राजस्थान में Investment Summit: Invest Rajasthan-2022 के तहत भीलवाड़ा में आयोजित हुआ प्रदेश का पहला जिला स्तरीय इन्वेस्टमेंट ​समिट

इन्वेस्ट राजस्थान-2022 का शुभारंभ राजस्थान के मेनचेस्टर के तौर पर विख्यात भीलवाड़ा जिले में बुधवार से हुआ। इन्वेस्ट राजस्थान का शुभारंभ उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री शकुंतला रावत ने जयपुर से वीसी के माध्यम किया।

Invest Rajasthan-2022 के तहत भीलवाड़ा में आयोजित हुआ प्रदेश का पहला जिला स्तरीय इन्वेस्टमेंट ​समिट

जयपुर।
इन्वेस्ट राजस्थान-2022 का शुभारंभ राजस्थान के मेनचेस्टर के तौर पर विख्यात भीलवाड़ा जिले में बुधवार से हुआ। 
इन्वेस्ट राजस्थान का शुभारंभ उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री शकुंतला रावत ने जयपुर से वीसी के माध्यम किया। 
रावत ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का विजन राजस्थान के प्रत्येक क्षेत्र में विकास करना व प्रगति के नए आयाम स्थापित करना है। 
मुख्यमंत्री गहलोत की मंशानुरूप राजस्थान देश का प्रथम राज्य बना जहां उद्योगों को बढ़ावा देने, निवेश का बेहतर वातावरण बनाने व रोजगार उपलब्ध कराने के उद्देश्य से इन्वेस्ट सम्मिट कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। 
भीलवाड़ा से इसकी शुरुआत हुई है। रावत ने कहा कि राज्य सरकार उद्यमियों के सहयोग हेतु सदैव तत्पर है। 
राज्य सरकार द्वारा उद्योग क्षेत्र में कई योजनाएं चलाई जा रही है जिससे कि उद्योग क्षेत्र का विकास हो सके। समिट में उद्योग एवं वाणिज्य आयुक्त अर्चना सिंह ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान भीलवाड़ा जिले ने चिकित्सा के क्षेत्र में भीलवाड़ा मॉडल के रूप में देश-विदेश में नई पहचान बनाई।


मुख्यमंत्री गहलोत की मंशा इंडस्ट्री के रूप में भी भीलवाड़ा को मॉडल बनाना है। 
सिंह ने कहा कि भीलवाड़ा जिले के उद्यमियों मे नया संचार व उत्साह देखकर राज्य सरकार भी कदम से कदम मिलाने को कटिबद्ध है। 
यह जिला ​समिट कार्यक्रम प्रदेश के अन्य जिलों के लिए भी प्रेरणास्पद रहेगा। 
कार्यक़म का केन्द्र बिन्दु् एमओयू सेरेमनी रही, जहां सभी के क्षेत्रों के प्रमुख निवेशकों के साथ भीलवाड़ा जिला कलक्टर शिव प्रसाद एम नकाते ने एमओयू निष्पादित किये।

200 से ज्यादा निवेशकों द्वारा 10 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा निवेश 
समिट के दौरान राज्य सरकार की उद्योगों से जुड़ी जानकारी एवं सरकार द्वारा किये जा रहे सहयोग से उद्यमियों ने उत्साह दिखाया।
कार्यक्रम के दौरान ही प्रदेश की प्रथम इन्वेस्टमेन्ट समिट कार्यक्रम में 10 हजार करोड़ से ज्यादा के निवेश हेतु एम.ओ.यू. हस्ताक्षर किये।
जिला स्तरीय समिट में 700 से अधिक उद्यमियों ने प्रत्यक्ष रुप से भाग लिया। 
वहीं अमेरिका, दुबई, कतर, आस्ट्रेलिया, युगाण्डा, इंग्लैण्ड जापान आदि से अप्रवासी भारतीयों के 26 संगठन ऑनलाइन भी इस सम्मिट से जुड़े। 
भीलवाड़ा के टेक्सटाइल एवं अन्य उद्योगों के आधुनिकीकरण एवं विकास से प्रवासी भारतीय भी काफी प्रभावित हुए।
लगभग 200 औद्योगिक इकाइयों एवं निवेशकों द्वारा टेक्सटाइल, एग्रो फूड प्रोसेसिंग, मेडिकल, टूरिज्म, मिनरल्स एंड केमिकल्स, फर्निचर, सीमेंट प्रोडक्ट सहित अन्य विभिन्न क्षेत्रों में 10 हजार करोड़ रुपये से भी ज्यादा के निवेश करने पर समझौता हुआ। 
इसके अतिरिक्त राज्य सरकार की पहल से प्रदेश, देश एवं विदेश के उद्यमियो एवं प्रवासी उद्यमीगणों द्वारा भीलवाड़ा में निवेश हेतु रूचि ली जा रही हैं, भविष्य में ओर भी ज्यादा निवेश होने की संभावनाएं हैं। 

भीलवाड़ा की पहली मेडिसिटी का प्रजेंटेशन
समिट में यूआईटी की ओर से आजादनगर में प्रस्तावित मेडिसिटी योजना का प्रजेंटेशन दिया गया। 
इसमें सुपर स्पेशिएलिटी हॉस्पिटल, फॉर्मा कंपनियां, पार्क आदि सुविधाएं होगी। न्यास का यह ड्रीम प्रोजेक्ट है। 
कार्यक्रम के दौरान संगम इंडिया लिमिटेड के एमडी एसएन मोदानी ने कहा कि भीलवाड़ा में इंडस्ट्री फ्रेन्डली माहौल है। 
इसी तरह कंचन इंडिया के निदेशक दुर्गेश बांगड़ ने कहा कि भीलवाड़ा में आयोजित  इन्वेस्टमेंट सम्मिट से उद्योपतियों में नई ऊर्जा का संचार हुआ है एवं उद्योगों के लिए सम्मिट करने जैसी सरकार की अच्छी पहल हैं। 
जिला उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक राहुलदेव सिंह ने जिला उद्योग केंद्र व विभाग की प्रगति की जानकारी से अवगत कराया एवं कहा कि  जिला उद्योग केंद्र कमिटेड एंड डिलीवर की थीम पर कार्य कर रहा है ।

Must Read: प्रशासन गांवों के संग शिविर में सिरोही विधायक लोढा ने मोहब्बत नगर और उथमण पंचायत में वितरित किए पट्टे

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :