Corona डेल्टा और ओमिक्रॉन संक्रमण खतरनाक: World Health Organization के चीफ ने कोरोना के डेल्टा और ओमिक्रॉन वैरिएंट से सुनामी आने की जताई आशंका, वैक्सीनेशन पर दिया जोर

विश्व स्वास्थ्य संगठन के चीफ ने एक बार फिर कोरोना महामारी को लेकर चेतावनी जारी की है। मीडिया से बातचीत में डब्ल्यूएचओ ने चेतावनी जारी करते हुए कोरोना के डेल्टा और ओमिक्रॉन संक्रमण से सुनामी आने की संभावना जताई है। वहीं डब्ल्यूएचओ ने इससे बचाव के लिए कोरोना वैक्सीनेशन को कारगर बताया है।

World Health Organization के चीफ ने कोरोना के डेल्टा और ओमिक्रॉन वैरिएंट से सुनामी आने की जताई आशंका, वैक्सीनेशन पर दिया जोर

नई दिल्ली, एजेंसी। 
विश्व स्वास्थ्य संगठन के चीफ ने एक बार फिर कोरोना महामारी को लेकर चेतावनी जारी की है। मीडिया से बातचीत में डब्ल्यूएचओ ने चेतावनी जारी करते हुए कोरोना के डेल्टा और ओमिक्रॉन संक्रमण से सुनामी आने की संभावना जताई है। वहीं डब्ल्यूएचओ ने इससे बचाव के लिए कोरोना वैक्सीनेशन को कारगर बताया है। 
डब्ल्यूएचओ के चीफ डॉ टेडोरोस ए गेब्रियासिस ने कहा कि वर्तमान में दुनियाभर का हेल्थ सिस्टम अपनी पूर्ण क्षमताओं के आगे जाकर कार्य कर रहा है। 
ऐसे में डेल्टा और ओमिक्रॉन जैसे खतरनाक संक्रमण का आंकड़ा बढ़ना किसी सुनामी की ओर अग्रसर है। इससे संक्रमितों की संख्या अस्पतालों में अधिक हो जाएगी और मौत का ग्राफ भी बढ़ जाएगा।
उन्होंने कहा कि कोरोना के केस पिछले कुछ दिनों से लगातार बढ़ रहे है। इस में पिछले सप्ताह 11 प्रतिशत तक उछाल आया है। 
फ्रांस और अमेरिका में बुधवार को रोजाना के मामलों में रिकॉर्ड बढ़ोतरी दर्ज की गई।
 संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसियों के मुताबिक क्रिसमस सेलिब्रेसन के दौरान 20 से 26 दिसंबर के मध्यम कोरोना महामारी के दुनियाभर में 50 लाख से अधिक मामले सामने आ गए।


इसके आधे मामले अकेले यूरोप में पाए गए है। यूरोप में करीबन 28 लाख केस कोरोना के इस दौरान सामने आए है। 
इधर डब्ल्यूएचओ की वैज्ञानिक सौम्या के मुताबिक मौजूदा वैक्सीन अभी तक ओमिक्रॉन के खिलाफ भी प्रभावी है। 
इससे शरीर में बने टी सेल इम्युनिटी बढ़ाकर नए वैरिएंट से लड़ने के लिए सक्षम है। हालांकि उन्होंने यहां यह भी स्पष्ट किया कि वैक्सीन अभी प्रभावी साबित हो रही है, लेकिन अलग—अलग वैक्सीन का अलग अलग प्रभाव हो सकता है। 
हालांकि डब्ल्यूएचओ के एक्सपर्ट इसे महामारी की भयावहता को अगले साल कम होना बता रहे है। 
डब्ल्यूएचओ के मुताबिक अमेरिका महाद्वीपीय क्षे में कोरोना के नए संक्रमितों की संख्या 39 प्रतिशत बढ़कर 14.8 लाख हो गई। इसमें अकेले अमेरिका में इसकी 34 प्रतिशत बढ़ोतरी के साथ 11.8 लाख से अधिक मामले सामने आ गए। 
जबकि अफ्रीका में नए संक्रमितों के मामलो में सात प्रतिशत तक बढ़ोतरी दर्ज की गई। 
अमेरिका के रोक नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र के मुताबिक 28 दिसंबर को 4 लाख 41 हजार से अधिक नए केस सामने आए थे, जबकि 20 दिसंबर तक यह आंकड़ा 2.90 लाख पर था। 

इधर, भारत में लगातार बढ़ रहे है कोरोना केस
वहीं दूसरी ओर भारत में कोरोना के केस लगातार बढ़ रहे है। बुधवार को भारत में 13 हजार से ज्यादा केस सामने आए थे, जबकि मंगलवार को यह आंकड़ा 9 हजार पर था।

ऐसे में एक ही दिन में 44 प्रतिशत की बढ़ोतरी हो गई। इससे पहले लगातार दो दिनों से 40 प्रतिशत से अधिक बढ़ोतरी रिकॉर्ड की जा रही है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल के मुताबिक 33 दिनों के बाद भारत में फिर से 10 हजार से अधिक केस आना शुरू हो गए, ऐसे में राज्य सरकार को अलर्ट रहने की जरूरत है। 

Must Read: पाकिस्तान और अफगानिस्तान में बाढ़ का कहर, संयुक्त राष्ट्र कर रहा मदद

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :