Jharkhand ​नमाज या हनुमान मंदिर: देश के झारखंड विधानसभाध्यक्ष ने नमाज के लिए आवंटन किया कमरा, भाजपा बोली अब हनुमान मंदिर भी बनवाएं

देश के झारखंड विधानसभा में मुस्लिम समुदाय के जनप्रति​धियों के लिए विशेष व्यवस्था करने का मामला सामने आया है। हालांकि विधानसभा अध्यक्ष के इस बयान के बाद विपक्ष की ओर से विरोध शुरू हो गया। विधानसभा अध्यक्ष ने विधायकों को नमाज पढ़ने के लिए कमरा आवंटित करने के आदेश जारी किए थे।

देश के झारखंड विधानसभाध्यक्ष ने नमाज के लिए आवंटन किया कमरा, भाजपा बोली अब हनुमान मंदिर भी बनवाएं

रांची, एजेंसी। 
देश के झारखंड(Jharkhand) विधानसभा (Assembly)में मुस्लिम समुदाय के जनप्रति​धियों के लिए विशेष व्यवस्था करने का मामला सामने आया है। हालांकि विधानसभा अध्यक्ष के इस बयान के बाद विपक्ष की ओर से विरोध शुरू हो गया। विधानसभा अध्यक्ष ने विधायकों को नमाज पढ़ने के लिए कमरा आवंटित करने के आदेश जारी किए थे। इस आदेश के बाद विपक्ष BJP की ओर से हनुमान मंदिर के लिए भी जगह देने की मांग उठाई। वहीं मुख्य विपक्षी पार्टी BJP के चीफ व्हिप विरंची नारायण(viranchi narayan) ने हनुमान मंदिर(Hanuman Temple) के लिए भी जगह देने की मांग की है। विरंची ने कहा कि इस तरह यदि विधानसभा को धर्म के आधार पर बांटा गया तो झारखंड जलने लगेगा। इसके जिम्मेदार विधानसभा अध्यक्ष होंगे। विधानसभा अध्यक्ष को तुरंत ये फैसला वापस लेना चाहिए।
2 सितंबर को जारी किया आदेश
विधानसभा स्पीकर रविंद्र नाथ महतो (Speaker Ravindra Nath Mahto) ने एक आदेश जारी कर विधानसभा में विधायकों के लिए नमाज पढ़ने के लिए एक कमरा आवंटन के आदेश जारी किए। 2 सितंबर को विधानसभा अध्यक्ष रवींद्र महतो की तरफ से कमरा नंबर TW-348 नमाज के लिए आवंटित किया गया। 

3 के लिए 1 ​कमरा तो 65 के लिए...
भाजपा के व्हिप विरंची नारायण ने कहा कि सिर्फ 3 विधायकों के लिए अलग से कमरा आवंटित किया जा सकता है तो बाकी के 65 विधायकों के लिए कम से कम 15 कमरे आवंटित होने ही चाहिए। अगर 15 कमरें नहीं तो कम से कम एक बड़ा हॉल तो मिलना ही चाहिए जहां हनुमान चालीसा(Hanuman Chalisa) या फिर  सत्यनारायण के पाठ(Lessons of Satyanarayan) किए जा सकें। भाजपा विधायकों ने कहा कि हेमंत सोरेन सरकार(Hemant Soren Government) हमेशा तुष्टिकरण की राजनीति करती आई है, लेकिन अब विधानसभा की तरफ से भी तु​ष्टीकरण शुरू हो गया। इस मामले में पूर्व स्पीकर और रांची से BJP के विधायक सीपी सिंह ने कहा है कि हिंदुओं (Hindus) को भी विधानसभा परिसर में हनुमान मंदिर बनाने की इजाजत दे दी जानी चाहिए। हमें नमाज पढ़ने से कोई परेशानी नहीं है, लेकिन हमें भी विधानसभा परिरस में हनुमान मंदिर के लिए भी जगह देनी चाहिए। अगर स्पीकर इसकी अनुमति देते हैं और जगह आवंटित कर देते हैं तो हम अपने पैसे से मंदिर बनाएंगे।'

विधानसभा में मंदिर के आवेदन आए तो करेंगे विचार
इस मामले पर विपक्ष की ओर से सरकार को घेरने के बाद विधानसभा स्पीकर ने भी जवाब दिया। स्पीकर रविंद्र नाथ महतो ने कहा कि राज्य की पुरानी विधानसभा में भी नमाज पढ़ने (Reading Namaz) के लिए जगह निर्धारित थी, इस लिहाज से नई विधानसभा में आवेदन आने पर कमरा आवंटित कर दिया गया। इसके बाद स्पीकर ने विपक्ष की ओर से मंदिर के लिए जगह की मांग करने के सवाल पर कहा कि अगर वे मुझे आवेदन देंगे तो इस पर अवश्य विचार किया जाएगा। वहीं दूसरी ओर से इस मामले में  सत्ताधारी झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) के केंद्रीय महासचिव सह प्रवक्ता सुप्रीयो भट्‌टाचार्य (Supriyo Bhattacharya)ने कहा कि BJP इस राज्य में धर्म के नाम पर समाज को बांटना चाहती है। हम ये कहना चाहते हैं कि आपको भी अगर अपनी प्रार्थना के लिए जगह सुनिश्चित करानी हो तो इस तरह की ओछी राजनीति न करें। विधानसभा में पर्याप्त स्थान है, जहां एक स्थान आपके लिए भी आरक्षित की जाएगी, लेकिन धर्म के नाम पर राज्य में दंगा-फसाद न करें।

Must Read: ​नई दिल्ली में ITC होटल मौर्या में एक महिला के गलत बाल काट दिए, कोर्ट ने होटल पर लगा दिया 2 करोड़ रुपए का जुर्माना

पढें दिल्ली खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :