मौत के मुंह से वापस आया अनिल: जालोर के लाछड़ी गांव में बोरवेल में गिरे बालक को माधाराम के जुगाड़ से सुरक्षित निकाला बाहर, सीएम ने सोषल मीडिया पर दी बधाई

राजस्थान में जालोर जिले के लाछड़ी गांव में बोरवेल में फंसे बच्चे को गुरुवार देर रात सुरक्षित निकाल लिया गया। रेस्क्यू में लगी  टीम को कामयाबी नहीं मिलने पर स्थानीय व्यक्ति ने देषी जुगाड़ लगाकर बच्चे को महज आधे घंटे मंे सुरक्षित निकाल लिया।

जालोर के लाछड़ी गांव में बोरवेल में गिरे बालक को माधाराम के  जुगाड़ से सुरक्षित निकाला बाहर, सीएम ने सोषल मीडिया पर दी बधाई

जालोर।
राजस्थान में जालोर जिले के लाछड़ी गांव में बोरवेल में फंसे बच्चे को गुरुवार देर रात सुरक्षित निकाल लिया गया। रेस्क्यू में लगी  टीम को कामयाबी नहीं मिलने पर स्थानीय व्यक्ति ने देशी जुगाड़ लगाकर बच्चे को महज आधे घंटे में सुरक्षित निकाल लिया। बच्चे के सुरक्षित बाहर निकालने के बाद प्रशासन के साथ ही परिजनों ने माधाराम को धन्यवाद दिया।


जानकारी के मुताबिक नगाराम देवासी के खेत में खेलते समय 4साल का मासूम बच्चा अनिल गुरूवार सुबह बोरवेल में गिर गया था। बच्चे के बोरवेल में गिरने की सूचना पर स्थानीय प्रशासन के साथ बचाव दल भी मौके पर पहुंच गया। हालांकि काफी प्रयास करने के बाद भी जब बच्चे को बाहर नहीं निकाला जा सका तो स्थानीय निवासी माधाराम ने रात करीब 2.20 बजे बच्चे को सुरक्षित निकाल लिया।

माधाराम ने करीब 25 मिनट में ही बच्चे को सुरक्षित निकाल लिया। यह रेस्क्यू ऑपरेशन करीब 16 घंटे तक चला। बोरवेल में यह बच्चा गुरुवार सुबह गिर गया था और 90 फुट की गहराई पर जाकर फंस गया था। कुएं से मोटर निकालने वाले माधवराम ने लगाया देसी जुगाड़ लगाकर 25 मिनट में 4 साल के मासूम को 90 फीट के बोरवेल से निकाला। 
घटना के 8 घंटे बाद पहुंची थी टीम, बचाने में असफल


बच्चे की स्थिति देखने के लिए बोरवेल में कैमरा डाला गया। रस्सी से पानी की बोतल पहुंचाई, जिसके बाद बच्चे ने पानी पिया। घटना के 8 घंटे बाद बचाव की टीम मौके पर पहुंची और रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया। गांव के लोगों ने पहले देसी जुगाड़ से बच्चे को निकालने की कोशिश की। उन्होंने 10 फीट ऊपर तक बच्चे को खींचा भी, लेकिन वह छूट गया और वापस वह वहीं पहुंच गया। गनीमत रही कि मासूम अनिल बोरवेल में इस तरह फंसा था कि वह खा-पी सकता था। उसे रस्सी के सहारे नीचे खाना और पानी दिया गया। अजमेर और गांधीनगर से आई टीम को रस्क्यू ऑपरेशन में कामयाबी नहीं मिली तो बच्चे के परिजनों और लोगों ने जिला कलेक्टर से निवेदन किया कि स्थानीय व्यक्ति माधाराम की मदद ली जाए। इस पर करीबन 1 बजकर 55 बजे रेस्क्यू शुरू किया और 2 बजकर 20 मिनट पर बच्चे को केवल 25 मिनट में बाहर निकाल लिया गया।
सीएम ने टीम को दी बधाई


मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोशल मीडिया पर 4 साल के अनिल देवासी को बचाने पर पहले स्थानीय प्रशासन को बधाई दी। इसके बाद सीएम ने अनिल के अच्छे स्वास्थ्य की कामना की। सीएम ने लिखा कि यह राहत और प्रसन्नता की बात है कि लाछड़ी गांव सांचोर में बोरवेल में गिरे 4 वर्षीय अनिल देवासी को बाहर निकाल लिया गया। स्थानीय प्रशासन और बचाव कार्य में शामिल टीमों का कार्य प्रषंसनीय है।

Must Read: भीलवाड़ा में कांस्टेबल की हत्या करने के आरोपी पाबूराम को सायला में जानलेवा हमले के मामले में प्रोडक्शन वारंट पर जालोर लाया

पढें जालोर खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :