Rajasthan @ डेंगू मुक्त राजस्थान अभियान: मौसमी बीमारियों पर काबू पाने के लिए चिकित्सा मंत्री ने प्रदेश में 20 अक्टूबर से ‘डेंगू मुक्त राजस्थान‘ अभियान चलाने के दिए निर्देश

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि मौसमी बीमरियों और डेंगू पर काबू पाने के लिए प्रदेश में 20 अक्टूबर से 3 नवम्बर तक ‘डेंगू मुक्त राजस्थान‘ अभियान चलाया जाएगा। इसके तहत विभाग स्थानीय विभागों के साथ मिलकर एंटीलार्वल गतिविधि, फोगिंग सहित अन्य गतिविधि संचालित करेगा।

मौसमी बीमारियों पर काबू पाने के लिए चिकित्सा मंत्री ने प्रदेश  में 20 अक्टूबर से ‘डेंगू मुक्त राजस्थान‘ अभियान चलाने के दिए निर्देश

जयपुर।
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि मौसमी बीमरियों और डेंगू पर काबू पाने के लिए प्रदेश में 20 अक्टूबर से 3 नवम्बर तक ‘डेंगू मुक्त राजस्थान‘ अभियान चलाया जाएगा। इसके तहत विभाग स्थानीय विभागों के साथ मिलकर एंटीलार्वल गतिविधि, फोगिंग सहित अन्य गतिविधि संचालित करेगा। इसके साथ ही उन 14 जिलों में नोडल आफिसर भेजे जाएंगे, जहां डेंगू के 150 से ज्यादा मामले सामने आए हैं। डॉ. शर्मा मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए चिकित्सा विभाग के अधिकारियों के साथ मौसमी बीमारियों, कोरोना वैक्सीनेशन व जांच तथा ऑक्सीजन प्लांट्स आदि की विभागीय तैयारियों की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे।


14 जिलों में 150 से अधिक मरीज भर्ती
उन्होंने कहा कि प्रदेश के 14 जिलों में डेंगू के 150 से ज्यादा मरीज भर्ती हैं। उन्होंने कहा कि मौसमी बीमारियों का प्रकोप बढ़ना चिंता की बात है। उन्होंने कहा कि हालांकि यह स्थिति चुनौतीपूर्ण है लेकिन इस पर भी चरणबद्ध रूप से काबू पाया जा सकेगा। चिकित्सा मंत्री ने डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया, स्क्रब टाइफस जैसी मौसमी बीमारियों का सामना करने के लिए सभी जिलों में 24 घंटे कन्ट्रोल रूम स्थापित करने के साथ रेपिड रेस्पोंस टीम के गठन के निर्देश दिए हैं। उन्होंने मौसमी बीमारियों की रोकथाम के लिए जागरूकता के लिए आईईसी गतिविधियां करने, सीएचसी सहित सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर इंडोर मरीजों का उपचार करने के भी निर्देश दिए।
चिकित्साकर्मियों के अवकाश पर रोक
स्वास्थ्य मंत्री ने चिकित्सा कर्मियों के अवकाश पर रोक लगाने, स्थानांतरित चिकित्सा कार्मिकों को तुरंत जॉइन करवाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने मौसमी बीमारियों के प्रभावी नियंत्रण के लिए ब्लॉक स्तर पर बीसीएमओ, जिला स्तर पर सीएमसचओ तथा जोन स्तर पर संयुक्त निदेशक की जिम्मेदारी तय करने के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने अधिकारियों को स्थानीय निकाय से मिलकर एंटीलार्वल गतिविधियां व नियमित फोगिंग करने के भी निर्देश दिए।

Must Read: प्रतिदिन लगभग 6 घंटे ऐप्स पर बिताते हैं 2 देशों के स्मार्टफोन यूजर्स

पढें लाइफ स्टाइल खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :