Rajasthan @ शिक्षक संघ की मांग: राजस्थान समग्र शिक्षक संघ नेे शिक्षकों के पीडी मद को समायोजित करने की उठाई मांग

राजस्थान समग्र शिक्षक संघ के प्रदेशाध्यक्ष डॉ० उदयसिंह डिंगार ने मुख्यमन्त्री एवं शिक्षामन्त्री को ज्ञापन भेजकर दशकों पुरानी शिक्षकों के पीडी मद निजी निक्षेप को शिक्षा लेखामद में समायॊजित करने की मांग की है।

राजस्थान समग्र शिक्षक संघ नेे शिक्षकों के पीडी मद को समायोजित करने की उठाई मांग

जयपुर।
राजस्थान समग्र शिक्षक संघ(Raajasthaan Samagr Shikshak Sangh) के प्रदेशाध्यक्ष डॉ० उदयसिंह डिंगार ने मुख्यमन्त्री एवं शिक्षामन्त्री को ज्ञापन भेजकर दशकों पुरानी शिक्षकों के पीडी मद निजी निक्षेप को शिक्षा लेखामद में समायॊजित करने की मांग की है। उन्होंने ज्ञापन में बताया कि वर्तमान की ओटो सेलेरी की अत्याधुनिक व्यवस्था के समय भी दशकों पुराने  जमाने की पीड़ी मद योजना से प्रदेश में लगभग पैंतालिस हजार शिक्षकों को वेतन भुगतान किया जा रहा है। जो  कि अत्यघिक लम्बीए पेचिदगीपूर्ण होने के साथ ही कमियों से भरा है। इस व्यवस्था में बज़ट की समस्याए  डीडीओ को परेशानी एवं कार्मिकों को भी मुसीबत होती है। इसकी प्रमुख समस्या तो  समय पर वेतन नहीं मिलना है। इस दोहरी डीडीओ एवं सब डीडीओ की प्रणाली को समाप्त कर पीड़ी मद को शिक्षा लेखामद में तत्काल समायोजित किया जाकर पंचायत शिक्षा अधिकारी प्रधानाचार्य को ही डीडीओ के पॉवर दिए जाने की मॉग उठाई है।उन्होंने ज्ञापन की प्रति उच्चाधिकारियों को भी प्रेषित कर उक्त पुरानी प्रणाली को आधुनिक प्रणाली में समाहित करने की मांग की है। इसी प्रकार उच्च स्तर पर अन्य ज्ञापन प्रेषित कर काउसलिगं प्रणाली में सुधार करनेएकाउसलिंग की उपस्थिति देनेएटीएएफ भरने कीप्रारम्भिक शिक्षा में तिथि बढाने एवं नव क्रमोन्नत  माध्यमिक स्कूलो में आफिस आईड़ी जारी करवाने की दरख्वास्त की है।

Must Read: कैटरीना के हाथों में रचेगी ऑर्गेनिक सोजत की लौंग और नीलगिरी के ऑयल से तैयार की जा रही है मेहंदी

पढें लाइफ स्टाइल खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :