राजस्थान में वैक्सीनेशन पर सीएम का बयान: राजस्थान को केंद्र की ओर से समय पर नहीं मिल रही वैक्सीन, इसके चलते बार—बार बंद करना पड़ रहा है वैक्सीनेशन कार्य: गहलोत

प्रदेश में वैक्सीनेशन प्रोग्राम को लेकर एक बार फिर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केन्द्र सरकार को घेरा है। सीएम गहलोत ने आरोप लगाया है कि केन्द्र की ओर से राजस्थान को समय पर वैक्सीन नहीं मिल रहे है। ऐसे में हमें राज्य में बार-बार वैक्सीनेशन प्रोग्राम बंद करना पड़ रहा है।

राजस्थान को केंद्र की ओर से समय पर नहीं मिल रही वैक्सीन, इसके चलते बार—बार बंद करना पड़ रहा है वैक्सीनेशन कार्य: गहलोत

जयपुर।
प्रदेश में वैक्सीनेशन प्रोग्राम को लेकर एक बार फिर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने केन्द्र सरकार को घेरा है। सीएम गहलोत ने आरोप लगाया है कि केन्द्र की ओर से राजस्थान को समय पर वैक्सीन नहीं मिल रहे है। ऐसे में हमें राज्य में बार-बार वैक्सीनेशन प्रोग्राम बंद (Vaccination program closed)करना पड़ रहा है। गहलोत ने वैक्सीन की कमी के कारण मंगलवार को भी पूरे प्रदेश में वैक्सीनेशन प्रोग्राम बंद होने की संभावना जताई है। गहलोत ने बताया कि आज लगभग 70 हजार वैक्सीन की डोज ही बची हैं। यह आज ही लगा दी जाएंगी। वैक्सीन की कमी के कारण आज राज्य के अधिकांश जिलों में वैक्सीनेशन का काम बंद हो गया है। केन्द्र सरकार से राजस्थान को जरूरत के मुताबिक वैक्सीन नहीं मिल पा रही है, इसके कारण बार-बार वैक्सीनेशन कार्य प्रभावित हो रहा है। जबकि राजस्थान में वैक्सीन का वेस्टेज भी नेगेटिव(Vaccine wastage also negative) है।

राजस्थान में जनता परेशान, अस्पतालों में लंबी कतारें
गहलोत ने कहा कि वैक्सीन की कमी के कारण प्रदेश की जनता परेशान है। लोग सेंटरों पर आ तो रहे हैं, लेकिन वैक्सीनेशन नहीं होने के कारण उन्हें निराश होकर लौटना पड़ रहा है। ऐसे में गहलोत ने केन्द्र सरकार से अपील की है कि Rajasthan को जरूरी मात्रा में वैक्सीन दी जाए, जिससे जल्द से जल्द वैक्सीनेशन का काम पूरा हो सके एवं तीसरी लहर का खतरा कम कर सकें। उन्होंने बताया कि केन्द्र सरकार ने राजस्थान के लिए जुलाई में 65 लाख 20 हजार वैक्सीन की डोज का कोटा निर्धारित किया है। जुलाई के लिए रिजर्व इस कोटे में से 25 फीसदी के हिसाब से प्राइवेट अस्पतालों को 16.30 लाख डोज दी जाएगी, जो इनके लिए रिजर्व है। जुलाई में अब तक करीब 6.49 लाख डोज आ चुकी है। राज्य में इस माह करीब 60 लाख लाभार्थी ऐसे हैं, जिनको दूसरी डोज का समय आ गया है और इन्हे वैक्सीन लगाई जानी है।

केंद्र सरकार वैक्सीन का डेटा करें सार्वजनिक:गहलोत
CM गहलोत ने वैक्सीनेशन के संकट को लेकर दो दिन पहले चिकित्सा मंत्री ने केन्द्र सरकार को पत्र लिखा था। इसमें उन्होंने वैक्सीन के आवंटन पर सवाल उठाए थे और केन्द्र सरकार से वैक्सीन का कोटा भी सार्वजनिक करने की मांग की है। दरअसल अभी ये पता नहीं चल रहा कि किस राज्य को कितनी वैक्सीन दी जा रही है। राज्य सरकार का मानना है कि Rajasthan में वैक्सीन कम दी जा रही है, जबकि यहां हर रोज ज्यादा से ज्यादा लोगों को vaccination किया जा रहा है, जबकि दूसरे राज्यों में वैक्सीन जितनी दी जा रही है उस अनुपात में वहां वैक्सीनेशन नहीं हाे रहा। इसलिए केन्द्र सरकार से मांग की थी कि हर माह किस राज्य को कितनी वैक्सीन दी जाएगी यह डेटा सार्वजनिक किया जाए।

Must Read: ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज मंत्री मीणा ने मनरेगा में ज्यादा से ज्यादा श्रमिकों को जोड़ने के लिए दिए निर्देश

पढें लाइफ स्टाइल खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :