जोधपुर के जालोरी गेट पर विवाद: जोधपुर के जालोरी गेट पर नारेबाजी का वीडियो वायरल, घरों में घुसकर फेंके पत्थर, तेजाब की बोतलें

मुख्यमंत्री गहलोत के गृह जिले जोधपुर में सोमवार रात जालोरी गेट सर्किल पर ध्वज फहराने के बाद माहौल गरमा गया। ध्वज फहराने, स्वतंत्रता सैनानी बाल मुकुंद बिस्सा की प्रतिमा पर पर्दा डालने के साथ ही नारे लगाने के बाद पत्थर बाजी हुई।

जोधपुर के जालोरी गेट पर नारेबाजी का वीडियो वायरल, घरों में घुसकर फेंके पत्थर, तेजाब की बोतलें

जोधपुर | मुख्यमंत्री गहलोत के गृह जिले जोधपुर में सोमवार रात जालोरी गेट सर्किल पर माहौल गरमा गया। समुदाय विशेष के लोगों द्वारा ध्वज फहराने, स्वतंत्रता सैनानी बाल मुकुंद बिस्सा की प्रतिमा पर पर्दा डालने के साथ ही नारे लगाने के बाद पत्थर बाजी हुई। एक समुदाय के लोगों ने रात को कई इलाकों में पत्थरबाजी की, घरों में घुसकर मारपीट की तथा राह चलते लोगों पर चाकू से हमला किया। इन सबके वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे है। ट्वीटर पर हेशटेग जोधपुर हिंसा वायरल हो रही है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक जोधपुर के भीतरी तंग गलियों में 14 मोहल्लों में लोगों ने पत्थरबाजी की। इसके चलते आखातीज तथा ईद त्योहार पर पुलिस को कर्फ्यू लगाना पड़ा। लेकिन इसके बाद भी मंगलवार को ईद की नमाज के बाद फिर से पत्थरबाजी की घटना होना सामने आया। कर्फ्यू के बावजूद हजारों की तादाद में लोग एकत्रित हो गए और शहरभर में तोड़फोड़ करते हुए पत्थरबाजी की।

जोधपुर के जालोरी गेट पर स्वतंत्रता ​सेनानी बालमुकुंद बिस्सा की प्रतिमा पर झंड़ा लगाया गया। इसके बाद से ही विवाद शुरू हो गया था।

सोमवार रात के बाद मंगलवार सुबह फिर से पत्थरबाजी
जोधपुर में समुदाय विशेष के लोगों द्वारा 12 घंटे में तीन बार पत्थरबाजी की, लेकिन पुलिस और पुलिस की खुफिया एंजेसियां सब फेल हो गई। कर्फ्यू के बावजूद हजारों की संख्या में उपद्रवियों ने जमकर उत्पात मचाया। 

जोधपुर के कबूतरों के चौक में एक व्यक्ति की पीठ में चाकू से हमला किया गया। बदमाशों ने महिलाओं के साथ छेड़खानी की। वहीं शनिचरजी का थान, भीमजी की हथाई, घोड़ों का चौक मोहल्लों में भी उपद्रवियों की भीड़ ने पत्थरबाजी की। लोगों ने यहां घरों को निशाना बनाया। एक रिपोर्ट के मुताबिक करीबन 40 से अधिक वाहनों में तोड़फोड़ की गई।

मंत्रियों के साथ आलाधिकारी पहुंचे जोधपुर 
जोधपुर में हिंसा की घटना के बाद एक ओर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपना जन्मदिन पर कार्यक्रम को रद्द कर दिया और हाई लेवल मीटिंग की। सीएम ने सीसीटीवी फुटेज तक देखे और अधिकारियों के साथ सरकार के मंत्रियों को जोधपुर भेजा।  मंत्री सुभाष गर्ग ने बताया कि 50 से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया है। 

Must Read: राजस्थान में फसलों को आवारा मवेशियों से बचाने के लिए सरकार की तारबंदी योजना कारगर, तार लगाने में मिलेगी 50 फीसदी तक सब्सिडी

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :