चाकूबाजी में घायल युवक की मौत: सिरोही में चाकूबाजी के 15 दिन बाद इलाज के दौरान घायल ने तोड़ा दम, पुलिस का दावा 5 दिन में गिरफ्तार कर लेंगे आरोपी, सवाल: 15 दिन में क्यों नहीं हुई गिरफ्तारी

307 जैसे गंभीर आईपीसी की धारा में नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी 15 दिनों में भी नहीं हो पाई। अब जब 15 दिन बाद घटना के गंभीर घायल युवक की इलाज के दौरान मौत हो गई तो पुलिस महकमे के अधिकारी 5 दिन में आरोपियों को गिरफ्तार करने के दावे कर रही है।

सिरोही में चाकूबाजी के 15 दिन बाद इलाज के दौरान घायल ने तोड़ा दम, पुलिस का दावा 5 दिन में गिरफ्तार कर लेंगे आरोपी, सवाल: 15 दिन में क्यों नहीं हुई गिरफ्तारी

सिरोही(Sirohi)।
सिरोही पुलिस की कार्यशैली का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि 307 जैसे गंभीर आईपीसी की धारा में नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी 15 दिनों में भी नहीं हो पाई। अब जब 15 दिन बाद घटना के गंभीर घायल युवक की इलाज के दौरान मौत हो गई तो पुलिस महकमे के अधिकारी 5 दिन में आरोपियों को गिरफ्तार करने के दावे कर रही है। ऐसे में अब पुलिस पर कई सवाल खड़े हो रहे है। जब वारदात के अगले ही दिन नामजन रिपोर्ट दर्ज करवा दी गई तो पुलिस ने 15 दिनों तक बदमाशों को गिरफ्तार क्यों नहीं किया?, क्या आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए परिवादी को मौत होना ही आवश्यक है? 
जानकारी के मुताबिक सिरोही शहर की पीडब्ल्यूडी कॉलोनी में 3 अप्रेल को दिन दहाड़े एक युवक पर चाकू से वार कर  गम्भीर घायल कर दिया था। परिजनों ने घायल को गुजरात के पालनपुर के अस्पताल में भर्ती कराया। यहां वारदात के 15 दिन बाद गंभीर घायल महेंद्र की इलाज के दौरान मौत हो गई। परिजनों ने मृतक महेंद्र के शव को गुजरात के पालनपुर से सिरोही के जिला अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया दिया।


समाज के लोगों ने जताया विरोध


घायल महेंद्र की मौत की सूचना के बाद समाज के लोग जिला अस्पताल में एकत्रित हो गए। लोगों ने पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने की मांग की। इस पर जांच अधिकारी एससी/एसटी सैल के डिप्टी दिनेश कुमार लोगों को आश्वासन दिया कि  आरोपी को 5 दिन में ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। 

Must Read: अस्पताल में इलाज की जगह मिला घाव! सोती महिला मरीज की पलक कुतर गए चूहे, कोटा में झकझोर देने वाली घटना

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :