आरपीएससी आरएएस मुख्य परीक्षा 2021: आरएएस मुख्य परीक्षा प्रदेश के समस्त संभागीय जिला मुख्यालयों के 113 केंद्रों पर होगी आयोजित

आरएएस परीक्षा समस्त संभागीय जिला मुख्यालयों के 113 केंद्रों पर 20 हजार 371 अभ्यर्थियो के लिए निर्धारित कार्यक्रमानुसार प्रातः 9 से 12 एवं दोपहर 2 से सांय 5 बजे तक परीक्षा का आयोजन किया जाएगा।

आरएएस मुख्य परीक्षा प्रदेश के समस्त संभागीय जिला मुख्यालयों के 113 केंद्रों पर होगी आयोजित

जयपुर।
राजस्थान लोक सेवा आयोग की ओर से 20 व 21 मार्च 2022 को राजस्थान राज्य एवं अधीनस्थ सेवाएं संयुक्त प्रतियोगी (मुख्य परीक्षा) 2021 का आयोजन किया जाएगा।
सचिव एच एल अटल ने बताया कि आयोग की ओर से परीक्षा की समस्त तैयारियां पूर्ण कर ली गई है।
आरएएस परीक्षा समस्त संभागीय जिला मुख्यालयों के 113 केंद्रों पर 20 हजार 371 अभ्यर्थियो के लिए निर्धारित कार्यक्रमानुसार प्रातः 9 से 12 एवं दोपहर 2 से सांय 5 बजे तक परीक्षा का आयोजन किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि परीक्षा के दृष्टिगत आयोग कार्यालय में नियंत्रण कक्ष की स्थापना की गई है। दूरभाष संख्या 0145-2635255 पर इससे संपर्क किया जा सकता है। 
इसी प्रकार अभ्यर्थियों की सुविधार्थ सभी संभागीय मुख्यालय प्रशासन द्वारा भी नियंत्रण कक्ष स्थापित किए गए है। अभ्यर्थी प्रवेश पत्र डाउनलोड करने के बाद अपने परीक्षा केन्द्र स्थल (Location) की जानकारी अवश्य सुनिश्चित करें।
केन्द्र के पते के सम्बन्ध में कोई जानकारी लेनी हो तो संबंधित संभाग जिला मुख्यालय के कन्ट्रोल रूम के टेलीफोन नम्बर पर भी सम्पर्क किया जा सकता है। 
संभागीय जिला मुख्यालयों के कन्ट्रोल रूम दूरभाष नंबर
अजमेर 0145-2422517, भरतपुर 05644-220320, बीकानेर 0151-2226031, जयपुर 0141-2206699, जोधपुर 0291-2650316, कोटा 0744-2325342 एवं उदयपुर 0294-2413278

परीक्षा केंद्रों पर मेटल डिटेक्टर से की जाएगी जांच
अटल ने बताया कि परीक्षा में इस बार सभी केंद्रों पर अभ्यर्थियों की मेटल डिटेक्टर से भी जांच की जाएगी। अभ्यर्थियों की सघन जांच व पहचान पूर्णतः सुनिश्चित करने के उपरांत ही परीक्षा केंद्र में प्रवेश दिया जाएगा। 
आयोग द्वारा वीडियो रिकार्डिंग के लिए पहली बार प्रत्येक केंद्र पर दो वीडियोग्राफरों को नियुक्त किया जा रहा है। इनके द्वारा अभ्यर्थियों के केंद्र में प्रवेश सहित सभी महत्वपूर्ण घटनाक्रमों की वीडियो रिकार्डिंग सुनिश्चित की जाएगी।
उन्होंने बताया परीक्षा की गोपनीयता व निगरानी में संवर्धन के दृष्टिगत इस बार प्रत्येक कक्ष में दो वीक्षकों को नियुक्त करने की व्यवस्था की गई है। इन वीक्षकों को परीक्षा केंद्र का आवंटन रेंडमाइज आधार किया जाएगा। 
अटल ने कहा कि संबंधित जिला प्रशासन द्वारा प्रत्येक 5 से 6 केंद्रों पर एक उप समन्वयक की नियुक्ति तथा एक उडनदस्ते का गठन किया गया है। 
इसमें पुलिस, प्रशासन एवं शिक्षा विभाग के अधिकारी होंगे। परीक्षा दौरान सुरक्षा व्यवस्थाओं के अन्वेषण के लिए प्रत्येक केंद्र पर राजपत्रित अधिकारी भी आब्जर्वर के तौर पर नियुक्त रहेंगे।
परीक्षा आयोजन में किसी भी स्तर पर कोई अनियमितता बरतने तथा परीक्षा की निष्पक्षता, सुरक्षा व शुचिता को भंग करने का कोई भी प्रयास करने अथवा संलिप्तता पाए जाने पर कठोर विधिक कार्रवाई भी की जाएगी। 
उन्होंने कहा कि आयोग द्वारा प्रशासन व पुलिस अधिकारियों को विशेष सजगता बरतने तथा प्रश्न-पत्र की सुरक्षा एवं परीक्षा केंद्रों पर पूर्ण निगरानी रखने के निर्देश भी दिए गए हैं। 
प्रश्न-पत्र परीक्षा केंद्रों तक पंहुचाने, परीक्षा संपन्न होने के बाद उत्तर-पत्रकों को पंहुचाने का कार्य कडी निगरानी में किया जाएगा। परीक्षा दौरान पर्याप्त मात्रा में पुलिस बल सभी परीक्षा केंद्रों व आसपास की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए भी तैनात रहेगा।

मूल फोटो युक्त पहचान-पत्र के अभाव नहीं होगी एंट्री
अभ्यर्थियों को परीक्षा केन्द्र पर एक पासपोर्ट साइज फोटो एवं मूल फोटो युक्त पहचान पत्र साथ लेकर परीक्षा समय से 01 घण्टा पूर्व परीक्षा केंद्र पर उपस्थित होना होगा। 
मूल फोटो युक्त पहचान पत्र के अभाव में अभ्यर्थी को केंद्र में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। सभी अभ्यर्थी प्रवेशपत्र के साथ जारी आवश्यक अनुदेशों का अवलोकन अवश्य कर लें।
प्रत्येक प्रश्नपत्र के लिए अनुज्ञात समय 3 घंटे होगा। परीक्षा वर्णनात्मक होने के कारण अभ्यर्थियों की सुविधार्थ नीली स्याही के बॉल पेन के साथ सामान्य जैल पेन/स्याही पेन एवं आवश्यक्तानुसार पेंसिल, रबड़ एवं स्कैल ले जाने की अनुमति प्रदान की गई है।

Must Read: राजकुमार राणा की फर्जी डिग्रियों का हिसाब हरियाणा की यह महिला रखती थी, पूरा परिवार आस्ट्रेलिया में

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :