कांग्रेस का दिल्ली में प्रदर्शन: दिल्ली में यूथ कांग्रेस का प्रदर्शन, पुलिस ने वाटर कैनन से खदेडा, राहुल गांधी ने कार्यकर्ताओं को किया संबोधित

महंगाई और पेगासस कांड को लेकर यूथ कांग्रेस की ओर से गुरुवार को संसद के बाहर प्रदर्शन किया गया। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने संसद का घेराव पहुंचे तो पुलिस ने वाटर कैनन से पानी से उन्हें खदेड दिया। यूथ कांग्रेस के प्रदर्शन में राहुल गांधी भी पहुंचे और मोदी सरकार के खिलाफ जमकर नारे लगाए।

दिल्ली में यूथ कांग्रेस का प्रदर्शन, पुलिस ने वाटर कैनन से खदेडा, राहुल गांधी ने कार्यकर्ताओं को किया संबोधित

नई दिल्ली।
महंगाई और पेगासस कांड को लेकर यूथ कांग्रेस (Youth Congress) की ओर से गुरुवार को संसद(Parliament) के बाहर प्रदर्शन किया गया। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने संसद का घेराव पहुंचे तो पुलिस ने वाटर कैनन से पानी से उन्हें खदेड दिया। यूथ कांग्रेस के प्रदर्शन में राहुल गांधी (MP Rahul Gandhi) भी पहुंचे और मोदी सरकार के खिलाफ जमकर नारे लगाए। प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस नेताओं ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी रोजगार के मुद्दे पर एक शब्द नहीं बोलते।

पिछले 7 सालों में 12 करोड़ युवा नौकरी का इंतजार कर रहे हैं। प्रधानमंत्री ने उन्हें नौकरी देने का वादा किया था, लेकिन उन्होंने करोड़ों युवाओं की नौकरी छीन ली। प्रदर्शन के दौरान राहुल ने कहा कि कांग्रेस के चुने हुए प्रतिनिधि संसद में जनता के हितों के तमाम मुद्दों को लेकर आवाज उठा रहे हैं और हमारे यूथ कांग्रेस के साथी सड़क पर उतर कर मोदी सरकार की नीतियों का विरोध कर रहे हैं।

हम सभी किसान, युवा, महिलाओं सहित महंगाई त्रस्त जनता की आवाज उठाना चाहते हैं लेकिन केंद्र सरकार जनता और विपक्ष की आवाज को दबाना चाहती है। जब तक मोदी सरकार रहेगी ना महंगाई कम होगी युवाओं को रोजगार मिलेगा, ना ही मध्यम लघु उद्योग विकसित हो पाएंगे। मोदी सरकार सांप्रदायिकता के नाम पर देश को बांटने का काम कर रही है।
आज भी सदन में जोरदार हंगामा
आपको बता दें कि संसद  में मानसून सत्र (monsoon session)के तीसरे सप्ताह का आज चौथा दिन है, लेकिन विपक्ष की ओर से आज भी जोरदार हंगामा किया गया। दोनों सदनों में आज भी कामकाज प्रभावित रहा। विपक्षी नेताओं की मांग है कि सदन में इन मुद्दों पर चर्चा की जाए। वहीं, केंद्र का कहना है कि वो हर मसले पर बहस के लिए तैयार है, लेकिन विपक्ष का शोर-शराबा बंद नहीं हो रहा। कार्यवाही 11 बजे शुरू हुई और हंगामे के बाद सदन को 2 तक स्थगित कर दिया गया। इसके बाद कार्यवाही को 4 बजे और फिर 5 बजे तक स्थगित करना पड़ा। वहीं दूसरी ओर राज्यसभा (Rajya Sabha)में कार्यवाही 11 बजे शुरू हुई और हंगामे के बाद सदन को 11.30 तक स्थगित कर दिया गया। इसके बाद कार्यवाही को 2 बजे और फिर 3.40 बजे तक स्थगित करना पड़ा। 3.40 बजे कार्यवाही शुरू होने पर भी हंगामा जारी रहा और कार्यवाही शुक्रवार 11 बजे तक स्थगित कर दी गई। 

Must Read: भारत में कोरोना वैक्सीनेशन के 114 दिन में 17 करोड़ से अधिक लोगों के लगवाया टीका 

पढें दिल्ली खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :