद्योग मंत्री शकुंतला रावत, रीको के इंडिपेंडेंट डायरेक्टर सीताराम अग्रवाल, विधायक अमीन कागजी, विधायक रफीक खान, एसीएस पीएचईडी सुधांश पंत, जयपुर के संभागीय आयुक्त दिनेश यादव, जिला कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा सहित अन्य उच्च अधिकारी  मौजूद रहे।

Must Read: महिला शिक्षकों पर विवादित बयान के बाद महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष ने शिक्षा मंत्री डोटासरा को बताया मूर्ख, मांगा इस्तीफा

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :