Kanhaiya Lal Murder: उदयपुर में हत्या का शिकार हुए कन्हैयालाल के दोनों बेटों को सरकारी नौकरी

राज्य सरकार ने मृतक कन्हैयालाल के दोनों पुत्रों यश तेली और तरूण तेली को सरकारी नौकरी देने का निर्णय किया है। 

उदयपुर में हत्या का शिकार हुए कन्हैयालाल के दोनों बेटों को सरकारी नौकरी

उदयपुर | राजस्थान के उदयपुर में हुए हाल ही हुए कन्हैयालाल हत्याकांड को लेकर पूरे देश में हत्यारों के प्रति जमकर आक्रोश है। जिसके चलते विरोध जताते हुए राजस्थान समेत देश के कई राज्यों में बंद भी रखा गया। इसी बीच राज्य सरकार ने मृतक कन्हैयालाल के दोनों पुत्रों यश तेली और तरूण तेली को सरकारी नौकरी देने का निर्णय किया है। 

नियमों में दी गई शिथिलता
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आवास पर हुई केबिनेट की बैठक में यह निर्णय लिया गया। मृतक कन्हैयालाल के दोनों पुत्रों को राजकीय सेवा में नौकरी देने के लिए नियमों में शिथिलता दी गई है। यह नियुक्ति राजस्थान अधीनस्थ कार्यालय लिपिकवर्गीय सेवा (संशोधन) के तहत होगी। दोनों को सरकार लिपिक स्तर के पद पर नियुक्ति देगी। 

ये भी पढ़ें:- Cow Lover: एक अधिकारी का ऐसा गौ प्रेम, सरकारी आवास की दीवारों पर भी लीपवा दिया गोबर

कई संगठनों द्वारा उठाई गई नौकरी की मांग
बता दें कि ऐसे व्यक्ति के एक आश्रित को जिसकी वर्ष 1992 या उसके पश्चात बलवों, आतंकवादी हमलों, आंदोलनों, धरना, प्रदर्शनों और रैलियों जैसी घटनाओं में मृत्यु हो गई हो, उसके आश्रितों को सरकारी नौकरी दी जा सकती है। इसी के तहत गहलोत सरकार ने भी कन्हैयालाल के पुत्रों को सरकारी नौकरी देने का निर्णय किया है। गौरतलब है कि, मृतक कन्हैयालाल के परिवार के भरण-पोषण के लिए कई संगठनों द्वारा भी सरकार से नौकरी की मांग उठाई जा रही है।

ये भी पढ़ें:- हिस्ट्रीशीटर सलमान चिश्ती को बचाने का प्रयास, बोल देना नशे में था...खुल गई पुलिस की पोल, डीएसपी APO

Must Read: Rajasthan में लगातार बढ़ रही हैं Corona संक्रमितों की संख्या, 24 घंटे में मिले 10 हजार से अधिक पॉजिटिव

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :