खबर का असर : News Impact : रेमडेसीवीर इंजेक्शन की कालाबाज़ारी पर SOG की बड़ी कार्रवाई

सिरोही जिले के शिवगंज शहर के कुटुंब कॉलोनी स्थित वीनस मेडिकॉज में रेमडेसीवीर इंजेक्शन की कालाबाज़ारी पर SOG की टीम ने बड़ी कार्रवाई करते हुए मेडिकल संचालक क्षितिज मेवाड़ा व उसके सेल्समैन को गिरफ्तार किया हैं। FIRST BHARAT की टीम ने इस पूरे मामले को लेकर एक स्टिंग ऑपरेशन करके इस कालाबाज़ारी के खेल को उजागर किया था।

News Impact  : रेमडेसीवीर इंजेक्शन की कालाबाज़ारी पर SOG की बड़ी कार्रवाई
  • वीनस मेडिकॉज के संचालक व सेल्समैन को किया गिरफ्तार

सिरोही।

सिरोही जिले के शिवगंज शहर के कुटुंब कॉलोनी स्थित वीनस मेडिकॉज में रेमडेसीवीर इंजेक्शन की कालाबाज़ारी पर SOG की टीम ने बड़ी कार्रवाई करते हुए मेडिकल संचालक क्षितिज मेवाड़ा व उसके सेल्समैन को गिरफ्तार किया हैं। FIRST BHARAT की टीम ने इस पूरे मामले को लेकर एक स्टिंग ऑपरेशन करके इस कालाबाज़ारी के खेल को उजागर किया था। खबर प्रसारित होने के बाद एटीएस/एसओजी के एडीजी अशोक राठौड़ के निर्देशन में एसओजी की जोधपुर यूनिट के सीआई जबरसिंह चारण के नेतृत्व में एक टीम शिवगंज भेजी गई। टीम ने बोगस ग्राहक बनकर वीनस मेडिकॉज के संचालक के मोबाइल नम्बर पर सम्पर्क कर रेमडेसीवीर इंजेक्शन की मांग की। जिस पर मेडिकल संचालक क्षितिज मेवाड़ा ने एक रेमडेसीवीर इंजेक्शन 50 हज़ार रुपये में देने की बात कही। जिस पर टीम के सदस्य ने बोगस ग्राहक बनकर दुकान पर जाकर 8 इंजेक्शन खरीदे। इंजेक्शन मिलने का इशारा मिलते ही SOG की टीम ने मौके पर जाकर मेडिकल संचालक क्षितिज मेवाड़ा व उसके एक सेल्समैन को गिरफ्तार किया। दोनो गिरफ्तार आरोपियों को SOG की टीम जोधपुर लेकर रवाना हुई। SOG टीम के सीआई जबरसिंह चारण ने बताया कि इस मेडिकल संचालक को ये इंजेक्शन कौन सप्लाई करता था, इसकी जानकारी की जा रही हैं। साथ ही प्रारम्भिक पूछताछ में जो बातें सामने आई हैं उसके अनुसार दो अलग अलग टीमें भेजकर दोनो सप्लायर को भी गिरफ्तार करने की कार्रवाई शुरू कर दी हैं।

आखिर सिरोही जिला प्रशासन हाथ पर हाथ धरे क्यों बैठा रहा

First Bharat की खबर के बाद SOG की टीम ने इस पूरी कार्रवाई को अंजाम दिया। पर सिरोही जिला प्रशासन, सिरोही का चिकित्सा विभाग और पुलिस प्रशासन हाथ पर हाथ धरे बैठे रहे। First Bharat की टीम ने इस मेडिकल स्टोर पर हो रही रेमडेसीवीर इंजेक्शन की कालाबाज़ारी को लेकर जिला कलेक्टर और एसपी से टेलीफोन पर चर्चा करने की कई बार कोशिश की। लेकिन ना तो जिला कलेक्टर ने फोन उठाने की जहमत की और ना ही पुलिस अधीक्षक ने। इस पूरे मामले में हमारी टीम ने शिवगंज एसडीएम भागीरथराम चौधरी को भी अवगत करवाया। लेकिन उन्होंने कानूनी दांवपेंच की जानकारी लेने की बात कहकर एक दो दिन में कार्रवाई करने की बात कही। पर अभी तक जिले के एक भी अधिकारी ने इस पर कार्रवाई करना उचित नही समझा। ऐसे में ये साफ हो जाता हैं कि सिरोही जिले में एक भी जिम्मेदार अधिकारी अपनी जिम्मेदारी निभाना जरूरी नही समझता हैं। जिसके परिणाम स्वरूप क्षितिज मेवाड़ा जैसे सैकड़ो लोग कालाबाज़ारी कर आमजनता के साथ लूट करने में कामयाब हो जाते हैं। वही जिले की जनता बस इन लूटेरो के आगे लूटती जाती हैं। पर SOG की टीम द्वारा की गई इस कार्रवाई के बाद जिले की जनता में एक बार फिर से उम्मीद की किरण जरूर जगी हैं।

इस मामले को लेकर पूर्व में प्रकाशित हमारी खबर 

https://firstbharat.in/black-market-of-remdesivir-injection-selling-50-to-60-thousand-rupees-for-one-injection