आश्रम दुराचारी का: राजधानी के मुकंदपुरा आश्रम में तपस्वी बाबा प्रसाद में भांग की गोली खिलाकर महिलाओं से करता था दुष्कर्म

साधु के वेश में दुराचारी बाबाओं की गंदी करतूत आए दिन सामने आ रही है। अब राजधानी जयपुर के पास भांकरोटा थाना इलाके में एक तपस्वी बाबा द्वारा आश्रम में महिलाओं से बलात्कार करने का मामला सामने आया है। बाबा आश्रम आने वाली महिलाओं को सेवा के नाम पर रोकता और इसके बाद स्वयं का भगवान बताकर सब कुछ समर्पण करने का आदेश दे देता।

राजधानी के मुकंदपुरा आश्रम में तपस्वी बाबा प्रसाद में भांग की गोली खिलाकर महिलाओं से करता था दुष्कर्म

जयपुर।
साधु के वेश में दुराचारी बाबाओं की गंदी करतूत आए दिन सामने आ रही है। अब राजधानी जयपुर के पास भांकरोटा थाना (Bhankarota police station) इलाके में एक तपस्वी बाबा द्वारा आश्रम में महिलाओं से बलात्कार (Rape) करने का मामला सामने आया है। बाबा आश्रम आने वाली महिलाओं को सेवा के नाम पर रोकता और इसके बाद स्वयं का भगवान बताकर सब कुछ समर्पण करने का आदेश दे देता। दुष्कर्म का षिकार महिला की बेटी पर मामला आया तो बलात्कार का खुलासा हुआ और मामला पुलिस थाने पहुंचा। 
जानकारी के मुताबिक कथित तपस्वी बाबा योगेंद्र मेहता (Baba yogendra Mehta) ने खुद को भगवान बोलकर महिलाओं के साथ दुष्कर्म (Rape) किया। बाबा अपने आश्रम में आने वाली महिलाओं को भांग (Cannabis) की गोली खिलाकर नशे में आने के बाद उनके साथ इस गंदी हरकत को अंजाम देता था। इसके साथ ही विरोध करने पर उन्हें बर्बाद करने की धमकी भी देता था, लेकिन भांकरोटा थाने में चार महिलाओं ने बाबा के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। बाबा के साथ ही सेविका पर भी सहयोग करने का आरोप लगाया है। थानाधिकारी मुकेश  के अनुसार मामले की गंभीरता को देखकर जांच की जा रही है। पीड़ित महिला ने बताया कि उसके ससुराल के कुल देवता तपस्वी बाबा का आश्रम मुकुंदपुरा ( Mukandpura Ashram) में है। जहां उसके परिवार का 25 सालों से आना जाना था, लेकिन धीरे-धीरे बाबा की गद्दी को योगेंद्र मेहता ने संभाल लिया और खुद को तपस्वी बाबा कहने लगा। पीड़ित महिला के पति एवं पूरा परिवार बाबा के आश्रम में जाकर सत्संग सुना करते थे। बाबा के बुलाने पर वह भी पति के साथ जाने लगी और आश्रम में रुक कर सेवा करती थी। वह पांच-छह महीने के अंतराल पर जाया करती थी। महिला के अनुसार आश्रम में आठ से दस महिलाएं रोजाना रात में रुकती थी। बाबा आश्रम में महिलाओं को बुलाकर कहते थे, कि मैं भगवान हूं, तुम मेरी सेवा करो और सब कुछ मुझे समर्पित कर दो। एक दिन रात में बाबा ने पीड़िता को छत के ऊपर बने कमरे में बुलाकर उसे प्रसाद का बोलकर एक गोली दी, साथ में ईश्वर का ध्यान करने एवं समर्पण का भाव रखकर सबकुछ देने को कहा। इसके बाद गोली खाने पर नशे में बाबा ने उसके साथ दुष्कर्म किया। महिला जब छह महीने बाद दोबारा आश्रम गई तो बाबा ने फिर से उसके साथ दुष्कर्म किया। लेकिन जब तीन दिन पहले उसके पति ने अपनी 20 वर्षीय बेटी को आश्रम ले जाने की बात कही तो महिला ने सारी सच्चाई पति को बता दी। परिवार में यह बात फैलने पर पता चला कि उसकी भाभी एवं जेठानी के साथ भी बाबा ने यह गंदी हरकत की थी। इसके बाद परिजनों ने बाबा पर रेप का मुकदमा दर्ज करवाया है। 

Must Read: 45 स्कूल, 26 अनाथालय, 16 वृद्धाश्रम, 19 गोशाला और 1800 अनाथ लड़कियों की हायर एजुकेशन की जिम्मेदारी लेने वाले सुपर स्टार पुनीत को अंतिम विदाई

पढें दिल्ली खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :