मोदी की बैठक के बाद पाक में खलबली: कश्मीर के नेताओं के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बैठक के बाद पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने इसे बताया ड्रामा

कश्मीर के नेताओं के साथ देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बातचीत के बाद पाकिस्तान में खलबली मची हुई है। शुक्रवार को पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने इसे ड्रामा और पब्लिक रिलेशन एक्सरसाइज बताया है। कुरैशी ने कहा कि गुरुवार को जो मोदी ने मीटिंग की है,

कश्मीर के नेताओं के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बैठक के बाद पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने इसे बताया ड्रामा


नई दिल्ली।
कश्मीर के नेताओं के साथ देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) की बातचीत के बाद पाकिस्तान में खलबली मची हुई है। शुक्रवार को पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ( Shah Mehmood Qureshi) ने इसे ड्रामा और पब्लिक रिलेशन एक्सरसाइज बताया है। कुरैशी ने कहा कि गुरुवार को जो मोदी ने मीटिंग की है, उससे कुछ हासिल होने वाला नहीं है। आप को बता दें कि मोदी ने गुरुवार को कश्मीरी नेताओं के साथ अहम मीटिंग की थी। इसमें कश्मीर के तमाम बड़े नेता शामिल हुए थे। तीन घंटे चली मीटिंग में PM ने इन नेताओं की बातों को ध्यान से सुना और फिर अपनी भी बात कही थी।Pak Foreign Minister Qureshi ने शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में नई दिल्ली में हुई मीटिंग पर सवालों के जवाब दिए। कहा कि मेरे हिसाब से तो यह मीटिंग एक ड्रामे से ज्यादा कुछ नहीं थी। बहुत ज्यादा कहें तो यह एक पब्लिक रिलेशन एक्सरसाइज थी। लेकिन, इन चीजों से कुछ हासिल नहीं होने वाला। यह नाकामयाब और बेकार की कवायद है, क्योंकि इस तरह की चीजों से कुछ हासिल होने वाला नहीं है।
Pak Foreign Minister Qureshi ने कहा कि  कश्मीरियों को अब भी अपनी पहचान की तलाश है। वो आजादी और स्वायत्तता चाहते हैं। उन्हें सुरक्षा भी चाहिए और भारत वहां जो आबादी में बदलाव की कोशिश कर रहा है, उसे वहां के लोग कभी स्वीकार नहीं करेंगे। भारत में कश्मीरी नेताओं ने पहले ही साफ कह दिया था कि भारत सरकार 5 अगस्त 2019 को उठाए गए कदमों को वापस ले, आर्टिकल 370 और धारा 35ए को बहाल करें। मोदी से मीटिंग में इन नेताओं को इस बारे में कोई ठोस जवाब या भरोसा नहीं दिलाया गया कि राज्य का दर्जा फिर कब बहाल किया जाएगा।

गुरुवार को Modi की बैठक में शामिल हुए 8 दलों के नेता

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने गुरुवार को जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) पर 8 दलों के 14 नेताओं के साथ करीब 3 घंटे तक बैठक की थी। PM  आवास पर हुई इस मीटिंग में मोदी ने संदेश दिया कि Jammu and Kashmir से दिल्ली और दिल की दूरी कम होगी। उन्होंने परिसीमन के बाद जल्द विधानसभा चुनाव कराए जाने के भी संकेत दिए। बैठक में जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) , उमर अब्दुल्ला(Omar Abdullah) , महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti ) समेत गुपकार अलायंस के बड़े नेता भी मौजूद थे। इनके अलावा गृह मंत्री अमित शाह, केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद भी बैठक में शामिल हुए।

Must Read: थाईलैंड की अदालत ने प्रधानमंत्री को पद से किया सस्पेंड

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :