होमगार्ड को अधिक रोजगार देने का प्रयास: सरकार के सभी सरकारी विभागों में आवश्यकता होेने पर होमगार्ड लगाने के लिए लिखा गया पत्र: जाटव

गृह रक्षा व नागरिक सुरक्षा राज्य मंत्री भजन लाल जाटव ने सोमवार को विधानसभा में आश्वस्त किया कि होमगार्डों को अधिक से अधिक नियोजित करने तथा रोजगार देने के लिए सरकार द्वारा निरन्तर प्रयास किए जाएंगे। राज्य सरकार द्वारा सभी विभागों को होमगार्डों को रखने के लिए पत्र भी लिखे गए हैं।

सरकार के सभी सरकारी विभागों में आवश्यकता होेने पर होमगार्ड लगाने के लिए लिखा गया पत्र: जाटव

जयपुर।
प्रदेश में होमगार्ड के जवानों को स्थाई करने का मामला एक ​बार ​फिर से विधानसभा में उठाया गया। हालांकि सरकार के राज्य मंत्री ने होमगार्ड के जवानों को स्थाई करने से इनकार करते हुए अधिक से अधिक रोजगार के अवसर देने का वादा किया है। मंत्री जी की माने तो सरकार ने सभी सरकारी विभागों को अधिक से अधिक होमगार्ड के जवानों को लगाने के लिए भी पत्र लिखा है। जानकारी के मुताबिक गृह रक्षा व नागरिक सुरक्षा राज्य मंत्री भजन लाल जाटव ने सोमवार को विधानसभा में आश्वस्त किया कि होमगार्डों को अधिक से अधिक नियोजित करने तथा रोजगार देने के लिए सरकार द्वारा निरन्तर प्रयास किये जाते हैं। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार द्वारा सभी विभागों को होमगार्डों को रखने के लिए पत्र भी लिखे गए हैं। जाटव प्रश्नकाल में विधायकों द्वारा इस संबंध में पूछे गए पूरक प्रश्नों का जवाब दे रहे थे।


उन्होंने कहा कि वर्तमान में होमगार्ड स्वयं सेवक के कुल 28 हजार 50 पद है। इनमें से 4 हजार 842 पद रिक्त हैं। वहीं बोर्डर होमगार्ड के कुल 2 हजार 64 पदों में से 290 रिक्त पद है। उन्होेंने बताया कि राज्य सरकार द्वारा अधिक से अधिक होमगार्ड स्वयं सेवकों को अधिक से अधिक नियोजित करने के उद्देश्य से कोविड-19 के दौरान भी  उन्हें रोजगार देने का पूरा प्रयास किया है। उन्होंने बताया कि शिक्षा, चिकित्सा तथा उद्योग सहित सभी विभागों में आवश्यकता के आधार पर इन्हें काम पर लगाया जाता है। इन्हें रोटेशन के आधार पर काम दिया जाता है। सभी विभागों को ज्यादा से ज्यादा होमगार्डाें को काम में लेने के लिए पत्र भी लिखा गया है, लेकिन उन्हें इसके लिए बाध्य नहीं किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि गत सरकार द्वारा 38 प्रतिशत होमगार्ड स्वयं सेवकों को ही नियोजित किया गया था, जबकि वर्तमान में 58 प्रतिशत को नियोजित किया गया है। इससे पहले विधायक गोपाल लाल शर्मा के मूल प्रश्न के लिखित जवाब में जाटव ने बताया कि गृह रक्षा नियम के तहत स्वयं सेवकों को स्थाई किये जाने का कोई प्रस्ताव विचाराधीन नहीं है। इन नियमों में होमगार्ड स्वयं सेवकों को स्थायी नियुक्ति दिये जाने का प्रावधान नहीं है।

Must Read: कांग्रेस की इस कार्यकारणी ने साफ कर दिया कि डोटासरा ने प्रताप मुद्दे पर राजपूतों से बदला लिया है

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :