Rajasthan सरकार के मंत्री की माफी: राजस्थान सरकार के यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने ब्राह्मण समाज से मांगी माफी, अलवर में दे गए थे विवादित बयान

राजस्थान सरकार के यूडीएच मंत्री द्वारा ब्राह्मणों पर विवादित बयान देने के बाद उठे विरोध को देखते हुए शांति धारीवाल ने सार्वजनिक रूप से माफी मांग ली। यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने ब्राह्मण समाज से माफी मांगते हुए विप्र सेना के नेताओं से मुलाकात की और उन्हें ये भरोसा दिलाया कि उनका मकसद समाज की भावनाओं को ठेस .......

राजस्थान सरकार के यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने ब्राह्मण समाज से मांगी माफी, अलवर में दे गए थे विवादित बयान

जयपुर।
राजस्थान सरकार के यूडीएच मंत्री द्वारा ब्राह्मणों पर विवादित बयान देने के बाद उठे विरोध को देखते हुए शांति धारीवाल ने सार्वजनिक रूप से माफी मांग ली। यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल(UDH Minister Shanti Dhariwal) ने ब्राह्मण समाज से माफी मांगते हुए विप्र सेना के नेताओं से मुलाकात की और उन्हें ये भरोसा दिलाया कि उनका मकसद समाज की भावनाओं को ठेस पहुंचाना नहीं था। यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने विप्र सेना के प्रतिनिधि मंडल के साथ हुई मुलाकात में के दौरान ही बयान जारी कर माफी मांगी। आप को बता दें कि शुक्रवार को धारीवाल ने अलवर में ब्राह्मणों पर बयान दिया था। इसके बाद कई बीजेपी नेताओं और ब्राह्मण संगठनों ने विरोध जताया था।
मेरी ऐसी भावना नहीं थी...
यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने कहा कि विप्र सेना(Vipra Sena) का एक प्रतिनिधिमंडल ने आज सोमवार को मुलाकात की। प्रतिनिधिमंडल ने मुझसे ब्राह्मण समाज के बारे में दिए बयान के बारे में पूछा तो मैंने प्रतिनिधिमंडल को बताया कि मेरे एक मित्र से हुई बातचीत का रेफरेंस दिया था। मेरी कोई ऐसी भावना नहीं थी कि मैं किसी समाज के लिए इस तरह बोलूं। विशेष तौर पर ब्राह्मण समाज के लिए तो मैं बोल ही नहीं सकता। ब्राह्मण समाज तो एक गाइड करने वाला समाज माना जाता है। कोई यह भ्रम फैलाता है कि अपमान किया है तो यह सरासर गलत है। मेरे एक मित्र से हुई बातचीत के रेफरेंस को अपमान से जोड़ दिया, जो गलत है।
2 दिन पहले यह कहा था धारीवाल ने 
शांति धारीवाल शुक्रवार को अलवर में एक कार्यक्रम में भाग लेने गए थे। वहां धारीवाल ने कहा कि मैं ब्राह्मणों से कहता हूं, तुमने यार बुद्धि का ठेका ले रखा है। मेरे यहां कोटा के कोचिंग इंस्टीट्यूट (coaching institute)पूरे देश में प्रसिद्ध है। उनका जो रिजल्ट आता है, उसमें 100 में से 70 बनिया कैसे आते हैं? तुम लोग कैसे पीछे रह जाते हो? इसका जवाब नहीं है उनके पास। आप उठाकर देख लेना कभी भी। कोटा के इंस्टीट्यूट का जब रिजल्ट आता है तो उसमें जिंदल मिलेगा, जैन मिलेगा या अग्रवाल मिलेगा। 
आलोचना की जगह चुनौती के तौर पर लें समाज: जोशी
यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल के बयान के बाद जहां एक ओर समाज की ओर से विरोध किया जा रहा था, वहीं दूसरी ओर राजस्थान विधानसभा के सरकार मुख्य सचेतक महेश जोशी ने कहा कि ब्राह्मण संगठनों को धारीवाल के बयान को आलोचना की जगह चुनौती के तौर पर लेना चाहिए। जोशी ने शांति धारीवाल का बचाव किया, लेकिन इस बयान के बाद पार्टी को किसी तरह का नुकसान नहीं उठाना पड़े इस लिए धारीवाल ने माफी मांग ली। आप को बता दें कि शनिवार को विप्र सेना के कार्यकर्ताओं ने धारीवाल के बंगले के बाहर विरोध प्रदर्शन किया था। गेट पर ज्ञापन चस्पा कर विरोध जताया था। 

ये खबर भी पढ़ें-

राजस्थान के शहरी विकास मंत्री शांति धारीवाल की ब्राह्मणों पर

विवादित टिप्पणी, जा​ति के आधार पर कोचिंग संस्थानों के

परिणाम पर दिया बयान

https://firstbharat.in/Rajasthan-Minister-Shanti-Dhariwals-controversial-remark-on-Brahmins-statement-on-the-results-of-coaching-institutes-based-on-caste  

Must Read: राजस्थान सरकार ने प्रदेश में ई-दाखिल की शुरूआत की, उपभोक्ता ऑनलाईन कर सकेंगे शिकायत

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :