भारत: कांग्रेस नेताओं को चेतावनी, हिदायत के साथ आईना भी दिखाया कमल नाथ ने

प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में जिला, शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्षों, कांग्रेस द्वारा नियुक्त जिला प्रभारियों, सह प्रभारियों और कांग्रेस विधायकों की संयुक्त महत्वपूर्ण बैठक हुई। इस बैठक में कमल नाथ ने साफ कह दिया कि जो सक्रिय होकर भूमिका नहीं निभा सकते वे पद छोड़ दें, जिन्हें आगे चलकर किसी तरह की दगाबाजी करना है वे अभी साथ छोड़ दें। पार्टी के लिए आने वाले 13 माह महत्वपूर्ण है। जो संगठन के लिए समय दे सकते हैं वे ही जिम्मेदारी संभालें।

कांग्रेस नेताओं को चेतावनी, हिदायत के साथ आईना भी दिखाया कमल नाथ ने
congress meeting
भोपाल 25 अगस्त, (आईएएनएस)। कांग्रेस की मध्यप्रदेश इकाई के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के तेवर तल्ख है और वे आगामी साल में होने वाले विधानसभा के चुनाव में किसी भी तरह की चूक के लिए तैयार नहीं है। यही कारण है कि उन्होंने जिम्मेदार पदाधिकारियों केा चेतावनी दी, हिदायत दी तो बाल कांग्रेस की सक्रियता का जिक्र करते हुए आईना भी दिखाया।

प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में जिला, शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्षों, कांग्रेस द्वारा नियुक्त जिला प्रभारियों, सह प्रभारियों और कांग्रेस विधायकों की संयुक्त महत्वपूर्ण बैठक हुई। इस बैठक में कमल नाथ ने साफ कह दिया कि जो सक्रिय होकर भूमिका नहीं निभा सकते वे पद छोड़ दें, जिन्हें आगे चलकर किसी तरह की दगाबाजी करना है वे अभी साथ छोड़ दें। पार्टी के लिए आने वाले 13 माह महत्वपूर्ण है। जो संगठन के लिए समय दे सकते हैं वे ही जिम्मेदारी संभालें।

कमल नाथ ने अपने संबोधन में कहा कि विधानसभा चुनाव 2023 के चुनाव के लिए मात्र 13 माह बचे हैं। हम सभी आज से कमर कस लें और मैदान में उतर जायें। आज की राजनीति में परिवर्तन आ गया है, आज की राजनीति स्थानीय हो चुकी हैं।

उन्होंने आगे कहा कि प्रदेश के सभी जिलों में प्रभारी और सहप्रभारी बनाये गये हैं जो अपने प्रभार वाले क्षेत्र में जाकर सभी कांग्रेसजनों से समन्वयक बनाकर मण्डलम, सेक्टर, बूथ कमेटियां, पन्ना प्रभारी बनाये, आने वाले 13 माह अग्नि परीक्षा का समय है। सभी अपने 11 महीने के कार्यक्रम बना कर मैदान में उतर जायंे। मतदाता सूची पर भी फोकस करें, ज्यादा से ज्यादा नाम जुड़वायें, कोई नाम बाकी न रहे।

पार्टी की आगामी कार्ययोजना का जिक्र करते हुए कमल नाथ ने कहा कि आगामी दो अक्टूबर, गांधी जयंती से ग्रामीण क्षेत्रांे में गांधी चौपाल आयोजित की जा रही हैं जो 30 जनवरी तक चलेगी उसमें भी ग्रामीणजनों के साथ समन्वय बनाकर ज्यादा से ज्यादा संख्या में शामिल होकर अपनी बात रखें। भाजपा के पुलिस, पैसा और प्रशासन के दुरूपयोग के बावजूद नगरीय निकाय चुनाव व पंचायत चुनाव में हमें व्यापक जनसमर्थन मिला है, उसी उत्साह को हमें 2023 तक कायम रखना है।

राज्य के दो विधानसभा क्षेत्रों रेगांव और दमोह में कांग्रेस की जीत का जिक्र करते हुए कहा यह जीत संगठन की मजबूती के चलते ही संभव हो सका है। मप्र में बाल कांग्रेस का गठन भी किया गया है, बाल कांग्रेस के उत्साह से हमें ताकत व ऊर्जा मिल रही हैं। आगामी समय में हम हर जिले की अलग से बैठकें करेंगे, पार्षदों और सभी निर्वाचित जनपद व पंचायत सदस्यों के साथ बैठकर संवाद करेंगे। आप सभी लोग मोदी-शिवराज सरकार की विफलताओं को जनता के बीच में ले जाएं।

पूर्व मुख्यमंत्री व राज्यसभा सांसद दिग्विजयसिंह ने राहुल गांधी द्वारा की जा रही 3500 किलोमीटर की भारत जोड़ों यात्रा की जानकारी देते हुए बताया कि यह यात्रा पूरे भारत में निकाली जायेगी, जिसमें मप्र का हिस्सा भी शामिल है।

मप्र विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष डॉ. गोविंद सिंह ने कहा कि दिल्ली में आगामी चार सितम्बर को आयोजित महारैली में मप्र से अधिक से अधिक कांग्रेसजन शामिल होकर कांग्रेस को मजबूत करें और ग्वालियर-चंबल क्षेत्र से बड़ी संख्या में लोग दिल्ली पहुंचेंगे।

--आईएएनएस

एसएनपी/एएनएम

Must Read: इंग्लैंड टीम में क्रॉली की जगह हैरी ब्रूक को शामिल किया जाए : एलिस्टेयर कुक

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :