बड़ा सवाल: क्या सिरोही पुलिस आनंदपाल और आईपीएस हिम्मत अभिलाष टांक की मिलीभगत के राज खोल पाएगी?

जिस शराब तस्कर से मिलीभगत के चलते सिरोही जिले की खाकी हुई थी दागदार, उस कुख्यात शराब तस्कर आनंदपाल को पुलिस ने किया गिरफ्तार। सिरोही एसपी के सामने बड़ी चुनोती अब आनंदपाल और आईपीएस हिम्मत अभिलाष टांक के बीच मिलीभगत को करना होगा उजागर। तभी खाकी पर लगे दाग धोने में सिरोही पुलिस को मिलेगी पूरी कामयाबी।

क्या सिरोही पुलिस आनंदपाल और आईपीएस हिम्मत अभिलाष टांक की मिलीभगत के राज खोल पाएगी?

सिरोही। तीन महीने पहले सिरोही से गुजरात राज्य में शराब तस्करी की लाइन चलने का खुलासा होने के बाद शराब तस्कर के साथ सिरोही के तत्कालीन एसपी हिम्मत अभिलाष टांक की मिलीभगत के आरोपों ने सिरोही की खाकी को इतना बदनाम कर दिया था कि राज्य सरकार को सिरोही पुलिस के कप्तान सहित 10 थानों के थानाधिकारियों को जिले से बाहर का रास्ता दिखाना पड़ा था। इसके साथ ही कई पुलिसकर्मियों को भी जिले से स्थानांतरित कर पूरे मामले पर राज्य सरकार ने गम्भीरता दिखाई थी। आईपीएस हिम्मत अभिलाष टांक के जिस शराब तस्कर के साथ मिलीभगत के आरोप लगे थे। उस कुख्यात शराब तस्कर आनंदपालसिंह उर्फ दीकसा धानता को आज सिरोही जिले की सरूपगंज थाना पुलिस ने गुजरात के डीसा से गिरफ्तार कर खाकी पर लगे दाग धोने की दिशा में एक कदम आगे बढ़ाया हैं। पर असल मे दाग तो तभी धूल सकते हैं जब आनंदपाल और हिम्मत अभिलाष टांक के बीच इस शराब तस्करी की लाइन चलाने की एवज में मंथली कितना लेनदेन होता था, उसका पूरा पूरा खुलासा करने के बाद ही उन दागों को धोया जा सकता हैं। वरना सिर्फ औपचारिकता करके आनंदपाल को जेल भेजने मात्र से पुलिस की साख को बचाया नही जा सकता।

आखिर ऐसा क्या हुआ कि रातोंरात पकड़ा गया आनंदपाल

पिछले तीन महीनों से जिस आनंदपाल की सिरोही पुलिस सरगर्मी से तलाश कर रही थी उस आनंदपाल तक पुलिस का शिकंजा नही कसा जा रहा था। यहां तक कि जिले में चल रहे पंचायतीराज संस्थाओं के चुनाव में सिरोही पंचायत समिति क्षेत्र में आनंदपाल गांव गांव चुनाव प्रसार-प्रचार में बढ़चढ़ कर हिस्सा लेते कई बार नज़र आया। वहीं सूत्र बता रहे हैं कि खुद ने अपनी ग्राम पंचायत में 29 अगस्त को हुए मतदान में मतदान भी किया। पर इस दौरान आनंदपाल पुलिस को नज़र नही आया। पर 29 अगस्त के बाद 30 अगस्त की रात को सरूपगंज पुलिस ने गुजरात के डीसा पहुंचकर आनंदपाल को गिरफ्तार कर लिया, और यही बात हर किसी के गले नही उतर रही।

भाजपा की बाड़ेबंदी से आंनदपाल की हुई गिरफ्तारी

सिरोही एसपी धर्मेंद्रसिंह और सरूपगंज पुलिस कुख्यात इनामी शराब तस्कर आनंदपाल को गुजरात के डीसा शहर स्थित एक फाइव स्टार होटल से गिरफ्तार करने का दावा कर रही हैं। उसी फाइव स्टार होटल में सिरोही भाजपा ने पंचायतीराज चुनावों  में पार्टी के प्रत्याशियों की बाड़ेबंदी की हुई हैं। आनंदपाल भी उसी बाड़ेबंदी में निगरानीकर्ता की भूमिका में था। हमारे विश्वस्त सूत्र बताते हैं कि बाड़ेबंदी के दौरान भाजपा के एक बड़े नेता और आनंदपाल के बीच में किसी बात को लेकर विवाद हुआ, और काफी हद तक दोनो के बीच जोरदार बोलचाल भी हुई। इस बोलचाल के मात्र 3 घण्टे बाद सरूपगंज पुलिस मौके पर पहुंची और आनंदपाल को वहां से हिरासत में ले लिया गया। आपको बता दें आनंदपाल भाजपा युवा मोर्चा का पूर्व पदाधिकारी हैं। जो भाजपा में अपना काफी वर्चस्व भी रखता हैं। पर एक बड़े नेता से उलझना शायद आंनदपाल को महंगा पड़ गया।

Must Read: सिरोही पुलिस की जिला विशेष शाखा के प्रभारी दिन दहाडे शराब दुकान में बैठ छलका रहे है जाम

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :