PM डिजिटल हेल्थ मिशन योजना शुरू: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री डि​जिटल हेल्थ मिशन योजना का किया शुभारंभ,अब प्रत्येक नागरिक को मिलेगी यूनिक आईडी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज प्रधानमंत्री डिजिटल हेल्थ मिशन का आगाज कर दिया। योजना का शुभारंभ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया गया। इस योजना से देशभर की स्वास्थ्य सेवा को डिजिटल बनाने में मदद मिलेगी। इसमें प्रत्येक भारतीय नागरिक की एक यूनिक हेल्थ आईडी बनाई जाएगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री डि​जिटल हेल्थ मिशन योजना का किया शुभारंभ,अब प्रत्येक नागरिक को मिलेगी यूनिक आईडी

नई दिल्ली, एजेंसी। 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज प्रधानमंत्री डिजिटल हेल्थ मिशन (Prime Minister Digital Health Mission) का आगाज कर दिया। योजना का शुभारंभ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया गया। इस योजना से देशभर की स्वास्थ्य सेवा को डिजिटल बनाने में मदद मिलेगी। इसमें प्रत्येक भारतीय नागरिक की एक यूनिक हेल्थ आईडी बनाई जाएगी। इसमें देशव्यापी डिजिटल हेल्थ ईको सिस्टम तैयार किया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त 2020 को इस योजना को अंडमान, निकोबार, चंडीगढ़, दादर नगर हवेली, दमनदीव, लद्दाख और लक्ष्यदीव में शुरू किया गया था। अब इसे देश भर में शुरू कर दिया गया। मोदी ने योजना का शुभारंभ करते हुए कहा कि डिजिटल इंडिया अभियान से देश के सामान्य नागरिक की ताकत बढ़ेगी।

इस वक्त देश  के पास 130 करोड़ आधार नंबर, 118 करोड़ मोबाइल यूजर और 80 करोड़ इंटरनेट यूजर है। इनके अलावा 43 करोड़ जनधन बैंक खाते हैं, जो दुनिया में कहीं नहीं है। मोदी ने कहा कि आरोग्य सेतु एप से कोरोना संक्रमण को रोकने में काफी हद तक सहयोग मिला है। इसके अलावा देश के 90 करोड़ वैक्सीन लगने में कोविन एप का बहुत अहम रोल है।
आयुष्मान योजना का लाभ 2 करोड़ लोगों तक
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आयुष्मान योजना से अब तक देश के 2 करोड़ लोग मुफ्त में इलाज करा चुके। पहले कई गरीब अस्पताल जाने से बचते थे, लेकिन अब योजना के कारण उनका डर दूर हो गया। अब भारत में ऐसे मॉडल पर काम किया जा रहा है जहां बीमारी की स्थिति में इलाज सुलभ हो, सस्ता हो और सबकी पहुंच में होना चाहिए। देश के हेल्थ सेक्टर को ट्रांसफॉर्म करने के लिए पहले की तुलना में आज मेडिकल मैनपावर कई गुणा बढ़ गया।

विश्व टूरिज्म डे पर आयोजित हुआ कार्यक्रम
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज विश्व पर्यटन दिवस है और यह संयोग ही है कि आज के दिन हेल्थ केयर कार्यक्रम का भी आगाज हुआ। स्वास्थ्य और पर्यटन दोनों के बीच बड़ा मजबूत रिश्ता है। जब हमारा हेल्थ सिस्टम मजबूत होता है तो टूरिज्म सेक्टर पर भी उसका असर पड़ता है। कोई भी व्यक्ति ऐसे देश में घूमने नहीं जाना चाहेगा, जहां स्वास्थ्य सुविधाएं ना हों। इस योजना के तहत एनडीएचएम  हेल्थ रिकॉर्ड (पीएचआर ऐप्लीकेशन) पर रजिस्ट्रेशन होगा। यूनीक ID 14 डिजिट की होगी। जिनके पास मोबाइल नहीं है, वे रजिस्टर्ड सरकारी-निजी अस्पताल, कम्युनिटी हेल्थ सेंटर, प्राइमरी हेल्थ सेंटर, वेलनेस सेंटर और कॉमन सर्विस सेंटर आदि पर जाकर अपना कार्ड बनवा सकेंगे। इससे स्वास्थ्य से संबंधित पूरी जानकारी डिजिटल फॉर्मेट में दर्ज होती रहेगी। पूरी मेडिकल हिस्ट्री अपडेट होगी। ऐसे में जब आप किसी अस्पताल में इलाज कराने जाएंगे, तो आपको पुराने सभी रिकॉर्ड वहीं डिजिटल फॉर्मेट में मिल जाएंगे। यही नहीं, अगर आप किसी दूसरे शहर के अस्पताल भी जाएं तो वहां भी यूनीक कार्ड के जरिए डेटा देखा जा सकेगा। 

Must Read: नई​ दिल्ली में देश के पहले प्रधानमंत्री नेहरू के आवास में प्रधानमंत्री संग्रहालय, पीएम मोदी 14 अप्रैल को करेंगे उद्घाटन

पढें दिल्ली खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :