सिरोही : आस्था की सडक़ के लिए जताया आभार, सम्मान कर बढ़ाया मान

आस्था की सडक़ के लिए जताया आभार, सम्मान कर बढ़ाया मान
  • दशकों पुरानी गणकेश्वर महादेव मंदिर सडक़ बनने की जगी आस, तीन करोड़ की लागत से बनेगी सडक़
  • गणकेश्वर महादेव मंदिर प्रांगण में नरेगा मजदूरों के स्नेह मिलन कार्यक्रम में विधायक का श्रमिकों ने किया बहुमान

शिवगंज/सिरोही। उपखंड क्षेत्र के पालड़ी एम से करीब तीन किलोमीटर की दूरी पर अरावली की पहाडिय़ों में स्थित प्राकृतिक शिवलिंग गणकेश्वर महादेव मंदिर की सडक़ का निर्माण करवाने की दशकों पुरानी मांग पूरी होने पर शुक्रवार को नरेगा श्रमिकों की ओर से आयोजित स्नेह मिलन कार्यक्रम में विधायक संयम लोढ़ा का श्रमिकों ने पूरे मान सम्मान के साथ पुष्पहार एवं साफा पहनाकर सम्मान कर उनका आभार प्रकट किया। इस मौके पर विधायक ने गणकेश्वर महादेव मंदिर में पूूजा अर्चना कर जनता की खुशहाली के लिए भगवान शिव से प्रार्थना की।

जानकारी के अनुसार पालड़ी एम सहित आसपास के क्षेत्रों में निवास करने वाले ग्रामीणों के आराध्य गणकेश्वर महादेव मंदिर तक जाने के लिए सडक़ मार्ग काफी पथरीला एवं आवागमन में जटिल होने की वजह से लोगों को मंदिर तक जाने में काफी दुविधाओं का सामना करना पड़ता था। इस सडक़ मार्ग को डामरीकृत करवाने केे लिए ग्रामीण दशकों से मांग करते आ रहे है। बावजूद इसके लंबे समय से तकनीकी कारणों से इसकी स्वीकृति नहीं मिल पा रही थी। विधानसभा चुुनाव के दौरान विधायक लोढ़ा ने ग्रामीणों का इस बात का भरोसा दिलाया था कि उनके विधायक बनने के बाद इस सडक़ को लेकर आ रही तकनीकी दिक्कतों को दूर कर सडक़ का निर्माण करवाया जाएगा। हाल ही में विधायक के प्रयासों के चलते इस सडक को डामरीकृत करवाने के लिए तीन करोड़ रूपयों की वित्तीय एवं प्रशासनिक स्वीकृति प्रदान की गई है। इसके साथ ही श्रद्धालुओं की दशकों पुरानी मांग भी विराम मिल गया।

उत्साह व उमंग के साथ किया स्वागत
गणकेश्वर महादेव मंदिर की सडक़ स्वीकृत होने पर नरेगा मजदूरों की ओर से मंदिर प्रांगण में शुक्रवार को स्नेह मिलन कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। जिसमें श्रमिकों सहित ग्रामीणों ने विधायक लोढ़ा का सडक़ मार्ग स्वीकृत करवाने पर आभार प्रकट किया तथा पूरे मान मनुहार के साथ अपने विधायक का पुष्पहार एवं साफा पहनाकर स्वागत किया। इस मौके पर विधायक लोढ़ा ने कहा कि कोरोना काल के दौरान ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार की समस्या को देखते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बंद पड़े महात्मा गांधी महानरेगा योजना के कार्यो को प्रारंभ करवाने की स्वीकृति प्रदान की थी। उन्होंने कहा कि शिवगंज पहली तहसील थी जहां राज्य में सबसे पहले नरेगा के कार्य प्रारंभ हुए जिससे कई परिवारों को आर्थिक संबल मिला।

विकास के कामों में नहीं होगी कौताही
विधायक लोढ़ा ने कहा कि पिछले ढाई साल के कार्यकाल के दौरान विधानसभा क्षेत्र में विकास के कई कार्य करवाए गए है। अधिकांश जगहों पर जो सडक़े लंबित पड़ी थी उनकी भी स्वीकृति प्रदान करवाई गई है। विधायक ने कहा कि क्षेत्र में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने की दिशा में कार्य करते हुए शिवगंज के अस्पताल को राज्य सरकार ने जिला अस्पताल में क्रमोन्नत किया है। शीघ्र ही यहां पर जिला स्तरीय चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध होगी जिसका लाभ क्षेत्र की जनता को मिलेगा। इसके अलावा पालड़ी से मात्र आठ किलोमीटर की दूरी पर ही मेडीकल कॉलेज का निर्माण भी प्रस्तावित है। मेडीकल कॉलेज बनने के बाद चिकित्सा सेवाओं में बढ़ोतरी तो होगी ही पालड़ी के लोगों को काफी रोजगार भी मिल सकेगा। विद्यालयों में खेल गतिविधियों को बढ़ाने के लिए सभी स्कूलों में खेल मैदान तथा खेल सामग्री के अलावा भवन विस्तार के भी कार्य करवाए गए है। विधायक ने बताया कि जवाई बांध का पानी शिवगंज तहसील के ७१ गांवों को मिले इसके लिए योजना को भी मुख्यमंत्री ने स्वीकृति प्रदान की है। इस योजना को अमलीजामा पहनाने का कार्य प्रारंभ हो गया है। पाइप लाइन सहित अन्य कार्य पूर्ण हो जाने पर पानी की समस्या का स्थाई समाधान संभव हो सकेगा। विधायक ने ग्रामीणों को भरोसा दिलाया कि विकास के कार्यो में किसी प्रकार की कमी नहीं आने दी जाएगी।

पूजा अर्चना कर की खुशहाली की कामना
इस मौके पर विधायक लोढा ने गणकेश्वर महादेव मंदिर के प्राकृतिक शिवलिंग की पूजा अर्चना की तथा भगवान शिव से क्षेत्र सहित पूरे राज्य में खुशहाली की कामना की। इस मौके पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं सहित क्षेत्र के ग्रामीण एवं नरेगा मजदूर उपस्थित थे।

Must Read: पाली के रायपुर तहसीलदार का लेटर विवादों में, एसडीएम, कलेक्टर से लेकर जयपुर के साहब तक पर दबाव का आरोप

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :