Rajasthan BJP रीट परीक्षा का उठाया मामला: रीट परीक्षा में हुई धांधली के बाद भाजपा लगातार कर रही है डोटासरा के इस्तीफे की मांग, अब भाजपा युवा मोर्चा उतरा प्रदर्शन की राह पर

राजस्थान में रीट परीक्षा को लेकर अब विपक्ष ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिए है। भारतीय जनता पार्टी की ओर से जहां एक दिन पहले प्रदेशाध्यक्ष ने मुख्यमंत्री को रीट परीक्षा रद्द करने के साथ शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को बर्खास्त करने की मांग की

रीट परीक्षा में हुई धांधली के बाद  भाजपा लगातार कर रही है डोटासरा के इस्तीफे की मांग, अब भाजपा युवा मोर्चा उतरा प्रदर्शन की राह पर

जयपुर। 
राजस्थान में रीट परीक्षा को लेकर अब विपक्ष ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिए है। भारतीय जनता पार्टी की ओर से जहां एक दिन पहले प्रदेशाध्यक्ष ने मुख्यमंत्री को रीट परीक्षा रद्द करने के साथ शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को बर्खास्त करने की मांग की, वहीं आज रविवार को भाजपा युवा मोर्चा ने परीक्षा में धांधली पर सीबीआई जांच की मांग पर सोमवार से प्रदर्शन करने का ऐलान कर दिया। जानकारी के मुताबिक भाजपा युवा मोर्चा अध्यक्ष हिमांशु शर्मा ने कहा कि प्रदेश के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने लाखों युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया है।  रीट परीक्षा में हाई लेवल पर धांधली हुई है। इस मामले में सीबीआई जांच होनी चाहिए। वहीं दूसरी ओर युवा मोर्चा ने शिक्षा मंत्री से आरएएस परीक्षा के बाद रीट परीक्षा में धांधली पर नैतिकता के आधार पर जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा देने की मांग की। मोर्चा अध्यक्ष हिमांशु शर्मा शिक्षा मंत्री के इस्तीफा नहीं देने की स्थिति में मुख्यमंत्री से बर्खास्त करने की भी मांग की है।

4 अक्टूबर से प्रदेशभर में आंदोलन 
भाजपा युवा मोर्चा अध्यक्ष शर्मा ने बताया कि परीक्षा रद्द करने की मांग पर प्रदेशभर में आंदोलन किया जाएगा। 4 अक्टूबर से सोमवार को प्रदेश के उपखंड स्तर पर धरना—प्रदर्शन करने के बाद ज्ञापन दिया जाएगा। हिमांशु शर्मा आंदोलन की शुरूआत शिक्षामंत्री डोटासरा के गृह जिले सीकर से इस आंदोलन की शुरुआत करेंगे। 
निलंबित करना आंशिक कार्रवाई, परीक्षा रद्द होनी चाहिए
शर्मा ने कहा कि रीट परीक्षा में किस तरह की गड़बड़ियां की गई हैं यह जनता के सामने है। मोबाइल पर पेपर आना और इसके बावजूद पेपर आउट नहीं मानना सरकार की लापरवाही है। इसमें सरकारी तंत्र का भी गलत इस्तेमाल किया गया। राजस्थान की सरकार ने जिन लोगों को हटाया है या पकड़ा है। वह केवल दिखावें की कार्रवाई है। इस मामले में सीबीआई की जांच जरूरी है। लाखों अभ्यर्थियों का भविष्य इस परीक्षा से जुड़ा है। इसलिए इसमें पारदर्शिता अनिवार्य है। शर्मा ने कहा कि सीकर में बड़े आंदोलन कर डोटासरा के गृह जिले सीकर में  वहां के युवाओं और आम लोगों रीट धांधली के बारे में बताया जाएगा।  आरएएस परीक्षा में भी डोटासरा के रिश्तेदारों और परिवार के लोगों,परिचित कैंडिडेट्स के अंकों में अन एक्सपेक्टेड तौर पर बढ़ोतरी कर दी गई, लेकिन सरकार ने कुछ नहीं किया। कांग्रेस के इलेक्शन मैनीफेस्टों में प्रतियोगी परीक्षाओं, रीट की विसंगतियां दूर करने की बातें लिखी थीं। बेरोजगारों को भत्ता देने का वादा किया था। लेकिन विसंगतियां दूर नहीं हुई हैं, उलटे हर परीक्षा में नकल और पेपर लीक हो रहे हैं।

Must Read: Invest Rajasthan 2022 से पहले आज जयपुर इंवेस्टमेंट समिट में 23 हजार 528 करोड़ के एमओयू व एलओआई किए साइन

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :