पाली हाइवे पर दर्दनाक हादसा: अनियंत्रित ट्रक से पलटा कंटेनर, कार सवार पति—पत्नी सहित 4 लोगों की दबने से मौके पर ही मौत

पाली जिले में शुक्रवार सुबह एक दर्दनाक हादसे में 4 लोगों की मौत हो गई। ओवरटेक के दौरान अचानक सामने से आ रहे वाहन को देखकर तेज रफ्तार ट्रक अनियंत्रित हो गया। अनियंत्रित ट्रक पर मार्बल से लोड दो कंटेनर रखे हुए थे, जो पलट गए। एक कंटेनर बगल में चल रही कार पर पलट गया जबकि दूसरा सड़क पर गिरा।

अनियंत्रित ट्रक से पलटा कंटेनर, कार सवार पति—पत्नी सहित 4 लोगों की दबने से मौके पर ही मौत


पाली। 
पाली जिले में शुक्रवार सुबह एक दर्दनाक हादसे में 4 लोगों की मौत हो गई। ओवरटेक के दौरान अचानक सामने से आ रहे वाहन को देखकर तेज रफ्तार ट्रक अनियंत्रित हो गया। अनियंत्रित ट्रक पर मार्बल से लोड दो कंटेनर रखे हुए थे, जो पलट गए। एक कंटेनर बगल में चल रही कार पर पलट गया जबकि दूसरा सड़क पर गिरा। भारी-भरकम कंटेनर गिरने से कार बुरी तरह पिचक गई। कार में सवार पति-पत्नी समेत चार लोगों की मौके पर ही दबने से मौत हो गई।

पुलिस के मुताबिक, हादसा सुबह करीब 8 30 बजे बालराई के पास हुआ। जोधपुर से 4 लोग सुबह एक कार में सवार होकर सिरोही की तरफ जा रहे थे। इनमें एक महिला और तीन पुरुष थे। उसी दिशा में एक ट्रक चल रहा था। इसमें दो भारी भरकम कंटेनर रखे हुए थे। कंटेनर में मार्बल भरा था। ट्रक चालक ने तेज रफ्तार में ओवरटेक की कोशिश की। तभी सामने से दूसरा वाहन आता देख ट्रक चालक हड़बड़ा गया और उसने ट्रक को तेजी से घुमाया दिया। इससे ट्रक पर लोड दोनों कंटेनर पलट गए। एक कंटेनर कार पर गिर गया। भारी-भरकम कंटेनर के नीचे कार बुरी तरह पिचक गई। पुलिस ने मौके पर पहुंच जेसीबी की मदद से कंटेनर को हटवाया। तब तक कार में सवार मनोज शर्मा निवासी जालौर, अश्विनी कुमार दवे, उनकी पत्नी रश्मि देवी और बुद्धाराम प्रजापत की मौत हो चुकी थी। ये जोधपुर के रहने वाले थे। पुलिस ने चारों शवों को गुंदोज की मोर्चरी में रखवाया है।

अश्विनी प्राचार्य तो मनोज वित्तीय सलाहकार


अश्विनी दवे जोधपुर की वैदिक कन्या स्कूल में प्राचार्य के पद पर कार्यरत थे। इनके दो बेटे हैं। अश्विनी व मनोज आपस में साढू लगते थे। इनकी बुआ सास का निधन हो गया था। ऐसे में पति-पत्नी व साढू कार चालक के साथ अहमदाबाद शोक संवेदना प्रकट करने जा रहे थे। हादसे में जान गंवाने वाले अश्विनी के साढू मनोज शर्मा की पत्नी को सांडेराव से साथ में लेना था, लेकिन उससे पहले यह हादसा हो गया। मनोज शर्मा अजमेर में ट्रेजरी में ऑफिस में काम करते थे। अभी वे अजमेर मेडिकल कॉलेज के वित्तीय सलाहकार के पद पर काम कर रहे थे। हादसे में मारे गए अश्विनी दवे के पिता मुरलीधर दवे रिटायर्ड तहसीलदार हैं। वह जोधपुर के महामंदिर इलाके के शक्ति नगर में रहते थे। सूचना मिलते ही परिजन व रिश्तेदार शव लेने के लिए गुंदोज रवाना हो गए। घर पर फिलहाल सन्नाटा पसरा है।

Must Read: सिरोही जिला इकाई की ओर से नई धनारी रोड़ स्थित महक विला में जिला स्तरीय पत्रकार सम्मेलन का आयोजन

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :